इस म्यूचुअल फंड कंपनी ने निवेशकों को लौटाये बंद पड़े 6 फिक्स्ड इनकम स्कीम के ₹17,777 करोड़, आपने भी लगाए थे पैसे?

अगर आपने म्यूचुअल फंड (Mutual fund) कंपनी फ्रैंकलिन टेम्पलटन में पैसे लगाएं हैं, तो आपके लिए यह काम की खबर हो सकती है.

अगर आपने म्यूचुअल फंड (Mutual fund) कंपनी फ्रैंकलिन टेम्पलटन में पैसे लगाएं हैं, तो आपके लिए यह काम की खबर हो सकती है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. अगर आपने म्यूचुअल फंड (Mutual fund) कंपनी फ्रैंकलिन टेम्पलटन में पैसे लगाएं हैं, तो आपके लिए यह काम की खबर हो सकती है. अमेरिकी MF हाउस फ्रैंकलिन टेम्पलटन ने भारतीय इकाई फ्रैंकलिन टेम्पलटन इंडिया (Franklin Templeton India) ने 6 फिक्स्ड इनकम स्कीमों के यूनिटहोल्डर्स को 15 जून तक 17,777 करोड़ रुपये लौटा दिए हैं. इन सभी 6 डेट स्कीम्स (Debt Schemes) को बॉन्ड मार्केट में पर्याप्त लिक्विडिटी नहीं होने के कारण समय से पहले ही बंद करना पड़ा था.

    25,000 करोड़ रुपये के करीब AUM
    Franklin Templeton द्वारा यूनिटहोल्डर्स को लौटाई गई यह राशि इन 6 डेट स्कीम्स के कुल ऐसेट्स अंडर मैनेजमेंट (AUM) के 71% के बराबर है. ऐसेट्स अंडर मैनेजमेंट वह अमाउंट होता है तो निवेशक किसी म्यूचुअल फंड हाउस में निवेश करने के लिए जमा कराते हैं. फ्रैंकलिन इंडिया इनकम अपॉरच्यूनिटीज फंड का कुल एसेट्स अंडर मैनेजमेंट (AUM) 25,000 करोड़ रुपये के करीब है.

    ये भी पढ़ें- खुशखबरी! सोने की कीमतों में आई भारी गिरावट, एक दिन में ₹1,000 सस्ता हुआ गोल्ड, चेक करें लेटेस्ट रेट

    फरवरी में निवेशकों को 9122 करोड़ मिले
    फरवरी, 2021 में Franklin Templeton के इन स्कीम्स में निवेश करने वालों को 9122 करोड़ रुपये मिले थे. जबकि, अप्रैल 2021 में कंपनी ने निवेशकों को 2962 करोड़ रुपये लौटाये और 3 मई को 2489 करोड़ रुपये यूनिटहोल्डर्स को वापस किए गए. जबकि, 5 जून तो म्यूचुअल फंड हाउस ने निवेशकों के 3205 करोड़ रुपये लौटाये. Franklin Templeton MF ने अपने बयान में कहा कि 15 जून को कंपनी के पास बांटने के लिए 580 करोड़ रुपये कैश में मौजूद था.

    ये भी पढ़ें- खुशखबरी: खाने का तेल हुआ सस्ता! सरसों, रिफायंड समेत इन खाद्य तेलों के दाम गिरे, देखें लेटेस्ट रेट

    फ्रैंकलिन टेम्पलटन पर नियम तोड़ने का आरोप
    आपको बता दें कि म्यूचुअल फंड कंपनी ने बॉन्ड मार्केट में लिक्विडिटी कम होने और रिडेम्शन प्रेशर बनने के चलते स्कीमों को 23 अप्रैल को बंद किया था, जिसके पर बाद में सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर इस स्कीम्स में निवेश करने वाले यूनिटहोल्डर्स ने वोटिंग की थी और इन स्काम्स को बाइंड-अप करने पर अपनी मुहर लगाई थी. पिछले सप्ताह मार्केट रेगुलेटर SEBI ने फ्रैंकलिन टेम्पलटन ऐसेट मैनेजमेंट कंपनी (FT-AMC) पर 2 साल तक कोई नया डेट स्कीम (Debt Scheme) लॉन्च करने पर रोक लगा दी. यानी कंपनी 2 साल कोई नया डेट स्कीम नहीं लॉन्च कर पाएगी. साथ ही पिछले साल 6 डेट म्यूचुअल फंड्स स्कीम को बंद करने और नियम तोड़ने पर फ्रैंकलिन टेम्पलटन और 8 अन्य एंटिटीज पर 15 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.