Home /News /business /

मोदी सरकार दे सकती है 50 लाख पेंशनधारकों को तोहफा, तीन गुना बढ़ा सकती है पेंशन

मोदी सरकार दे सकती है 50 लाख पेंशनधारकों को तोहफा, तीन गुना बढ़ा सकती है पेंशन

गुरुवार को PF बोर्ड की बैठक है जिसमें न्यूनतम पेंशन को बढ़ाकर 3 हजार रुपये किया जा सकता है.

गुरुवार को PF बोर्ड की बैठक है जिसमें न्यूनतम पेंशन को बढ़ाकर 3 हजार रुपये किया जा सकता है.

गुरुवार को PF बोर्ड की बैठक है जिसमें न्यूनतम पेंशन को बढ़ाकर 3 हजार रुपये किया जा सकता है.

    सरकार प्रोविडेंट फंड (Provident Fund) धारकों को तोहफा दे सकती है. कल पीएफ बोर्ड की बैठक है जिसमें न्यूमतम पेंशन को बढ़ाकर 3 हजार किया जा सकता है. इस फैसले से 50 लाख पेंशनधारकों को फायदा होगा. पीएफ बोर्ड में कल पेंशनभोगियों को मेडिकल कवर देने पर भी विचार हो सकता है. इसके अलावा कल पेंशन फंड के निवेश का ब्यौरा भी पेश किया जाएगा. (ये भी पढ़ें: खुशखबरी! बिजली के मीटर में होगा ये बड़ा बदलाव! ग्राहकों को इससे मिलेगा फायदा)

    पीएफ खाताधारकों को मिलेगी राहत
    गुरुवार को सीबीटी की बैठक से पहले FIAC (Fianace, investment and audit committee) की भी बैठक होनी है. इस बैठक में साफ हो जाएगा कि PF पर ब्याज दर कितनी रहेगी. हालांकि हमें उम्मीद है कि इनमें कोई बदलाव नहीं किया जाएगा और यह मौजूदा दर 8.55% ही रहेगी. सीबीटी पीएफ पर निर्णय लेने वाली सर्वोच्च संस्था है.
    इन चीजों पर नहीं चुकाना होता GST, यहां चेक करें पूरी लिस्ट


    ये भी पढ़ें: LIC ने नया माइक्रो बचत इंश्योरेंस प्लान किया लॉन्च, जानें खास बातें

    तीन गुना बढ़ सकती है पेंशन
    न्यूनतम पेंशन बढ़ाकर तीन गुना की जा सकती है. EPFO मेंबर्स को अभी 1000 रुपये न्यूनतम पेंशन मिलती है जिसे बढ़ाकर 3000 रुपये करने पर फैसला हो सकता है. इसके अलावा पेंशनधारकों को मेडिकल कवर देने पर भी चर्चा होगी. ऐसे होने पर 50 लाख पेंशनधारकों को फायदा मिलेगा.

    (प्रतीक श्रीवास्तव, संवददाता- CNCB आवाज़)

    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

    Tags: Business news in hindi, Employee provident fund, Employees Provident Fund Organisation, Employees’ Provident Fund (EPF), Epfo, EPFO account, EPFO subscribers, EPFO website, Provident fund savings

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर