• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • नौकरी की सता रही चिंता तो 1 लाख रुपये में शुरू करें ये बिजनेस, सरकार देगी 2.16 लाख रुपये की मदद

नौकरी की सता रही चिंता तो 1 लाख रुपये में शुरू करें ये बिजनेस, सरकार देगी 2.16 लाख रुपये की मदद

इस बिजनेस से करें मोटी कमाई

इस बिजनेस से करें मोटी कमाई

अगर आपके पास 1 लाख रुपये है और आप अपने ही शहर में रहकर इसके जरिये कोई बिजनेस करना चाहते हैं तो इसमें सरकार आपकी मदद कर सकती है. जानते हैं क्या है ये प्रोजेक्ट और कैसे उठा सकते हें फायदा…

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    नई दिल्ली. कई ऐसे बिजनेस हैं जो कम निवेश (low investment business idea) में शुरू किए जा सकते हैं और आप अच्छी खासी कमाई कर (Earn money) सकते हैं. अगर आपके पास 1 लाख रुपये हैं और आप अपने ही शहर में रहकर इसके जरिये कोई बिजनेस करना चाहते हैं तो इसमें सरकार आपकी मदद कर सकती है. आप 1 लाख रुपये के निवेश के जरिए हर महीने 30 हजार रुपये से ज्यादा तक की कमाई कर सकते हैं.

    सरकार मुद्रा स्कीम के जरिये आपकी मदद करेगी. सरकार ने मुद्रा स्कीम के तहत कई तरह के कारोबार के लिए प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार की है. इसी में एक प्रोजेक्ट है, जहां आपको खुद के पास से सिर्फ 1 लाख रुपये का ही निवेश करना होगा. जानते हैं क्या है ये प्रोजेक्ट और कैसे उठा सकते हें फायदा…

    ये भी पढ़ें: 4 लाख लगाकर शुरू करें ये बिजनेस 8 लाख का होगा फायदा, सरकार भी देगी मदद, जानिए कैसे करें स्टार्ट

    शुरू करें ये बिजनेस-
    मुद्रा स्कीम के तहत तैयार किए गए प्रोजेक्ट रिपोर्ट में एक बिजनेस है मेटल से बनने वाले प्रोडक्ट की मैन्युफैक्चरिंग यूनिट. इसमें कटलरी से हैंड टूल और यहां तक कि खेती में काम आने वाले कुछ टूल भी बनाए जा सकते हैं. कटलरी की डिमांड तो हर घर में है. ऐसे में आप अपने प्रोडक्ट की सिर्फ बेहतर मार्केटिंग कर पाते हैं तो बिजनेस को और बढ़ाया जा सकता है. खास बात है कि प्रोजेक्ट रिपोर्ट के अनुसार यह बिजनसे शुरू करने में करीब 3.30 लाख रुपये खर्च आएंगे. लेकिन अगर आप इसे करना चाहते हैं तो 2.16 लाख रुपये की मदद आसान किस्तों पर सरकार करेगी.

    मैन्युफैक्चरिंग यूनिट का खर्च-

    सेट-अप पर खर्च: 1.80 लाख रुपए
    इसमें मशीनरी जैसे वेल्डिंग सेट, बफिंग मोटर, ड्रिलिंग मशीन, बेंच ग्रिंडर, हैंड ड्रिलिंग, हैंड ग्रिंडर, बेंच, पैनल बोर्ड व अन्य टूल्स आ जाएंगे.
    रॉ मैटेरियल पर खर्च: 1,20,000 रुपए (2 माह के लिए रॉ मैटेरियल)
    रॉ मैटेरियल में हर महीने 40 हजार कटलरी, 20 हजार हैंड टूल और 20 हजार एग्रीकल्चर इंप्लीमेंट तैयार हो सकेंगे.
    सैलरी व अन्य खर्च: 30 हजार रुपये प्रति माह
    कुल खर्च: 3.3 लाख रुपये

    इसमें से खुद के पास से सिर्फ 1.14 लाख रुपए खर्च दिखाना होगा. बाकी खर्च में सरकार करीब 1.26 लाख रुपये टर्म लोन और 90 हजार रुपये का वर्किंग कैपिटल लोन देकर मदद करेगी.

    ये भी पढ़ें: SBI ने अपने सभी ग्राहकों के लिए जारी की जरूरी सूचना, बैंकिंग सर्विसेस को चालू रखने के लिए जल्द निपटा ले ये काम 

    कैसे हो कमाई-
    प्रोजेक्ट रिपोर्ट के अनुसार ऊपर दिए गए एस्टीमेंट में जो प्रोडक्ट तैयार होगा, उसके जरिए 1.30 लाख रुपये की मंथली सेल्स का अनुमान है. जबकि इस पर प्रोडक्शन कॉस्ट 91,833 रुपए आएगा. यानी ग्रॉस प्रॉफिट करीब 18,167 रुपए होगा. इसमें 13 फीसदी लोन की ब्याज दर के हिसाब से हर महीने 2,340 रुपये जमा करना होगा. जबकि इंसेंटिव का खर्च 1 फीसदी के हिसाब से करीब 1,100 रुपये आएगा. यानी नेट प्रॉफिट 27-35 हजार रुपये हर महीने होगा.

    मुद्रा योजना के तहत कर सकते हैं आवेदन-
    इसके लिए प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत आप किसी भी बैंक में अप्लाई कर सकते हैं. इसके लिए आपको एक फॉर्म भरना होगा, जिसमें नाम, पता, बिजनेस एड्रेस, एजुकेशन, मौजूदा इनकम और कि‍तना लोन चाहिए जैसी डिटेल भरनी होगी. इसमें किसी तरह की प्रोसेसिंग फीस या गारंटी फीस भी नहीं देनी होती. लोन का अमाउंट आसान किस्तों में लौटा सकते हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज