होम /न्यूज /व्यवसाय /

Bank Privatisation: लगभग सभी सरकारी बैंक होंगे प्राइवेट, वित्त सचिव ने दिया ये बड़ा बयान

Bank Privatisation: लगभग सभी सरकारी बैंक होंगे प्राइवेट, वित्त सचिव ने दिया ये बड़ा बयान

बैंक प्राइवेटाइजेशन (Bank Privatisation) को लेकर बड़ी खबर आ रही है.

बैंक प्राइवेटाइजेशन (Bank Privatisation) को लेकर बड़ी खबर आ रही है.

वित्त सचिव टी.वी. सोमनाथन (T.V. Soma Nathan )ने कहा कि सरकार अंततः लगभग सभी पीएसयू बैंकों (PSU Bank) का निजीकरण (privatise) करेगी.

    नई दिल्ली. बैंक प्राइवेटाइजेशन (Bank Privatisation) को लेकर बड़ी खबर आ रही है. वित्त सचिव टी.वी. सोमनाथन (T.V. Soma Nathan)ने कहा कि सरकार अंततः लगभग सभी पीएसयू बैंकों (PSU Bank) का निजीकरण (privatise) करेगी. सोमनाथन ने 13 जुलाई को इंडिया पॉलिसी फोरम 2021 में कहा कि सरकार अपनी घोषित नीति के अनुसार इस क्षेत्र में केवल न्यूनतम उपस्थिति बनाए रखेगी. उन्होंने स्पष्ट किया कि ये उनके व्यक्तिगत विचार हैं.

    सोमनाथन उस मंच पर बोल रहे थे, जिसे नेशनल काउंसिल ऑफ एप्लाइड इकोनॉमिक रिसर्च (NCAER), एक अर्थव्यवस्था-आधारित थिंक टैंक द्वारा आयोजित किया गया था. सोमनाथन ने यह बात ऐसे समय में कही है जब देश की सबसे बड़ी सरकारी बीमा कंपनी (insurer) अपना IPO लाने की तैयारी में हैं.

    ये भी पढ़ें- 6 करोड़ नौकरीपेशा के लिए जरूरी खबर! अब आपके PF खाते में आएंगे अधिक पैसे, ये है वजह

    कम से कम होंगे सरकारी बैंक
    सोमनाथन ने आगे कहा कि हमने घोषणा की है कि ज्यादातर सरकारी बैंकों का अंतत: (eventually) निजीकरण कर दिया जाएगा. यह कहना कि अंतत: निजीकरण करना और वास्तव (actually) में उनका निजीकरण करना दो अलग-अलग चीजें हैं, लेकिन हम उनके निजीकरण के लिए पूरी तरह से एक्टिव हैं. बैंकिंग उन सेक्टरों में से एक है जहां सिर्फ कम से कम सरकारी बैंक रहेंगे. यही घोषित नीति है.

    ये भी पढ़ें- New Business Idea: मात्र 25 हजार रुपये में शुरू करें ये कारोबार, हर महीने ₹50 हजार की होगी कमाई

    GST फाइलिंग की दिक्कतें दूर कर ली गई
    सोमनाथन ने कहा कि आवश्यक वस्तुओं के लिए पर्याप्त आर्थिक सहायता मुहैया कराने के लिए आवश्यक सुधारों के साथ, सरकारी सब्सिडी में बदलाव की जरूरत है. हमें अपनी कुछ सब्सिडी व्यवस्था जैसे कृषि सब्सिडी, खाद्य सब्सिडी, उर्वरक सब्सिडी में सुधार करना होगा. उनमें से कुछ आपस में जुड़े हुए हैं. सोमनाथन ने कहा कि दूसरा हमें शिक्षा (Education)स्वास्थ्य (Health) और इन्फ्रास्ट्रक्चर (Infrastructure) पर सार्वजनिक खर्च की क्षमता में सुधार करने की जरूरत है. वित्त सचिव ने ये भी बताया कि GST फाइलिंग में जो दिक्कते आ रही थी, उन्हें दुरुस्त कर दिया गया है. इसके साथ ही कहा कि रेवेन्यू कलेक्शन में अतिरिक्त सुधार की भी योजना बनाई गई है.undefined

    Tags: Bank branches, Bank news, Bank Privatisation, Business news in hindi, RBI

    अगली ख़बर