• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • Mutual Fund Investment: SBI के चिल्ड्रेन फंड प्लान ने एक साल में 100% से ज्यादा का रिटर्न दिया, जानिए डिटेल

Mutual Fund Investment: SBI के चिल्ड्रेन फंड प्लान ने एक साल में 100% से ज्यादा का रिटर्न दिया, जानिए डिटेल

  SBI मेग्नम चिल्ड्रन्स बेनिफिट फंड इंवेस्टमेंट प्लान (Magnum Children’s Benefit Fund)

SBI मेग्नम चिल्ड्रन्स बेनिफिट फंड इंवेस्टमेंट प्लान (Magnum Children’s Benefit Fund)

पिछले साल SBI म्यूचुअल फंड ने SBI मेग्नम चिल्ड्रन्स बेनिफिट फंड इंवेस्टमेंट प्लान (Magnum Children’s Benefit Fund) लॉन्च किया था. 2020 के 29 सितंबर से शुरु हुए इस प्लान ने 29 जुलाई, 2021 तक के केवल 10 महीने में 100% से ज्यादा रिटर्न दिया है.

  • Share this:

    मुंबई . अक्सर Mutual Fund Investment के रिटर्न को लेकर रिटेल निवेशकों में कम लाभ या नुकसान को लेकर आशंका बनी रहती है. लेकिन कुछ म्यूचुअल फंड प्लान ऐसे निकलते हैं जो निवेशकों को अनुमान से भी ज्यादा मुनाफा करा देते हैं.  SBI म्यूचुअल फंड का SBI मेग्नम चिल्ड्रन्स बेनिफिट फंड इंवेस्टमेंट प्लान (Magnum Children’s Benefit Fund) भी ऐसा ही फंड साबित हुआ है.

    पिछले साल SBI म्यूचुअल फंड ने SBI मेग्नम चिल्ड्रन्स बेनिफिट फंड इंवेस्टमेंट प्लान (Magnum Children’s Benefit Fund) लॉन्च किया था. बच्चों के लिए लॉन्ग टर्म इंवेस्टमेंट के लिहाज से यह प्लान लॉन्च किया गया था. 2020 के 29 सितंबर से शुरु हुए इस प्लान ने 29 जुलाई, 2021 तक के केवल 10 महीने में 100% से ज्यादा रिटर्न दिया है. इस प्लान की NAV 10 महीने में डबल, यानि 10 रूपये से 20 रूपये को पार हो गई है.

    यह भी पढ़ें – पीएम मोदी 2 अगस्त को लॉन्च करेंगे डिजिटल पेमेंट सॉल्युशन e-RUPI, जानिए कैसे काम करता है ई-रुपी

    AMFI-रजिस्टर्ड म्यूचुअल फंड डिस्ट्रिब्युटर और इंवेस्टर्स कोर्नर के डिरेक्टर मनीष मेहता ने कहा कि, “पिछले साल लॉन्च हुए SBI Magnum Children’s Benefit Fund के ग्रोथ ओप्शन के रेग्युलर प्लान की NAV 10 रूपये थी, जो 29 जुलाई, 2021 को 20.0013 के पार हो गई है, यानि 100 फीसदी से ज्यादा रिटर्न मिला है,”.

    5 साल का लॉक-इन पीरियड

    इस फंड ने 1 महीने में इस फंड ने 16.91%, 3 महीने में 34.81%, 6 महीने में 58.38% और लॉन्च होने से अब तक 100.01% रिटर्न दिया है. इस प्लान की एसेट वैल्यु अंडर मेनेजमेंट (AUM) 187 करोड है.
    इसमें 5 साल का लॉक-इन पीरियड है, या बच्चा मैच्योर होने तक आप पैसे रीडिम नहीं कर सकते. यदि आप 1 साल के भीतर रीडिम करते हैं तो 3% एक्जिट लॉट लगता है, 1 साल के बाद और 2 साल के पहले रीडिम करने पर 2% और लोड लगता है और 2 साल के बाद रीडिम करने पर 1% लोड लगता है.

    केटेगरी के साथ तुलना

    SBI का यह प्लान हाइब्रीड केटेगरी का है. हाइब्रीड केटेगरी का एक साल का रिटर्न 39.97%, 3 साल का रिटर्न 12.42% और 5 साल का रिटर्न 11.77% है.

    यह भी पढ़ें-  ₹4 वाले Tata Group के इस शेयर से निवेशक हुए मालामाल! सालभर में ₹1 लाख बन गए 12 लाख रुपये

    दूसरे प्लान के साथ तुलना
    SBI मेग्नम चिल्ड्रन्स बेनिफिट फंड का एक्सपेंस रेशियो 2.36% है, जो उसके प्रतिस्पर्धी प्लान के नजदीक है. SBI का प्लान अभी नया है, इसलिए दूसरे फंड के रिटर्न के साथ तुलना संभव नहीं है, लेकिन इस साल में अब तक का रिटर्न देखे तो उसमें 55 फीसदी के साथ यह आगे है. हाईब्रीड-एग्रेसिव केटेगरी में अभी 50 फंड है और उसमें SBI मेग्नम चिल्ड्रन्स बेनिफिट फंड नं.-1 पर है.

    चिल्ड्रन्स फंड्स क्या हैः

    चिल्ड्रन्स फंड्स भी म्यूचुअल फंड प्लान्स का एक प्रकार है. इन्हें हाईब्रीड फंड या बैलेंस्ड म्यूचुअल फंड में वर्गीकृत किया गया है, जो डेट और इक्विटी में निवेश करते है. आप ऐसी स्कीम के जरिए अपने बच्चों की शिक्षा, उनकी शादी जैसे खर्चो के लिए फंड इकट्ठा कर सकते है. SBI का चिल्ड्रन गिफ्ट फंड हाइब्रिड-एग्रेसिव कैटेगरी में आता है. इस कैटेगरी की स्कीम के लिए 65-80 फीसदी इक्विटी में निवेश करना जरूरी है, बाकी का 20-35 फीसदी डेट में निवेश करना पड़ता है.

    इक्विटी में कम से कम 65 फीसदी निवेश की सीमा के चलते इन पर इक्विटी स्कीमों की तरह टैक्स लगता है. SBI के चिल्ड्रन गिफ्ट फंड का 73% अलोकेशन इक्विटी और 8% अलोकेशन डेट में है. इसने इक्विटी में सबसे ज्यादा 33% अलोकेशन स्मॉल-कैप को दिया है, वहीं मिड-केप में 18% और लार्ज-केप में 22% अलोकेशन है.

    SBI के चिल्ड्रन फंड के फंड मेनेजर दिनेश आहुजा है, जिन्हें मोर्गिनस्टार इंडिया ने 2020 में मीडियम-टु-लॉन्ग ड्यूरेशन फंड केटेगरी का बेस्ट फंड मेनेजर का एवोर्ड भी दिया था.

    बच्चों के लिए निवेश के क्या हैं विकल्प

    यदि आप बच्चों के लिए निवेश करना चाहते हैं तो आपको यह सुनिश्चित करना चाहिए कि आपको महंगाई दर से ज्यादा रिटर्न मिले. आपको रिस्क लेने की क्षमता के अनुसार निवेश करना चाहिए. बच्चों के हायर एज्युकेशन के लिए पैसा बचाना है और आप ज्यादा रिस्क लेने को तैयार नहीं है तो पीपीएफ या एनएससी जैसी सुरक्षित प्रोडक्ट चुन सकते है.

    यदि आप एग्रेसिव इन्वेस्टर हैं तो इक्विटी-ओरिएंटेड प्रोडक्ट में निवेश करें. आपको तय करना होगा कि आप अपने बच्चों के लिए कितने समय में कितना फंड इकट्ठा करना चाहते है. यह तय होने के बाद आपको बेहतर विकल्प चुनने में और आसानी होगी. लंबा वक्त है तो इक्विटी म्यूचुअल फंड को चुनना सही होगा.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज