लाइव टीवी

MTNL कर्मचारियों को मिली मार्च की सैलरी, अब कर्ज का बोझ कम करने पर फोकस

News18Hindi
Updated: April 6, 2020, 8:24 PM IST
MTNL कर्मचारियों को मिली मार्च की सैलरी, अब कर्ज का बोझ कम करने पर फोकस
MTNL कर्मचारियों को मार्च की सैलरी जारी कर दी गई है.

सरकारी क्षेत्र की टेलिकॉम कंपनी MTNL ने सोमवार को जानकारी दी कि उसने अपने कर्मचारियों को मार्च माह की सैलरी जारी कर दी है. कंपन ने बताया कि अब कर्ज का बोझ करना ही उसकी सबसे बड़ी चिंता है.

  • Share this:
नई दिल्ली. सरकारी टेलिकॉम कंपनी MTNL ने अपने कर्मचारियों को मार्च महीने की सैलरी जारी कर दी है. इसके साथ ही कंपनी ने कहा ​है कि अब वो अपनी संपत्तियों की बिक्री कर कर्ज के बोझ को कम करेगी. वहीं, भारत संचान निगम लिमि​टेड (BSNL) ने अपने कर्मचारियों को फरवरी महीने तक की सैलरी दे दी है. प्राप्त जानकारी के मुताबिक, BNSL ने मार्च की सैलरी नहीं जारी की है.

VRS के बाद बचे हैं केवल 4 हजार कर्मचारी
VRS के बाद से MTNL पर वेतन का बोझ 60 फीसदी तक कम हुआ है. दिल्ली और मुंबई से इस कंपनी से करीब 14,378 कर्मचारियों ने VRS के विकल्प को चुना था. इसके बाद अब MTNL के इन दोनों जगहों पर कुल 4,000 ही कर्मचारी बचे हैं.

यह भी पढ़ें: कोरोना लॉकडाउन से अर्थव्यवस्था पर गहरा असर, 52% लोगों की नौकरियां मुश्किल में



कर्मचारियों के वेतन पर खर्च हुआ 30 करोड़ रुपये


MTNL के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक सुनील कुमार ने कहा, 'हमने मार्च तक की सैलरी जारी कर दी है. यहां तक की लीव इनकैशमेंट के बकाये का भी भुगतान कर दिया गया है. मार्च में रेवेन्यू कलेक्शन करीब 190 करोड़ रुपये रहा, जिसमें से 30 करोड़ रुपये वेतन के तौर पर जारी किया जा चुका है.'

कंपनी पर 20 हजार करोड़ रुपये के कर्ज का बोझ
उन्होंने बताया कि वीआरएस कर्मचारियों को Ex-Gratia पेमेंट के पहले ट्रांच का भुगतान कर दिया गया है. इसके लिए कंपनी 804 करोड़ रुपये जारी किया है और दूसरा ट्रांच भी तय समय पर जारी कर दिया जाएगा. अब कंपनी की सबसे बड़ी परेशानी कर्ज की है. इसके लिए हम बिजनेस को बढ़ाने के साथ-साथ एजेट मोनेटाइजेशन की मदद से कम करेंगे.

यह भी पढ़ें: बीमा कंपनियों को देना होगा कोरोना वायरस से हुई मौत पर क्लैम, नहीं कर सकते मना

MTNL के पास 10 लाख स्क्वैयर फीट की जगह
बता दें कि MTNL पर करीब 20,000 करोड़ रुपये का कर्ज है. कंपनी ने दिल्ली और मुंबई की संपत्तियों को लीज पर देना शुरू कर दिया है. कुमार ने बताया कि कंपनी के पास दोनों शहरों में कुल 10 लाख स्क्वैयर फीट की जगह उपलब्ध है. हाल ही में कंपनी ने दिल्ली के जनपथ में अपनी एक प्रॉपर्टी को सांख्यिकी मंत्रालय को लीज पर दिया है. इससे कंपनी को पर्याप्त रेंट मिल रहा है.

यह भी पढ़ें:  SBI ने ग्राहकों को किया सावधान! किए ये काम तो खाली हो जाएगा आपका बैंक खाता

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 6, 2020, 8:24 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading