Home /News /business /

Delhi-NCR: सरसों के तेल में मिलावट, 33 प्रतिशत सैंपल फेल, एडवाइजरी जारी

Delhi-NCR: सरसों के तेल में मिलावट, 33 प्रतिशत सैंपल फेल, एडवाइजरी जारी

बिजनौर में शख्स ने पत्नी को पकाने के लिए दिया इंसानी हाथ (सांकेतिक तस्वीर)

बिजनौर में शख्स ने पत्नी को पकाने के लिए दिया इंसानी हाथ (सांकेतिक तस्वीर)

FSSAI ने देश की सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के फूड सेफ्टी कमिश्नरों को इस संदर्भ में निर्देश जारी किए हैं कि वो विभिन्न ब्रांडेड तेलों को सैंपल लेकर जांच करें. अगर इन तेलों में किसी प्रकार की मिलावट मिलती है तो वो उपयुक्त कार्रवाई करें.

अधिक पढ़ें ...
    नई दिल्ली. त्योहारी मौसम से ठीक पहले मिलावट की फिर खबरें शुरू हो गई हैं. अब दिल्ली एनसीआर में सरसों के तेल के 33 प्रतिशत सैंपलों में मिलावट पाई गई है. अब भारतीय खाद्य सुरक्षा एवं मानक प्राधिकरण (Food Safety and Standards Authority of India) ने खाने-पीने की चीजों को लेकर एडवाइजरी जारी कर खरीदारी से पहले सावधानी बरतने को कहा है. यह एडवाइजरी सभी राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों को जारी की गई है. सरसों के तेल (Mustard oil) में चावल की भूसी के तेल की मिलावट के मामले सामने आए हैं. मिलावटी तेल में सस्ते अनाज के तेल का इस्तेमाल किया जा रहा है. हाल ही में दिल्ली-एनसीआर में की गई एक जांच पड़ताल के दौरान पता चला है कि सरसों के तेल के 33 प्रतिशत सैंपल मिलावटी थे. इस तेल में चावल की भूसी का तेल भी मिलाया गया था.

    खाने में सरसों के तेल का स्वाद तीखा और कड़वा होता है. मिलावटी तेल, खासकर पामोलिन मिले तेल को फ्रिज में रखने पर वनस्पति की तरह जमने लगता है. शुद्ध सरसों का तेल जमता नहीं है. जांचने के लिए तेल के नमूने में गाढ़ा यानी सांद्र नाइट्रिक एसिड मिलाकर मिश्रण को खूब हिलाएं. थोड़ी देर बाद मिश्रण में अगर लाल-भूरे रंग की परत दिखाई दे, तो समझें उसमें गड़बड़ी है.

    सरसों के तेल में मिले चावल की भूसी का तेल
    दरअसल सरसों के तेल के मुकाबले चावल की भूसी का तेल सस्ता पड़ता है. FSSAI ने देश की सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के फूड सेफ्टी कमिश्नरों को इस संदर्भ में निर्देश जारी किए हैं कि वो विभिन्न ब्रांडेड तेलों को सैंपल लेकर जांच करें. अगर इन तेलों में किसी प्रकार की मिलावट मिलती है तो वो उपयुक्त कार्रवाई करें. FSSAI ने फूड सेफ्टी कमिश्नरों को साफ तौर पर हिदायत दी है कि FSS ACT के मुताबिक इन कंपनियों पर कार्रवाई करें.

    कंपनियों पर सख्त कार्रवाई करें राज्य सरकारें
    FSSAI के निर्देश पर ही राज्‍य खाद्य सुरक्षा अधिनियम के विभिन्‍न प्रावधानों को लागू करने का काम करता है. इसके अलावा यह देश के सभी राज्‍यों, जिला एवं ग्राम पंचायत स्‍तर पर खाद्य पदार्थों के उत्पादन और बिक्री के तय मानक को बनाए रखने में सहयोग करता है. FSSAI का मुख्य काम है खाद्य वस्तुओं से जुड़े दिशा-निर्देश बनाना और यह सुनिश्चित करना कि उनके द्वारा बनाए गए नियमों का पालन किया जा रहा है या नहीं.

    ये भी पढ़ें: Delhi Violence: ताहिर हुसैन पर एक और FIR दर्ज, लुक आउट नोटिस जारी करने की तैयारीundefined

    Tags: Delhi news, Delhi-ncr, Food safety Act, FSSAI, Health ministry, Oil mafia

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर