इस रेटिंग एजेंसी ने तीसरी बार घटाई भारत की आर्थिक ग्रोथ, क्या ये है 2021 में मंदी का अंदेशा

इस रेटिंग एजेंसी ने तीसरी बार घटाई भारत की आर्थिक ग्रोथ, क्या ये है 2021 में मंदी का अंदेशा
देश की जीडीपी घटने का अनुमान

कोरोना वायरस और उसके चलते देश दुनिया में आवागमन पर रोक के मद्देनजर आर्थिक लागत बढ़ी और इसी वजह से देश की जीडीपी घटने का अनुमान है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 27, 2020, 3:36 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. ग्लोबल क्रेडिट रेटिंग एजेंसी मूडीज इन्वेस्टर्स सर्विस ने कैलेंडर वर्ष 2020 में भारत की आर्थिक वृद्धि दर के अपने पहले के अनुमान को घटा कर 2.5 प्रतिशत कर दिया है. पहले उसने इसके 5.3 प्रतिशत रहने का अनुमान जताया था. काेरोना वायरस और उसके चलते देश दुनिया में आवागमन पर रोक के मद्देनजर आर्थिक लागत बढ़ी और इसी वजह से देश की जीडीपी घटने का अनुमान है. वर्ष 2019 में वृद्धि 5 प्रतिशत रहने का आकलन है.

आर्थिक स्थिति में सुधार प्रभावित होगा 
मूडीज ने कहा है कि अनुमानित वृद्धि दर के हिसाब से भारत में 2020 में आय में तेज गिरावट हो सकती है. इससे 2021 में घरेलू मांग और आर्थिक स्थिति में सुधार की दर पहले से अधिक प्रभावित हो सकती है. एजेंसी ने कहा है कि भारत में बैंकों और गैर बैंकिंग वित्तीय कंपनियों के पास नकद धन की भारी कमी के चलते भारत में कर्ज हासिल करने को लेकर पहले से ही बड़ी बाधा चल रही है.

ये भी पढ़ें: भारत, चीन, US समेत इन देशों को मिला कोरोना से लड़ने के लिए 5000 अरब डॉलर
दुनियाभर में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या 24,000 के पार पहुंच गई है. मूडीज ने कहा कि 2020 में वैश्विक अर्थव्यवस्था का भी संकुचन होगा और इसमें तेजी 2021 में देखने को मिल सकती है. कंपनी ने अपनी वैश्विक आर्थिक वृद्धि दर के अनुमान को भी संशोधित किया है. मूडीज के मुताबिक 2020 में वैश्विक अर्थव्यवस्था के वास्तविक सकल घरेलू उत्पाद में 0.5 प्रतिशत की कमी आएगी जबकि कोरोना वायरस संकट से पहले पिछले साल नवंबर में मूडीज ने वैश्विक अर्थव्यवस्था के 2020 में 2.6 प्रतिशत की दर से बढ़ने का अनुमान जताया था.



इससे पहले गुरुवार को आई एसबीआई रिसर्च की रिपोर्ट इकोरैप के अनुसार 2019-20 में जीडीपी (सकल घरेलू उत्पाद) वृद्धि दर भी 5 प्रतिशत से घटकर 4.5 प्रतिशत रह सकती है. इसका कारण चालू वित्त वर्ष की चौथी तिमाही में जीडीपी वृद्धि दर 2.5 प्रतिशत रहने का अनुमान है.

ये भी पढ़ें: लॉकडाउन: 1 अप्रैल से बदलेगा इन बैंकों का नाम, जानें आपके पैसे का क्या होगा?
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading