ऑटो सेक्टर के लिए खुशखबरी! मंदी से इस सेक्टर को उबारने के लिए सरकार नहीं बढ़ाएगी रजिस्ट्रेशन फीस

ऑटो सेक्टर में आ रही मंदी (Auto Sector Crisis) से इस सेक्टर को उभारने के लिए मोदी सरकार (Modi Government) कई बड़े प्रयास कर रही है.

News18Hindi
Updated: August 22, 2019, 4:15 PM IST
ऑटो सेक्टर के लिए खुशखबरी! मंदी से इस सेक्टर को उबारने के लिए सरकार नहीं बढ़ाएगी रजिस्ट्रेशन फीस
ऑटो सेक्टर के लिए खुशखबरी! सरकार नहीं बढ़ाएगी रजिस्ट्रेशन फीस
News18Hindi
Updated: August 22, 2019, 4:15 PM IST
ऑटो सेक्टर में आ रही मंदी (Auto Sector Crisis) से इस सेक्टर को उबारने के लिए मोदी सरकार (Modi Government) कई बड़े प्रयास कर रही है. इसी के मद्देनज़र सरकार ने दो बड़े फैसले लिए हैं. सरकार ने गाड़ियों की खरीद पर रजिस्ट्रेशन फीस (Car Registration Fees) बढ़ाने का फैसला अभी के लिए टाल दिया है. साथ ही सरकार ने इलेक्ट्रिक व्हीकल्स के लिए कोई टाइम लाइन शुरू करने के फैसले को अभी ठंडे बस्ते में डाल दिया है. उम्मीद की जा रही है कि सरकार के इन दोनों फैसलों से ऑटो कंपनियों को बड़ी राहत मिलेगी. आपको बता दें कि ऑटो सेल्स की थोक बिक्री में करीब 30 फीसदी की गिरावट आई है. यह पिछले 18 साल की सबसे ज्यादा गिरावट है.

मार्च 2020 तक नहीं होगी रजिस्ट्रेशन चार्जेज़ में बढ़ोतरी
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, अगले 3-4 महीनों तक सरकार रजिस्ट्रेशन फीस में बढ़ोतरी नहीं करेगी. आपको बता दें कि सरकार ने ई-व्हीकल्स को बढ़ावा देने के लिए पेट्रोल और डीजल की गाड़ियों पर रजिस्ट्रेशन फीस 10 से 20 गुना बढ़ाने का प्रस्ताव दिया था.

ये भी पढ़ें: ट्रंप ने माना, चीन से पंगा हमें भी पड़ सकता है महंगा!

वन टाइम रजिस्ट्रेशन चार्जेज़ में की गई बढ़ोतरी मार्च 2020 तक टाली जा सकती है. पेट्रोल डीजल वाली नई कारों की रजिस्ट्रेशन फीस 600 से बढ़ाकर 5000 रुपये करने का प्रस्ताव था. पेट्रोल डीज़ल वाली पुरानी कारों के रजिस्ट्रेशन रिन्यूवल चार्ज बढ़ाकर 15000 रुपये करने का प्रस्ताव था.

तीन महीने में करीब दो लाख लोगों की नौकरी गई 
सरकार के इन प्रस्तावों पर ऑटो इंडस्ट्री ने अपना ऐतराज दर्ज कराया था. क्योंकि इन प्रस्तावों का असर ऑटो सेक्टर की सेल्स पर भी पड़ा था. गौरतलब है कि कारों की बिक्री में लगातार जारी गिरावट से ऑटो सेक्टर की हालत ढ़ीली होती जा रही है और इसके साथ ही छंटनी का दौर शुरू हो चुका है. पिछले तीन महीने में ऑटो इंडस्ट्री से करीब दो लाख लोगों को नौकरियों से निकाला जा चुका है.
Loading...

ये भी पढ़ें: फुल एक्शन में आई मोदी सरकार! हो सकते हैं ये 4 बड़े ऐलान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 22, 2019, 10:05 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...