J&K में 4-5 नए हाइड्रो प्रोजेक्ट्स लगाएगी सरकार, बना रही स्पेशल पैकेज की योजना

मोदी सरकार जम्मू-कश्मीर में 4-5 नए हाइड्रो प्रोजेक्ट्स (Hydro Projects) लगाएगी. ऊर्जा मंत्रालय ने NTPC-NHPC को 2 महीने में प्रस्ताव तैयार करने के लिए कहा है.

News18Hindi
Updated: August 14, 2019, 5:14 PM IST
News18Hindi
Updated: August 14, 2019, 5:14 PM IST
जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) से आर्टिकल 370 (Article 370) हटाने के बाद मोदी सरकार (Modi Government) ने दावा किया था कि इससे यहां विकास में बहुत मदद मिलेगी. इसी के तहत केंद्र सरकार जम्मू-कश्मीर में 4-5 नए हाइड्रो प्रोजेक्ट्स (Hydro Projects) लगाएगी.

सूत्रों के मुताबिक, इन हाइड्रो प्रोजेक्ट्स को बनाने के लिए 20 हजार से 25 हजार करोड़ रुपए की लागत आएगी. इसके लिए सरकार स्पेशल पैकेज की योजना बना रही है. ऊर्जा मंत्रालय ने NTPC-NHPC को 2 महीने में प्रस्ताव तैयार करने के लिए कहा है.

800-1200 मेगावाट्स के हो सकते हैं प्रोजेक्ट
ये सभी प्रोजेक्ट्स 800-1200 MW के हो सकते हैं. सूत्रों के मुताबिक, इन प्रोजेक्ट्स के लिए निजी कंपनियों को भी आमंत्रित करने की योजना है. बता दें कि जम्मू-कश्मीर में 4 बड़े हाइड्रो प्रोजेक्ट्स चल रहे हैं. नए प्रोजेक्ट्स के जरिये जल क्षमता के इस्तेमाल की योजना है. ये भी पढ़ें: जल्द बढ़ेगी गाड़ियों की सेल, ये है मोदी सरकार का नया प्लान!



12-14 अक्‍टूबर को होगा ग्‍लोबल इन्‍वेस्‍टर्स समिट
जम्‍मू-कश्‍मीर में 12 से 14 अक्‍टूबर, 2019 तक ग्‍लोबल इन्‍वेस्‍टर्स समिट (Global Investors Summit) होने वाला है. यह पहली बार होगा जब सूबे में निवेश आकर्षित करने के लिए इतने बड़े कार्यक्रम का आयोजन करने की योजना बनाई गई है.
Loading...

सरकारी कंपनी ITI की नजर जम्मू कश्मीर पर
बता दें कि जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटने के बाद प्राइवेट कंपनियों के साथ सरकारी कंपनियों ने यहां निवेश करने की घोषणा की है. आईटी का श्रीनगर यूनिट 1969 से काम कर रहा है. सरकार इसके रिवाइवल और विस्तार की योजना तैयार कर रही है. इस पर दूरसंचार विभाग निवेश का प्लान तैयार कर रहा है. श्रीनगर यूनिट कई साल से घाटे में है. 90 के दशक में प्लांट मुनाफे में था. इस यूनिट में 1 लाख फोन बनाने की क्षमता है. फिलहाल छात्रों को स्किल ट्रेनिंग दी जा रही है. सरकार अब दोबारा यहां मैन्यूफैक्चरिंग यूनिट लगाएगी. कंपनी को निवेश के लिए अतिरिक्त फंड मिलेगी.

ये भी पढ़ें: अब असली-नकली दवाओं की पहचान होगी आसान, API पर QR कोड लगाना होगा अनिवार्य

(प्रकाश प्रियदर्शी, संवाददाता- CNBC आवाज़)

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 14, 2019, 4:34 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...