Union Budget 2019 : स्टार्टअप के लिए मोदी सरकार का बड़ा ऐलान, फंड जुटाने की नहीं होगी जांच

मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के पहले बजट में एक बार फिर स्टार्टअप पर जोर दिया गया है.

News18Hindi
Updated: July 5, 2019, 1:33 PM IST
Union Budget 2019 : स्टार्टअप के लिए मोदी सरकार का बड़ा ऐलान, फंड जुटाने की नहीं होगी जांच
स्टार्टअप के लिए मोदी सरकार का बड़ा ऐलान, फंड जुटाने की नहीं होगी जांच
News18Hindi
Updated: July 5, 2019, 1:33 PM IST
मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के पहले बजट में एक बार फिर स्टार्टअप पर जोर दिया गया है. स्टार्टअप को बढ़ावा देने के लिए वित्त मंत्री निर्मला सीमारमण ने बताया कि एंजेल टैक्स के तहत जो फंड इकट्ठा किया गया है, उसकी जांच नहीं की जाएगी. टैक्स अधिकारी भी अपने बड़े अधिकारी से अनुमति लेकर ही किसी भी तरह की जांच कर सकेंगे.

इससे पहले वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने ऐलान किया कि स्टैंड अप इंडिया के तहत महिलाओं, ST-ST उद्यमियों को लाभ दिया जाएगा. स्टार्ट अप के लिए टीवी चैनल पर प्रोग्राम शुरू किए जाएंगे. इससे पहले वित्त मंत्री ने ऐलान किया कि छोटे दुकानदारों को पेंशन दी जाएगी, साथ ही मात्र 59 मिनट में सभी दुकानदारों को लोन देने की भी योजना है. इसका लाभ 3 करोड़ से अधिक छोटे दुकानदारों को मिल सकेगा. हमारी सरकार इसके साथ ही हर किसी को घर देने की योजना पर भी आगे बढ़ रही है.

इसे भी पढ़ें :- पेट्रोल-डीज़ल होगा महंगा! सरकार ने लगाया 1 फीसदी सेस

हाल में ही कई स्टार्टअप कंपनियों को टैक्स विभाग से नोटिस दिया गया है, जिसमें उन्हें कई साल पहले कारोबार के लिए जुटाए गए फंड पर टैक्स चुकाने को कहा गया है. स्टार्टअप कारोबारी अपने कारोबार को बढ़ाने के लिए पैसा जुटाते हैं. इसके लिए वह अन्य कंपनी को शेयर बेचते हैं. अक्सर ये शेयर की वाजिब कीमत के मुकाबले ज्यादा कीमत पर जारी किए जाते हैं. शेयर की अतिरिक्त कीमत को इनकम माना जाता है. इस इनकम पर टैक्स लगता है, जिसे एंजल टैक्स कहा जाता है.

इसे भी पढ़ें :- आम बजट: नए घर खरीदने पर अब मिलेगी साढ़े तीन लाख रुपये तक की छूट

सरकार ने इस साल अप्रैल में एक नोटिफिकेशन जारी किया था. इसमें इनकम टैक्स एक्ट के सेक्शन 56 के तहत ऐसे मामलों में स्टार्टअप को छूट दी गई थी, जिसमें एंजल इनवेस्टमेंट सहित कुल निवेश 10 करोड़ रुपये से ज्यादा न हो. इस नोटिफिकेशन के मुताबिक, इस छूट का फायदा उठाने के लिए शर्त यह थी कि पिछले तीन वित्त साल में औसत 25 लाख से ज्यादा आय या 2 करोड़ रुपये का न्यूनतम नेटवर्थ होना चाहिए.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 5, 2019, 1:33 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...