हेल्थ सेक्टर को बढ़ावा के लिए मोदी सरकार देगी ₹50,000 करोड़, जानें क्या है पूरा प्लान?

कोरोनोवायरस की दूसरी लहर (Second wave of corona) से देश की अर्थव्यवस्था बुरी तरह प्रभावित हुई है.

कोरोनोवायरस की दूसरी लहर (Second wave of corona) से देश की अर्थव्यवस्था बुरी तरह प्रभावित हुई है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. कोरोनोवायरस की दूसरी लहर (Second wave of corona) से देश की अर्थव्यवस्था बुरी तरह प्रभावित हुई है. अब इस बीच सरकारी सूत्रों के हवाले से खबर आ रही है कि केन्द्र सरकार महामारी से प्रभावित स्वास्थ्य देखभाल के बुनियादी ढांचे को बढ़ावा देने के लिए 6.8 बिलियन डॉलर (₹50,000 करोड़) के लोन प्रोत्साहन की पेशकश करने पर विचार कर रही है.

    RBI ने किया था 50,000 करोड़ लोन देने का ऐलान
    लाइव मिंट सूत्रों के हवाले से कहा है, इस प्रोत्साहन राशि से कंपनियों को अस्पताल की क्षमता या चिकित्सा आपूर्ति को बढ़ाने मदद मिलेगी. सरकार इसे एक गारंटर के रूप में काम करेगी. सूत्र ने बताया कि छोटे शहरों में कोविड-19 से संबंधित स्वास्थ्य ढांचे को मजबूत करने पर ध्यान देने की संभावना है. फिलहाल वित्त मंत्रालय के प्रवक्ता ने इस बारे में कुछ भी कहने से मना कर दिया.हाल ही में आरबीआई गवर्नर ने कहा कि कोरोना संकट की जरूरत को देखते हुए इमर्जेंसी हेल्थ सेवाओं को लिए 50000 करोड़ का लोन का ऐलान किया था.

    ये भी पढ़ें- महज 240 रुपये देकर लें ₹1 करोड़ का हेल्थ इंश्योरेंस, कैशलेस क्लेम सिर्फ 20 मिनट में होगा अप्रूव, जानें सबकुछ

    $41 बिलियन के आपातकालीन ऋण का ऐलान
    सरकार ने पिछले महीने भी अलग से घोषणा की थी जिसमें एयरलाइनों और अस्पतालों को महामारी के प्रभाव से बचाने के लिए $41 बिलियन के आपातकालीन ऋण कार्यक्रम में शामिल किया गया था. यह कार्यक्रम अस्पतालों और क्लीनिकों को ऑन-साइट ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्र स्थापित करने के लिए 20 मिलियन रुपये के ऋण की गारंटी देता है, जिसमें ब्याज दर 7.5% है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.