होम /न्यूज /व्यवसाय /मुद्रा लोन के लाभार्थियों ने दिखाया गजब का अनुशासन, कर्ज की भरपाई करने में साबित हुए अव्वल

मुद्रा लोन के लाभार्थियों ने दिखाया गजब का अनुशासन, कर्ज की भरपाई करने में साबित हुए अव्वल

मुद्रा लोन लेने के लिए आपकी आयु न्यूनतम 18 वर्ष होनी चाहिए. (फोटो- न्यूज18)

मुद्रा लोन लेने के लिए आपकी आयु न्यूनतम 18 वर्ष होनी चाहिए. (फोटो- न्यूज18)

मुद्रा लोन के तहत जिन भी बैंकों ने लोन दिया है 8 अप्रैल 2015 से जून 2022 तक उनका एनपीए या बैड लोन 46,053.39 करोड़ रुपये ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

पूरे बैंकिंग सेक्टर का एनपीए मार्च 2022 के अंत तक 5.97 फीसदी था.
मुद्रा लोन के तहत बैंकों का एनपीए जून तक 3.38 फीसदी रहा.
इस योजना में सूक्ष्म व लघु उद्योंगो को ₹10 लाख तक का लोन मिलता है.

नई दिल्ली. मुद्रा लोन की शुरुआत 8 अप्रैल 2015 को हुई थी. इसके तहत मुख्य सूक्ष्म व लघु उद्योगों को 10 लाख रुपये तक का कर्ज मुहैया कराने के लिए हुई थी. इसके तहत लोन लेने वाले लाभार्थियों ने ईएमआई चुकाने में आमतौर पर बैंक से कर्ज लेने वालों के मुकाबले अधिक अनुशासन का प्रदर्शन किया है. इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के अनुसार, इस स्कीम के तहत लिए गए लोन का एनपीए पूरे बैंकिंग सेक्टर के एनपीए से लगभग आधा है.

यह बात एक आरटीआई में सामने आई है. मुद्रा लोन के तहत जिन भी बैंकों ने लोन दिया है 8 अप्रैल 2015 से जून 2022 तक उनका एनपीए या बैड लोन 46,053.39 करोड़ रुपये का रहा है. यह इस योजना के अंतर्गत दिए गए कुल लोन का केवल 3.38 फीसदी है. वहीं, पूरे बैंकिंग सेक्टर की बात करें तो इस साल मार्च के अंत में यह 5.97 फीसदी थी. आपका बता दें कि इस समयावधि में कोविड-19 के प्रकोप से व्यवसायों को जूझना पड़ा था, जिस दौरान सबसे अधिक सूक्ष्म और लघु उद्योग ही प्रभावित हुए थे.

ये भी पढ़ें- महंगे दाम पर अपने ही शेयर खरीदेगी ये कंपनी, स्टॉक का भाव 148, Buyback में देगी 200 रुपये कीमत, ये होगी शर्त

बैंकिंग सेक्टर का एनपीए सुधरा
खबर के मुताबिक, 2021-22 में बैंकिंग क्षेत्र का एनपीए (5.97 फीसदी) पिछले 6 सालों से बेहतर रहा था. यह 2020-21 में 7.3 फीसदी, 2019-20 में 8.2 फीसदी, 2018-19 में 9.1 फीसदी, 2017-18 में 11.2 फीसदी, 2016-17 में 9.3 फीसदी और 2015-16 में 7.5 फीसदी रहा था.

3 श्रेणियों में दिए जाते हैं लोन
माइक्रो यूनिट डेवलपमेंट एंड रिफाइनेंस एजेंसी (मुद्रा) की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने की थी. इसके तहत गैर-कॉर्पोरेट, गैर-कृषि, लघु व सूक्ष्म उद्योग को लोन दिया जाता है. इसे आमतौर पर प्रधानमंत्री मुद्रा योजना कहा जाता है. इस योजना के तहत 3 श्रेणियों में लोन दिया है. ये तीन कैटेगरीज हैं- शिशु (50,000 रुपये तक), किशोर (50,001-5 लाख रुपये तक) और तरुण (5 लाख रुपये से 10 लाख रुपये तक). इनमें सबसे कम एनपीए 2.25 फीसदी शिशु लोन का रहा है. वहीं, दूसरे स्थान पर 2.29 फीसदी के साथ तरुण लोन है. जबकि 50,001-5 लाख रुपये के तरुण लोन का एनपीए 4.49 फीसदी के साथ सर्वाधिक रहा है.

कैसे करें मुद्रा लोन के लिए आवेदन
इसके लिए आपके पास आईडी प्रूफ, एडरेस प्रूफ और बिजनेस संबंधी प्रमाण पत्र होना चाहिए. इसके बाद मुद्रा के तहत रजिस्टर्ड किसी कर्जदाता के पास और आवेदन पत्र भरकर जमा करें. उसके साथ जरूरी दस्तावेजों को भी जमा करें. इस स्कीम में लोन लेने के लिए आपकी न्यूनतम आयु 18 साल और अधिकतम आयु 65 साल होनी चाहिए. इसकी ब्याज दर आवेदनकर्ता के प्रोफाइल पर निर्भर करेगी.

Tags: Bank Loan, Business news, Mudra loan, NPA

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें