Home /News /business /

टेलिकॉम सर्विसेज सेक्टर को बड़ी राहत! केंद्र ने 100 फीसदी FDI के लिए जारी किया नोटिफिकेशन

टेलिकॉम सर्विसेज सेक्टर को बड़ी राहत! केंद्र ने 100 फीसदी FDI के लिए जारी किया नोटिफिकेशन

केंद्र सरकार ने आर्थिक चुनौतियों का सामना कर रहे टेलिकॉम सेक्‍टर को उबारने के लिए कई उपाय किए हैं.

केंद्र सरकार ने आर्थिक चुनौतियों का सामना कर रहे टेलिकॉम सेक्‍टर को उबारने के लिए कई उपाय किए हैं.

केंद्र सरकार ने आर्थिक चुनौतियों का सामना कर रहे टेलिकॉम सेक्टर (Telecom Sector) को राहत देने के लिए कई अहम उपाय किए हैं. इनमें चार साल की मोराटोरियम (Moratorium) सुविधा शामिल हैं.

    नई दिल्‍ली. केंद्र सरकार ने टेलिकॉम सर्विसेस सेक्टर (Telecom Services Sector) में ऑटोमैटिक रूट के तहत 100 फीसदी प्रत्‍यक्ष विदेशी निवेश (FDI in Telecom Sector) की मंजूरी देने के लिए अधिसूचना जारी कर दी है. इससे पहले सरकार ने टेलिकॉम सेक्टर के लिए अपने पैकेज के हिस्से के तौर पर 100 फीसदी एफडीआई की घोषणा की थी. कर्ज के बोझ से दबे टेलिकॉम सेक्टर को राहत देने के लिए सरकार की ओर से कई दूसरे उपाय भी किए गए हैं. केंद्र के उपायों से वोडाफोन-आइडिया (Vi) और एयरटेल (Airtel) जैसी टेलिकॉम कंपनियों को बड़ा फायदा मिलेगा. इन कंपनियों पर करीब 40,000 करोड़ रुपये का बकाया है.

    सरकार ने टेलिकॉम सेक्‍टर को हाल में दी हैं ये सुविधाएं
    मोदी सरकार (Modi Government) ने एडजस्टेड ग्रॉस रेवेन्यू (AGR) से जुड़ी बकाया रकम की कैलकुलेशन, बकाया रकम पर 4 साल की मॉरेटोरियम सुविधा और मॉरेटोरियम (Moratorium) की अवधि खत्‍म होने के बाद सरकार के लिए बकाया को इक्विटी में तब्‍दील करने के विकल्प की सुविधा दी है. डिपार्टमेंट फॉर प्रमोशन ऑफ इंडस्ट्री एंड इंटरनल ट्रेड (DPIIT) ने कहा कि टेलिकॉम सर्विसेस सेक्‍टर में विदेशी निवेश साल 2020 के प्रेस नोट-3 की शर्त का विषय होगा. इसके मुताबिक, प्रेस नोट-3 के प्रावधानों के तहत केंद्र सरकार की अनुमति की जरूरत वाले मामलों के लिए स्थिति नहीं बदलेगी.

    ये भी पढ़ें- Gold Price Today: त्‍योहारों से पहले घटे गोल्‍ड के दाम, मिल रहा रिकॉर्ड हाई से 10582 रुपये सस्‍ता, देखें नए भाव

    पड़ोसी देश सरकार की अनुमति से ही कर सकेंगे निवेश
    प्रेस नोट-3 में कहा गया है कि भारत की सीमा से सटे किसी भी देश की एंटिटी या भारत में निवेश का फायदा लेने वाला मालिक अगर ऐसे किसी देश में है या उसका नागरिक है तो केवल सरकारी अनुमति से ही निवेश किया जा सकता है. ऐसे में चीन (Chinese Investors) समेत सभी पड़ोसी देशों को भारत के टेलिकॉम सर्विस सेक्‍टर में निवेश करने से पहले केंद्र सरकार की अनुमति लेनी ही होगी. सरकार की ओर से टेलिकॉम सेक्टर को दी गई राहत से वोडाफोन-आइडिया की मुश्किलें कम हो सकती है. यह कंपनी पिछले कुछ साल से घाटे में है और इसे कर्ज चुकाने में भी परेशानी हो रही है.

    Tags: Airtel, Business news in hindi, Cabinet decision, Cabinet meeting, Fdi, Idea, Jio, Modi government, Telecom business, Vodafone

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर