Home /News /business /

mutual fund mf utilities to discontinue cheques as a payment mode investment and return know why kcnd

Mutual Fund में अब चेक के जरिये नहीं कर पाएंगे भुगतान! बंद होने वाली है यह सुविधा, जानें क्‍यों लिया गया ये फैसला

सेबी के नियमों के मुताबिक, चेक के जरिये पेमेंट केवल क्लीयरिंग कॉरपोरेशन या एसेट मैनेजमेंट कंपनी ही स्वीकार कर सकती है.

सेबी के नियमों के मुताबिक, चेक के जरिये पेमेंट केवल क्लीयरिंग कॉरपोरेशन या एसेट मैनेजमेंट कंपनी ही स्वीकार कर सकती है.

MF Utilities To Discontinue Cheques : म्यूचुअल फंड ट्रांजेक्शन एग्रीगेशन पोर्टल एमएफ यूटिलिटीज (MFU) 31 मार्च 2022 से फीजिकल इंस्ट्रूमेंट के जरिये पेमेंट सुविधा बंद करने जा रहा है. फीजिकल इंस्ट्रूमेंट का मतलब चेक, डिमांड ड्राफ्ट, ट्रांसफर लेटर्स, बैंकर्स चेक, पे ऑर्डर से है. 31 मार्च से एमएफ यूटिलिटीज इन माध्यमों से पेमेंट नहीं लेगा.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. अगर आप म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) में निवेश करते हैं तो यह आपके लिए बड़ी खबर है. मामला म्यूचुअल फंड भुगतान (Mutual Fund Payment) से जुड़ा है. दरअसल, म्यूचुअल फंड ट्रांजेक्शन एग्रीगेशन पोर्टल एमएफ यूटिलिटीज (MFU) 31 मार्च 2022 से फीजिकल इंस्ट्रूमेंट के जरिये पेमेंट सुविधा बंद करने जा रहा है.

फीजिकल इंस्ट्रूमेंट का मतलब चेक (Cheques), डिमांड ड्राफ्ट (Demand Draft), ट्रांसफर लेटर्स (Transfer Letters), बैंकर्स चेक (Banker’s Cheque), पे ऑर्डर (Pay Order) से है, जिसके जरिये आप म्यूचुअल फंड में निवेश के लिए पेमेंट करते हैं. लेकिन, 31 मार्च से एमएफ यूटिलिटीज इन माध्यमों से पेमेंट नहीं लेगा यानी अगर एमएफ यूटिलिटीज के जरिये म्यूचुअल फंड में निवेश करते हैं तो एक अप्रैल 2022 से आपको पेमेंट के लिए किसी दूसरे माध्यम का इस्तेमाल करना होगा.

ये भी पढ़ें- PH0TOS: किस देश के पास है सबसे ज्यादा गोल्ड रिजर्व, देखें टॉप-10 देशों की लिस्ट

सिस्टम में सुधार के कारण लिया फैसला
एमएफ यूटिलिटीज के मैनेजिंग डायरेक्टर एवं सीईओ गणेश राम का कहना है कि बाजार नियामक सेबी के नियमों के मुताबिक, चेक के जरिये पेमेंट केवल क्लीयरिंग कॉरपोरेशन या एसेट मैनेजमेंट कंपनी ही स्वीकार कर सकती है. एमएफ यूटिलिटीज ने कहा कि एक अप्रैल 2022 से उसके प्लेटफॉर्म पर ईकलेक्शन पेमेंट मोड यानी एनईएफसी/आरटीजीएस/आईएमपीएस के जरिये पेमेंट सुविधा भी उपलब्ध नहीं होगी. यानी इन माध्यमों के जरिये आप एक अप्रैल 2022 से पेमेंट नहीं कर पाएंगे. फर्म का कहना है कि सिस्टम में सुधार की वजह से यह फैसला लिया गया है. जब तक पूरी तरह सुधार और टेस्ट के बाद ही पेमेंट मोड पर फैसला लिया जा सकता है.

ये भी पढ़ें- LPG Price Hike : महंगाई का दोहरा झटका! पेट्रोल-डीजल के बाद एलपीजी सिलेंडर के दाम में 50 रुपये की बढ़ोतरी

नेट बैंकिंग और यूपीआई पर असर नहीं
निवेशकों के लिए ध्यान देने की बात है कि सिस्टम अपडेट का PayEezz (प्लेटफॉर्म पर एकमुश्त या कई SIP के पंजीकरण की सुविधा), नेट बैंकिंग और यूपीआई के जरिये पेमेंट पर कोई असर नहीं होगा. यानी इन माध्यमों के जरिये आप आसानी से पेमेंट कर सकते हैं. मनी मंत्र के संस्थापक विरल भट्टा का कहना है कि एमएफ यूटिलिटीज के जरिये म्यूचुअल फंड में निवेश करने वालों को PayEezz पर साइन अप पेमेंट के लिए इसका इस्तेमाल करना चाहिए. छोटे निवेशकों के लिए यूपीआई भी सुविधाजनक विकल्प है.

Tags: Digital payment, Mutual fund, Mutual fund investors

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर