तीन साल में 56 कंपनियों की हालत हुई खस्ताहाल, एयर इंडिया टॉप पर

सरकारी कंपनियों की हालत दिन-ब-दिन खस्ताहाल होती जा रही है. 2015-16 में ऐसी बीमारू कंपनियों की संख्या 48 थी जो 2016-17 में बढ़कर 54 हो गई. 2017-18 में यह बढ़कर 56 हो गई है.

News18Hindi
Updated: July 15, 2019, 11:47 PM IST
तीन साल में 56 कंपनियों की हालत हुई खस्ताहाल, एयर इंडिया टॉप पर
3 साल में 56 कंपनियों की हालत हुई खस्ताहाल, Air India टॉप पर
News18Hindi
Updated: July 15, 2019, 11:47 PM IST
सरकारी कंपनियों की हालत दिन-ब-दिन खस्ताहाल होती जा रही है. एयर इंडिया एक्सप्रेस लिमिटेड, एयर इंडिया इंजीनियरिंग सर्विसेज लिमिटेड, भारत कुकिंग कोल लिमिटेड, BHEL इलेक्ट्रिकल मशीन लिमिटेड, हिंदुस्तान फोटो फिल्म्स मैन्युफैक्चरिंग, इंडियन ड्रग्स एंड फार्मा लिमिटेड और MTNL, ऐसी एक दो नहीं बल्कि कुल 56 बीमारू कंपनियां हैं. 2015-16 में ऐसी बीमारू कंपनियों की संख्या 48 थी जो 2016-17 में बढ़कर 54 हो गई. 2017-18 में यह बढ़कर 56 हो गई है. इन कंपनियों का नेटवर्थ नेगेटिव है. फिस्कल ईयर 2017-18 में ऐसी बीमारू कंपनियों का कुल नेटवर्थ 88,556 करोड़ रुपये रहा. वहीं, इन कंपनियों का कुल लॉस 1,32,360 करोड़ रुपए है.

तीन साल में काफी बढ़ी बीमारू कंपनियां
फाइनेंशियल एक्सप्रेस के मुताबिक, एयर इंडिया का कुल नेगेटिव नेटवर्थ 24,893 करोड़ और लॉस 53,914 करोड़ रुपए का है. राज्य सभा में दी गई एक जानकारी में इस बात का खुलासा हुआ है. बीमार CPSEs यानी बीमारू कंपनियों की संख्या 2015-16 के मुकाबले तीन साल में काफी बढ़ चुकी है.

एयर इंडिया को सबसे ज्यादा घाटा

इन तीन सालों के दौरान एयर इंडिया को सबसे ज्यादा घाटा हुआ. कंपनी की नेटवर्थ माइनस में 24,893 करोड़ रुपये रही, वहीं नुकसान 53,914 करोड़ रुपये का रहा.

भारी उद्योग मंत्री अरविंद गणपत सावंत ने राज्य सभा में दिए जवाब में कहा कि डिपार्टमेंट ऑफ पब्लिक एंटरप्राइज ने बीमारू कंपनियों के रिवाइवल और रीस्ट्रक्चरिंग के लिए गाइडलाइंस जारी किए हैं. उन्होंने यह भी कहा कि इससे जुड़े मंत्रालयों को भी गाइडलाइंस जारी किए जाएंगे. बीमारू कंपनियों के रिवाइवल के लिए हाल मे उठाए गए कदम के बारे में सावंत का कहना है कि बीमारू कंपनियों का रिवाइवल निरंतर चलने वाली प्रक्रिया है.

ये भी पढ़ें: 
Loading...

पेट्रोल के बढ़ते दाम से जल्द मिलेगी राहत, सरकार का नया प्लान

PAN कार्ड और आधार के बदल गए ये नियम, जान लें होगा फायदा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 15, 2019, 11:29 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...