Home /News /business /

moody slashes india 2022 gdp growth forecast by 8 8 per cent abhs

मूडीज ने भारत की जीडीपी ग्रोथ का अनुमान घटाया, कहा- बिगड़ेगा घरों का बजट

मूडीज ने भारत की विकास दर का अनुमान 9.1% से घटाकर 8.8 फीसदी कर दिया है.

मूडीज ने भारत की विकास दर का अनुमान 9.1% से घटाकर 8.8 फीसदी कर दिया है.

इंटरनेशनल रेटिंग एजेंसी मूडीज ने भारत की इकोनॉमिक ग्रोथ रेट के अनुमान को घटाकर 9.1 फीसदी से घटाकर 8.8 फीसदी कर दिया है. एजेंसी ने यह भी कहा है कि महंगाई के कारण आने वाले महीनों में घरों का बजट बिगड़ेगा.

नई दिल्ली. वैश्विक रेटिंग एजेंसी मूडीज ने चालू वित्त वर्ष में भारत की इकोनॉमिक ग्रोथ रेट के अनुमान को घटाकर 8.8 फीसदी कर दिया है. इस एजेंसी ने पहले जीडीपी ग्रोथ रेट 9.1 फीसदी रहने का अनुमान लगाया था. यही नहीं, वित्त वर्ष 2022-23 के लिए ग्लोबल इकोनॉमिक आउटलुक पर मूडीज ने कहा है कि एक्सपोर्ट, जीएसटी, माल ढुलाई जैसे आंकड़े बताते हैं कि दिसंबर 2021 की तिमाही से वृद्धि ने गति पकड़ी, जोकि इस साल पहले चार महीनों तक जारी रही.

मूडीज के मुताबिक, कच्चे तेल, खाद्य पदार्थ और फर्टिलाइजर की कीमतों में तेजी से घरों की वित्तीय स्थिति और खर्च पर असर पड़ेगा. एनर्जी और खाद्य महंगाई पर अंकुश लगाने के लिए सेंट्रल बैंक की ओर से ब्याज दर में वृद्धि से मांग में सुधार की गति धीमी पड़ेगी. भारत की जीडीपी ग्रोथ रेट में कमी का अनुमान ऐसे वक्त लगाया गया है, जबकि विश्व बैंक ने रूस-यूक्रेन जंग की वजह से उपजे अंतरराष्ट्रीय आर्थिक संकट को देखते हुए मंदी की आशंका जताई है.

ये भी पढ़ें- महंगाई डायन खाए जात है! तीन महीने में 10 फीसदी बढ़ गया घर का खर्च, महंगे पेट्रोल-डीजल आगे और बोझ बढ़ाएंगे!

अगले वित्त वर्ष के अनुमान में बदलाव नहीं

इंटरनेशनल रेटिंग एजेंसी मूडीज इन्वेस्टर्स सर्विस ने कहा, ‘‘हमने चालू वित्त वर्ष के लिए भारत की इकोनॉमिक ग्रोथ दर के अनुमान को घटाकर 8.8 फीसदी किया ​है. इससे पहले, मार्च में इसके 9.1 फीसदी रहने का अनुमान था. हालांकि, ​वर्ष 2023 के लिए इकोनॉमिक ग्रोथ दर के अनुमान को 5.4 फीसदी पर बरकरार रखा गया है.’’

ये भी पढ़ें- World Bank ने जताई आर्थिक मंदी की आशंका, इन वजहों से बढ़ेगा ग्लोबल संकट

तेज विकास है संभव

मूडीज ने कहा कि लोन में अच्छी ग्रोथ, कंपनियों की ओर व्यापक स्तर पर निवेश की घोषणा और सरकार के बजट में पूंजीगत व्यय पर आवंटन बढ़ाने से निवेश में मजबूती आने के संकेत मिलते हैं. रेटिंग एजेंसी ने यह भी साफ किया कि अगर कच्चे तेल और खाद्य पदार्थों के दाम में और वृद्धि नहीं होती है, तो इकोनॉमी तेज विकास कर सकती है.

Tags: Business news in hindi, GDP growth, Moody

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर