• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • केंद्र ने सॉवरेन गोल्‍ड बॉन्‍ड स्‍कीम की ब्‍याज दर बढ़ाने पर संसद में दिया ये जवाब, स्‍कीम से सरकार ने जुटाए ₹31290 करोड़

केंद्र ने सॉवरेन गोल्‍ड बॉन्‍ड स्‍कीम की ब्‍याज दर बढ़ाने पर संसद में दिया ये जवाब, स्‍कीम से सरकार ने जुटाए ₹31290 करोड़

वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण ने संसद को सॉवरेन गोल्‍ड की खूबियां बताईं.

वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण ने संसद को सॉवरेन गोल्‍ड की खूबियां बताईं.

केंद्रीय वित्‍त मंत्री निर्मला सीतामरण (FM Nirmala Sitharaman) ने संसद को बताया कि सॉवरेन गोल्‍ड बॉन्‍ड स्‍कीम (SGB Scheme) के जरिये लोगों को निवेश का एक और विकल्‍प मिला. साथ ही इससे फिजिकल गोल्‍ड (Physical Gold) की खरीद फरोख्‍त में कमी भी आई.

  • Share this:

    नई दिल्‍ली. केंद्र सरकार को सॉवरेन गोल्‍ड बॉन्‍ड (Sovereign Gold Bond) स्‍कीम से बड़ी सफलता हासिल हुई है. दरअसल, सरकार (Modi Government) ने 2015 में एसजीबी स्‍कीम (SGB Scheme) की शुरुआत से अब तक 31,290 करोड़ रुपये जुटाए हैं. वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण (FM Nirmala Sitharaman) ने आज संसद के निचले सदन में एक सवाल के जवाब में बताया कि इस स्‍कीम का मकसद लोगों को वैकल्पिक फाइनेंशियल असेट तैयार करने का जरिया उपलब्‍ध कराना था. साथ ही उन्‍हें एसजीबी स्‍कीम के जरिये फिजिकल गोल्‍ड (Physical Gold) की खरीदारी का विकल्‍प भी मिला. बता दें कि केंद्र सरकार ने 5 नवंबर 2015 को ये स्‍कीम शुरू की थी.

    ब्‍याज दर बढ़ाने पर दिया क्‍या जवाब
    वित्‍त मंत्री सीतारमण ने लोकसभा (Lok Sabha) को इस स्‍कीम की खूबियों के बारे में बताया कि एसजीबी भारतीय रुपये के भुगतान पर जारी किए जाते हैं. ये बॉन्‍ड सरकार की ओर से रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) जारी करता है. सॉवरेन गारंटी वाले इन बॉन्‍ड की बिक्री भारतीयों और भारतीय संसथाओं के लिए सीमित है. मौजूदा समय में कोई भी हिंदू अविभाजित परिवार (HUF) या व्‍यक्तिगत निवेशक (Individual Investor) हर वित्‍त वर्ष में अधिकतम 4 किग्रा एसजीबी में निवेश कर सकता है. वहीं, ट्रस्‍ट (Trust) और उनके जैसे संस्‍थानों के लिए ये सीमा 20 किग्रा सालाना निर्धारित की गई है. वहीं, ब्‍याज दर में बढ़ोतरी (Interest rates Hike) के सवाल पर उन्‍होंने कहा कि ऐसा कोई प्रस्‍ताव अभी आरबीआई के समक्ष विचाराधीन नहीं है. सरकार की भी फिलहाल ऐसी कोई योजना नहीं है.

    ये भी पढ़ें- Gold Price Today: सोने और चांदी की कीमतों में ताबड़तोड़ गिरावट, खरीदारी से पहले देखें नए भाव

    एसजीबी से मिलते हैं ये फायदे
    सॉवरेन गोल्‍ड बॉन्‍ड पर 2.50 फीसदी सालाना की दर से हर छमाही पर ब्‍याज दिया जाता है. बॉन्‍ड पर ब्‍याज से होने वाली आय इनकम टैक्‍स एक्‍ट (Income Tax Act) के तहत टैक्‍सेबल होती है. इन बॉन्‍ड के दस्‍तावेज और डी-मैट दोनों प्रारूप उपलब्‍ध कराए जाते हैं. सेकेंडरी मार्केट में इनका कारोबार किया जा सकता है. वित्‍त मंत्री ने बताया कि व्‍यक्तिगत निवेशकों को एसजीबी रिडीम कराने पर मिलने वाली पूंजी पर लगने वाले कैपिटल गेंस टैक्‍स (Capital Gains Tax) से छूट दी गई है. इस बीच आरबीआई ने आज एसजीबी स्‍कीम 2021-22 की पांचवीं खेप सब्‍सक्रिप्‍शन के लिए खोल दी है. कोई भी निवेशक 13 अगस्‍त तक इसमें निवेश कर सकता है. इसका इश्‍यू प्राइस 4,790 रुपये प्रति ग्राम तय किया गया है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज