• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • ये है नये जमाने का अकाउंट, बचत खाते से मिलता है दोगुना ब्याज

ये है नये जमाने का अकाउंट, बचत खाते से मिलता है दोगुना ब्याज

जमाना बदल रहा है और बचत का तरीका भी. इसलिए बदलते जमाने के साथ आप भी बचत का तरीका बदल लें.

जमाना बदल रहा है और बचत का तरीका भी. इसलिए बदलते जमाने के साथ आप भी बचत का तरीका बदल लें.

जमाना बदल रहा है और बचत का तरीका भी. इसलिए बदलते जमाने के साथ आप भी बचत का तरीका बदल लें.

  • Share this:
    जमाना बदल रहा है और बचत का तरीका भी, इसलिए बदलते जमाने के साथ आप भी बचत का तरीका बदल लेंगे तो फायदे में रहेंगे. लोग बचत के लिए भी पैसे सेविंग अकाउंट में रखते हैं. ज्यादातर बैंकों के सेविंग अकाउंट पर 4 फीसदी के आस-पास ही सालाना ब्याज मिलता है. लेकिन एक स्कीम ऐसी भी है, जिसमें आपको सेविंग अकाउंट की तरह ही सारी सुविधाएं मिलती हैं, वहीं इनमें जमा पैसों पर ब्याज भी 8 फीसदी से ज्यादा मिलता है. यानी बैंक के सेविंग अकाउंट की तुलना में दोगुना ब्याज. इस अकाउंट से जब चाहें आप पैसे निकाल सकते हैं और जब चाहें इसमें जमा कर सकते हैं. आगे जानें इस नए जमाने के अकाउंट के बारे में...

    ये भी पढ़ें- म्यूचुअल फंड्स स्कीम में लगे आपके पैसे पर हो रहा है फायदा या नुकसान, ऐसे जानें

    हम यहां बात कर रहे हैं कि लिक्विड फंड की. ये फंड आपको सेविंग्स अकाउंट पर मिलने वाली ब्याज दर के मुकाबले ज्यादा ब्याज देते हैं. साथ ही, इससे पैसा आसानी से निकाला जा सकता है. पिछले एक साल में ज्यादातर लिक्विड फंड योजनाओं ने करीब 8 फीसदी तक मुनाफा दिया है, जो एफडी पर मिल रहे मौजूदा ब्याज दर से भी ज्यादा है.

    क्या है लिक्विड फंड- लिक्विड फंड एक तरह के म्यूचुअल फंड हैं. ये गवर्नमेंट सिक्योरिटीज, सर्टिफिकेट ऑफ डिपॉजिट, ट्रेजरी बिल्स, कॉमर्शियल पेपर्स और दूसरे डेट इंस्टू्मेंट्स में निवेश करते हैं. ये ऐसे फंड होते हैं, जिनमें जोखिम भी कम होता है. इस फंड में सेविंग्स अकाउंट से ज्यादा ब्याज मिल जाता है. पिछले एक साल के आंकड़ों पर गौर करें तो इसमें 8 फीसदी का मुनाफा मिला है.

    ये भी पढ़ें, म्यूचुअल फंड: डायरेक्ट और रेगुलर प्लान में कौन सा बेहतर, जानिए इसके बारे में सबकुछ

    लिक्विड फंड के फायदे- इनकी कोई लॉक-इन अवधि नहीं होती. मतलब आप निवेश करने के दूसरे दिन भी पैसे निकाल सकते हैं. पैसे आपको उसी दिन मिल जाएंगे. आप एक हफ्ते के लिए भी अपने पैसों का निवेश यहां कर सकते हैं. इस स्कीम में जब चाहें एक्स्‍ट्रा पैसे जमा कराएं या जब चाहें इसमें से निकाल लें. इन फंडों पर कोई एंट्री या एक्जिट लोड नहीं लगता है.

    इन फंड्स ने दिए ज्यादा मुनाफा- एक साल के दौरान लिक्विड फंड्स में करीब 8 फीसदी तक मुनाफा मिला है. जैसे एबीएसएल लिक्विड फंड (डीएपी) में 7.6 फीसदी, बड़ोदा पायोनियर लिक्विड- डायरेक्ट(जी) में 7.5 फीसदी, डीएसपी लिक्विड फंड- डायरेक्टर (जी) में 7.4 फीसदी, रिलायंस लिक्विड फंड- डायरेक्टर (जी) में 7.4 फीसदी तक ब्याज मिला है. जो सेविंग अकाउंट पर मिलने वाले ब्याज से करीब दोगुना है.

    ये भी पढ़ें, बैंक FD से 3% ज्यादा ब्याज पाने का मौका, ये कंपनी लाई है ऑफर

    ऐसे शुरू करें निवेश- अगर आप म्यूचुअल फंड में पहली बार निवेश कर रहे हैं तो फंड मैनेजर आपका केवाईसी तैयार करेगा. इसके बाद पहले महीने की किस्त के लिए एक चेक, ईसीएस के लिए ऑटो डेबिट फॉर्म और एक कॉमन फॉर्म भरवाया जाएगा. इसके साथ ही आपकी लिक्विड फंड में एसआईपी शुरू हो जाएगी. इसके बाद हर महीने आपके बैंक खाते से तय तारीख पर तय रकम कटती रहेगी. इस तरह का इनवेस्टमेंट ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीकों से किया जा सकता है. अगर कोई चाहे तो वह इस योजना में एक से ज्यादा एसआईपी भी शुरू करवा सकता है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज