• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • मोदी सरकार के एक फैसले से चीन समेत 4 देशों को लग सकता है तगड़ा झटका!

मोदी सरकार के एक फैसले से चीन समेत 4 देशों को लग सकता है तगड़ा झटका!

फर्नीचर के इम्पोर्ट पर लगा सकती है रोक

फर्नीचर के इम्पोर्ट पर लगा सकती है रोक

डिपार्टमेंट फॉर प्रोमोशन ऑफ इंडस्ट्री एंड इंटर्नल ट्रेड ( Department for Promotion of Industry and Internal Trade) ने सरकार को फर्नीचर का इम्पोर्ट रोकने का सुझाव दिया है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. घरेलू मैन्युफैक्चरिंग (Domestic Industry) को बूस्ट देने और नॉन-एसेंशियल आइटम्स (Non-Essential Items) के शिपमेंट्स को कम करने के लिए सरकार फर्नीचर के इम्पोर्ट्स पर रोक लगा सकती है. एक अधिकारी ने इसकी जानकारी दी. अगर मोदी सरकार ये फैसला करती है तो चीन समेत 4 देशों को तगड़ा झटका लग सकता है. दरअसल, डिपार्टमेंट फॉर प्रोमोशन ऑफ इंडस्ट्री एंड इंटर्नल ट्रेड ( Department for Promotion of Industry and Internal Trade) ने सरकार को फर्नीचर का इम्पोर्ट रोकने का सुझाव दिया है. एक अधिकारी ने कहा, विदेश व्यापार महानिदेशालय के इस बारे में एक अधिसूचना के साथ आने की उम्मीद है.

    एक अधिकारी ने कहा, विदेश व्यापार महानिदेशालय के ही इस बारे में एक अधिसूचना के साथ आने की उम्मीद है. फर्नीचर के इम्पोर्ट पर रोक लगाने का मतलब है कि इम्पोर्टर्स को इनबाउंड शिपमेंट के लिए लाइसेंस या अनुमति लेने की आवश्यकता होगी. ये भी पढ़ें: किसानों की आमदनी बढ़ाने के लिए नई योजना ला रही है सरकार, खर्च करेगी 10 हजार करोड़ रुपये!



    चीन दुनिया का सबसे बड़ा निर्यातक
    वित्त वर्ष 2018-19 में भारत का फर्नीचर इम्पोर्ट 4,221 करोड़ रुपये (60.3 करोड़ डॉलर) रहा था. इसमें से सिर्फ चीन से इम्पोर्ट 2,177 करोड़ रुपये (31.1 करोड़ डॉलर) का रहा. चीन के अलावा भारत में इम्पोर्ट करने वाले देशों में मलेशिया, जर्मनी, इटली और सिंगापुर हैं. चीन दुनिया में विभिन्न प्रकार के फर्नीचर का सबसे बड़ा निर्यातक है.

    अनुमान के मुताबिक, भारत को चीन का निर्यात करीब 7,000 करोड़ रुपये (100 करोड़ डॉलर) का था. इस सेक्टर में भारत की स्थिति कमजोर है क्योंकि यह सेक्टर खंडित है और असंगठित क्षेत्र में है. घरेलू फर्नीचर उद्योग का आकार करीब 35,000 करोड़ रुपये (5 अरब डॉलर) है. निर्यात करीब 10,500 करोड़ रुपये (150 करोड़ डॉलर) था.

    यह भी पढ़ें: ऑनलाइन फूड ऑर्डर करने वालों के लिए बड़ी खबर, इतने रु तक महंगा हुआ खाना मंगाना

    इस महीने की शुरुआत में सरकार ने रिफाइंड पाम ऑयल के आयात पर इसी तरह का प्रतिबंध लगाया था. इस कदम से मलेशिया का कमोडिटीज शिपमेंट हतोत्साहित होगा.

    ये भी पढ़ें: बच्चे का आधार कार्ड बनवाने के लिए जरूरी हैं ये डॉक्युमेंट्स, ये है प्रोसेस

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज