अब खस्ताहाल नई गाड़ियों को बेचने पर भी पैसे देगी सरकार, गाइडलाइंस तय करने के लिए बनेगी कमेटी

स्क्रैपेज पॉलिसी (Scrappage Policy) में सिर्फ पुरानी गाड़ियां (Old Vehicles) ही नहीं बल्कि जर्जर हालत में पहुंच चुकी नई गाड़ियों को भी फायदा मिल सकता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 27, 2019, 4:45 PM IST
  • Share this:
मोदी सरकार (Modi Government) वायु प्रदूषण कम करने के लिए 10 साल पुरानी गाड़ियों के लिए स्क्रैरेज पॉलिसी लाने की तैयारी में है. स्क्रैपेज पॉलिसी (Scrappage Policy) में

सिर्फ पुरानी गाड़ियां (Old Vehicles) ही नहीं बल्कि जर्जर हालत में पहुंच चुकी नई गाड़ियों को भी फायदा मिल सकता है. CNBC-आवाज को मिली एक्सक्लूसिव जानकारी के मुताबिक अंतिम गाइडलाइंस तय करने के लिए सचिवों की एक कमेटी बनाई जाएगी.



नई गाड़ियों को भी मिलेगा फायदा

सूत्रों के मुताबिक नई गाड़ियों को भी स्क्रैपेज पॉलिसी का फायदा मिलेगा. स्क्रैपेज पॉलिसी में कंडीशन का पैमाना शामिल किया जाएगा. सिर्फ गाड़ियों की उम्र का ही पैमाना नहीं होगा बल्कि कम उम्र में जर्जर होने वाली टैक्स को भी इसका फायदा मिलेगा.
10 साल पुरानी गाड़ी बेचने पर 50 हजार की छूट

सूत्रों के अनुसार 10 साल पुरानी गाड़ी पर 50,000 रुपये तक छूट प्रस्तावित है. हालांकि नकद छूट के प्रस्ताव में फेरबदल हो सकता है. सूत्रों के मुताबिक, 10 साल पुरानी कॉमर्शियल गाड़ियां बेचने पर 50 हजार रुपये तक की छूट मिलेगी. 10 साल पुरानी पैसेंजर कार बेचने पर 20 हजार रुपये तक की छूट देने का प्रस्ताव है. वहीं, 7 साल पुराने 2-व्हीलर्स और 3-व्हीलर्स बेचने पर 5000 रुपये तक की छूट मिल सकती है. लेकिन ये छूट नई गाड़ियां खरीदने पर ही मिलेगी.





ये भी पढ़ें: 50 लाख हेक्टेयर बंजर जमीन को उपजाऊ बनाएगी सरकार, 75 लाख लोगों को मिलेगा रोजगार



बनेगी कमेटी

पॉलिसी गाइडलाइंस जल्द तय होने की उम्मीद है जिसके लिए कमेटी बनाई जाएगी. इस कमेटी में सड़क परिवहन मंत्रालय, स्टील और पर्यावरण मंत्रालय के अधिकारी होंगे. साथ ही कमिटी में भारी उद्योग मंत्रालय के अधिकारी भी शामिल होंगे.



देशभर में बनाए जाएंगे स्क्रैपेज सेंटर

सूत्रों के मुताबिक कई जगह स्क्रैपेज सेंटर बनाए जाएंगे. स्क्रैपेज सेंटर बनाने के लिए सरकार इंसेंटिव देंगी. स्टील सेक्टर की सरकारी कंपनी MSTC को स्क्रैपेज की जिम्मेदारी दी जा सकती है. सूत्रों के मुताबिक स्क्रैपेज पॉलिसी के लिए कल संबंधित मंत्रालयों की अहम बैठक हुई थी.



ये भी पढ़ें: RBI के कदम से नौकरियों को बचाने में मिलेगी मदद! आम आदमी को मिलेंगे ये 5 बड़े फायदे



(लक्ष्मण रॉय, इकोनॉमिक-पॉलिसी एडिटर, CNBC आवाज़)



(हिन्दी मनीकंट्रोल)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज