Jio ने मात्र 3 सालों में भारत में 4जी नेटवर्क खड़ा कर दिया, इससे पहले 25 साल 2जी में अटका था: मुकेश अंबानी

Jio ने मात्र 3 सालों में भारत में 4जी नेटवर्क खड़ा कर दिया: मुकेश अंबानी
Jio ने मात्र 3 सालों में भारत में 4जी नेटवर्क खड़ा कर दिया: मुकेश अंबानी

रिलायंस इंडस्ट्री (Reliance Industries) के चेयरमैन मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) ने डिजिटल ट्रांसफार्मेशन वर्ल्ड (Digital Transformation World) को संबोधित करते हुए कहा कि मुझे पूरा विश्वास है कि भारत चौथी औद्योगिक क्रांति की अगुआई करेगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 8, 2020, 6:57 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. रिलायंस इंडस्ट्री (Reliance Industries) के चेयरमैन मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) ने डिजिटल ट्रांसफार्मेशन वर्ल्ड (Digital Transformation World) को संबोधित करते हुए कहा कि मुझे पूरा विश्वास है कि भारत चौथी औद्योगिक क्रांति की अगुआई करेगा. डिजिटल कनेक्टिविटी, क्लाउड कंप्यूटिंग, इंटरनेट ऑफ थिंग्स, स्मार्ट डिवाइस, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और रोबोटिक्स जैसी डिजिटल तकनीक चौथी औद्योगिक क्रांति की रीढ़ बनेंगी.

जियो की तारीफ करते हुए मुकेश अंबानी ने कहा कि जियो आने से पहले भारत 2जी में अटका था. जियो के माध्यम से देश को पहली बार आईपी बेस्ड नेटवर्क कनेक्टिविटी मिली. जहां 2जी नेटवर्क लगाने में बाकी कंपनियों ने 25 वर्ष लगा दिए, वहीं जियो ने मात्र 3 सालों में भारत में 4जी नेटवर्क खड़ा कर दिया.





ये भी पढ़ें:- रोजाना 28 रुपये खर्च कर मिलेंगे 6 फायदे, बहुत काम की है LIC की ये योजना
रिलायंस इंडस्ट्री के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने कहा कि चौथी औद्योगिक क्रांति में डिजिटल और भौतिक प्रौद्योगिकियां जैसे डिजिटल कनेक्टिविटी, क्लाउड और एज कंप्यूटिंग, IoT और स्मार्ट डिवाइस, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, रोबोटिक्स, ब्लॉकचैन, एआर/वीआर और जीनोमिक्स जैसी नई टेक्नोलॉजी आई. इस यात्रा को सक्षम बनाने के लिए भारत में Jio की कल्पना की गई थी.

चेयरमैन मुकेश अंबानी ने कहा कि भारतीय दूरसंचार उद्योग को अपना 2 जी नेटवर्क बनाने में 25 साल लग गए, लेकिन Jio ने केवल 3 साल में ही अपना 4G नेटवर्क बना लिया. डेटा सर्विस को पूरे भारत में पहुंचाने के लिए हमने दुनिया के सबसे कम डेटा टैरिफ प्लान लॉन्च किये, और Jio उपयोगकर्ताओं के लिए पूरी तरह से मुफ्त में वॉयस सर्विस यानी कॉल पर बात करने की सुविधा प्रदान कीं.

उन्होंने कहा कि Jio से पहले आधे अरब से अधिक भारतीयों को डिजिटल आंदोलन का फायदा नहीं मिल रहा था. क्योंकि वे स्मार्टफ़ोन नहीं खरीद सकते थे और उन्हें 2G फीचर फोन का इस्तेमाल करना पड़ रहा था. हमारे युवा और प्रतिभाशाली Jio इंजीनियरों ने दुनिया का अल्ट्रा-किफायती डिवाइस JioPhone डिजाइन किया. इस फ़ोन का एक वर्ष से भी कम समय में 100 मिलियन से अधिक भारतीयों ने उपयोग किया.

रिलायंस इंडस्ट्री के चेयरमैन ने कहा कि Jio ग्राहकों को कई मोबाइल एप्लिकेशन देता है जिसमें लाइव टीवी, सिनेमा, संगीत, समाचार, पत्रिकाएं और अन्य एप्लिकेशन जैसे वित्तीय भुगतान जैसे ऐप शामिल हैं. यही वजह है कि जियो के आने के बाद भारत में डाटा की मासिक खपत 0.2 बिलियन जीबी से बढ़कर 1.2 बिलियन जीबी हो गई है. और डेटा की खपत पहले से कई गुना बढ़ गई है.

डिस्केलमर- न्यूज18 हिंदी, रिलायंस इंडस्ट्रीज की कंपनी नेटवर्क18 मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट लिमिटेड का हिस्सा है. नेटवर्क18 मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट लिमिटेड का स्वामित्व रिलायंस इंडस्ट्रीज के पास ही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज