Home /News /business /

अब मोबाइल से चेक करें आपकी खरीदी हुई दवा असली है या नकली?

अब मोबाइल से चेक करें आपकी खरीदी हुई दवा असली है या नकली?

फार्मास्यूटिकल विभाग ने सभी दवाओं पर अनिवार्य QR कोड लगाने के निर्देश जारी किये है.

    असली और नकली दवाइयों की पहचान करना आसान होने जा रहा है. फार्मास्यूटिकल विभाग ने सभी दवाओं पर अनिवार्य QR कोड लगाने के निर्देश जारी किये है. सरकारी अस्पतालों, जन औषिधि स्टोर पर सप्लाई की जाने वाली दवाइयों पर 1 अप्रैल 2019 से QR कोड अनिवार्य होगा जबकि बाजार में बिकने वाले दवाइयों के लिए QR कोड 1 अप्रैल 2020 से लागू होगा. (ये भी पढ़ें: अब हेल्थ इंश्योरेंस खरीदना होगा आसान, स्‍टैंडर्ड हेल्‍थ प्रोडक्‍ट के लिए गाइडलाइंस जारी)

    बंद होगा नकली दवा का कारोबार
    दवा कंपनियों को दवाइयों पर QR कोड देना अनिवार्य होगा. इससे असली और नकली दवा की पहचान करने में आसानी होगी. 1 अप्रैल 2019 से नए नियम लागू होंगे. सरकारी अस्पतालों और जनऔषधि स्टोर पर बिकने वाली दवाओं पर नियम लागू होगा. बाजार में बिकने वाली दवाओं पर 1 अप्रैल 2020 से नियम लागू होगा.
    इन चीजों पर नहीं चुकाना होता GST, यहां चेक करें पूरी लिस्ट


    मोबाइल से स्कैन कर मिलेगी पूरी जानकारी
    QR कोड में दवा की पूरी जानकारी छिपी होगी. बैंच नंबर, सॉल्ट, कीमत की जानकारी मिलेगी. मोबाइल से QR कोड स्केन करने पर दवा की पूरी जानकारी मिलेगी.

    ये भी पढ़ें: खुशखबरी! बिजली के मीटर में होगा ये बड़ा बदलाव! ग्राहकों को इससे मिलेगा फायदा

    भारत में 10 में से 1 दवा नकली
    भारत नकली दवाओं का दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा बाजार है. भारत में 25 फीसदी के करीब दवाइयां नकली है. देश में 10 में से 1 दवा नकली है.

    (असमी मनचंदा, संवाददाता- CNBC आवाज़)

    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

    Tags: Business news in hindi, Department of Health and Medicine, Generic medicines, Health News

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर