• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • आर्थिक सुस्ती में भी इन कंपनियों ने जुटाए ₹49 हजार करोड़ से ज्यादा, SIP का जादू बरकार

आर्थिक सुस्ती में भी इन कंपनियों ने जुटाए ₹49 हजार करोड़ से ज्यादा, SIP का जादू बरकार

म्यूचुअल फंड कंपनियों ने SIP से 6 महीने में ₹49,000 करोड़ से अधिक जुटाए

म्यूचुअल फंड कंपनियों ने SIP से 6 महीने में ₹49,000 करोड़ से अधिक जुटाए

एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया (AMFI) के आंकड़ों के मुताबिक, म्यूचुअल फंड उद्योग ने चालू वित्त वर्ष की पहली छमाही (अप्रैल-सितंबर) में एसआईपी (SIP) के जरिए 49,000 करोड़ रुपये से अधिक जुटाए.

  • Share this:
    नई दिल्ली. खुदरा निवेशक म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) में निवेश करने के लिए सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान (SIP) को तवज्जो दे रहे हैं. एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया (AMFI) के आंकड़ों के मुताबिक, म्यूचुअल फंड उद्योग (Mutual Fund Industry) ने चालू वित्त वर्ष की पहली छमाही (अप्रैल-सितंबर) में एसआईपी (SIP) के जरिए 49,000 करोड़ रुपये से अधिक जुटाए. यह एक साल पहले की इसी अवधि की तुलना में 11 प्रतिशत अधिक है. अप्रैल-सितंबर 2018 में यह आंकड़ा 44,487 करोड़ रुपये था.

    MF में निवेश के लिए SIP बेस्ट
    म्यूचुअल फंड उद्योग ने कहा कि खुदरा निवेशकों के लिए म्यूचुअल फंड में निवेश करने के लिए अब भी एसआईपी सबसे उपयुक्त माध्यम बना हुआ है. ताजे आंकड़ों के मुताबिक, 2019-20 की अप्रैल-सितंबर अवधि में एसआईपी के जरिए 49,361 करोड़ रुपये का निवेश किया गया है. इस साल सितंबर तक एसआईपी के जरिए हर महीने औसतन 8,000 करोड़ रुपये का निवेश हुआ है.

    ये भी पढ़ें: कमाल की है LIC की बीमा श्री पॉलिसी, मनीबैक के साथ मिलेंगे ये फायदे

    SIP के जरिए निवेश में तेजी
    पिछले कुछ सालों में एसआईपी के जरिए निवेश में तेजी देखी गई है. वित्त वर्ष 2018-19 में एसआईपी के माध्यम से करीब 92,700 करोड़ रुपये का निवेश हुआ था. 2017-18 में यह आंकड़ा 67,000 करोड़ से अधिक और 2016-17 में 43,900 करोड़ रुपये से अधिक था.

    2.84 करोड़ एसआईपी खाते
    वर्तमान में, म्यूचुअल फंड कंपनियों के पास 2.84 करोड़ एसआईपी खाते हैं, जिनके जरिए निवेशक भारतीय म्यूचुअल फंड योजनाओं में निरंतर निवेश कर रहे हैं. इस साल सितंबर के अंत में 44 कंपनियों वाले म्‍युचुअल फंड उद्योग के प्रबंधन के तहत परिसंपत्ति 25.68 लाख करोड़ रुपये रही. एक साल पहले के सितंबर अंत में यह आंकड़ा 24.31 लाख करोड़ रुपये था.

    ये भी पढ़ें: हर माह 5 हजार रुपये निवेश कर पाएं 45 लाख, साथ में मिलेगी 22 हजार की पेंशन

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज