किसानों को 24 घंटे बिजली देने के लिए फुल एक्शन में आई मोदी सरकार, उठाया ये कदम!

News18Hindi
Updated: June 18, 2019, 6:51 PM IST
किसानों को 24 घंटे बिजली देने के लिए फुल एक्शन में आई मोदी सरकार, उठाया ये कदम!
किसानों की आमदनी डबल करने को लेकर सरकार तेजी से कदम उठा रही है.

किसानों की आमदनी डबल करने को लेकर सरकार तेजी कदम उठा रही है. इस कड़ी में केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार हर घर तक बिजली पहुंचाने की मुहिम के बाद अब हर खेत तक बिजली पहुंचाने की योजना पर काम शुरू कर दिया है.

  • Share this:
किसानों की आमदनी डबल करने को लेकर सरकार तेजी कदम उठा रही है. इस कड़ी में केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार हर घर तक बिजली पहुंचाने की मुहिम के बाद अब हर खेत तक 24 घंटे बिजली पहुंचाने की योजना पर काम शुरू कर दिया है. किसानों की आय बढ़ाने के मकसद से एग्रीकल्चर सेक्टर के लिए 7-8 महीने में पर्याप्त बिजली मुहैया कराने का टार्गेट रखा गया है. योजना के तहत खेतों में बिजली की बर्बादी रोकने पर भी फोकस होगा.किसानों की आय बढ़ाने के लिए सरकार एक्शन में आई है जिसके लिए सरकार ने 7-8 महीने में कृषि क्षेत्र के लिए 100 फीसदी अलग फीडर तय किया है. सरकार का मानना है कि अलग फीडर से कृषि क्षेत्र के लिए बिजली सुनिश्चित होगी. सरकार ने साल के अंत तक 1,60,014 CKM का लक्ष्य तय किया है. साथ ही सरकार का किसानों की लगात कम करने की योजना है. सब्सिडी के साथ बिजली मिलने से भी आय बढ़ेगी.

राज्य तय करेगी लिमिट-सूत्रों के मुताबिक जरूरत के मुताबिक बिजली इस्तेमाल फिक्स होगा ताकि बिजली की बर्बादी पर रोक लगाया जा सकें. तय लिमिट से ज्यादा खर्च पर बिल भरना होगा. लिमिट तय करने की जिम्मेदारी राज्यों की होगी.

ये भी पढ़ें: मोदी सरकार का मेट्रो शहरों के मजदूरों को तोहफा, पक्का मकान देने के लिए बनाया ये प्लान


Loading...

ये भी पढ़ें: इन ट्रेनों को चलाएंगी प्राइवेट कंपनियां! लेकिन नहीं बढ़ा सकेंगी किराया

किसानों की आमदनी बढ़ाने के लिए सरकार ने उठाए ये कदम-सरकार कुसुम योजना के तहत ज्यादा से ज़्यादा किसानों को इसका फायदा मिले इसीलिए इसमें बदलाव करने जा रही है.

ऊर्जा मंत्रालय सोलर सेल्स और मॉड्यूल मैन्युफैक्चरर के लिए कैपिटल सब्सिडी स्कीम ला रही है.इस स्कीम में मैन्युफैक्चरर को कुल लागत का 30 फीसदी कैपिटल सब्सिडी दी जाएगी.

नरेंद्र मोदी सरकार किसानों को फसल का सही दाम दिलाने के लिए ई-मंडी का दायरा बढ़ाने पर काम कर रही है.

ई- मंडियों से राज्यों की बीच आसानी से कारोबार हो सके इसके लिए सभी मंडियों को तेजी से आपस में जोड़ने का काम चल रहा है.

ट्रेडर्स अब खरीदारी से पहले कमोडिटीज़ की क्लालिटी चैक कर सके इसके लिए सरकार ने देश की सभी मंडियों में क्वालिटी चैक लैब बनाने का भी फैसला किया है.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 18, 2019, 6:20 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...