1.30 लाख कंपनियों के पास नहीं PAN कार्ड

1.30 लाख कंपनियों के पास नहीं PAN कार्ड
1.30 लाख कंपनियों के पास नहीं PAN कार्ड

1.30 लाख कंपनियों के पास नहीं PAN कार्ड

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 16, 2017, 12:27 PM IST
  • Share this:
नोटबंदी के बाद से अब तक ब्लैकमनी पर शिकंजा कसते हुए सरकार ने 2.24 लाख कंपनियों को ताला लगा दिया है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सरकार ने जिन 2.24 लाख कंपनियों का पंजीकरण रद्द किया है, उनमें से 1.30 लाख कंपनियों के पास स्थायी खाता संख्या (PAN) नहीं है. इसके बावजूद इन कंपनियों ने करोड़ों रुपये का लेनदेन किया. आपको बता दें कि 2.24 लाख कंपनियों का रजिस्ट्रेशन रद्द होने के बाद भी देश में 11.3 लाख कंपनियां रजिस्टर्ड हैं.

93 हजार कंपनियों के पास नहीं था PAN
बिजनेस न्यूजपेपर  बिजनेस स्टैंडर्ड में छपी खबर के मुताबिक सिर्फ 93,000 कंपनियों के पास ही पैन था. 50,000 रुपए से अधिक के लेनदेन के लिए पैन अनिवार्य होता है और चूंकि इन कंपनियों के पास पैन नहीं था, इसलिए उनके लेनदेन का पता लगाना मुश्किल है. जांच से साफ है कि इन कंपनियों में कुछ गड़बड़ तो जरूर थी. कम से कम इतना तो तय है कि उन्होंने कर का भुगतान नहीं किया.

बैंकों से नहीं मिली पूरी जानकारी



मंत्रालय के सामने यह समस्या भी है कि कई बैंकों ने अब तक यह नहीं बताया है कि जिन कंपनियों का पंजीकरण रद्द हुआ है, उन्होंने नोटबंदी के बाद कितनी रकम का लेनदेन किया.



लिस्टेड कंपनियों की भी हो रही है जांच
मंत्रालय उन 809 सूचीबद्ध कंपनियों की जांच कर रहा है, जिनका पता सेबी नहीं लगा पाया है. खत्म की गई कंपनियों से जुड़े 3 लाख निदेशकों को प्रतिबंधित किया गया है. यह संख्या 4.5 लाख से भी ऊपर जा सकती है क्योंकि इन कंपनियों के खिलाफ कार्रवाई जारी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading