Home /News /business /

my heart fills with pride industrialist anil agarwal about daughter running a business jst

मेरा दिल गर्व से भर जाता है, बेटी द्वारा बिजनेस का नेतृत्व किए जाने को लेकर बोले उद्योगपति अनिल अग्रवाल

अनिल अग्रवाल ने कहा बेटी को जुनून से काम करते देख होता है गर्व.

अनिल अग्रवाल ने कहा बेटी को जुनून से काम करते देख होता है गर्व.

वेदांता के संस्थापक अनिल अग्रवाल ने कहा है कि बेटी प्रिया अग्रवाल को समर्पण व जुनून के साथ काम करते देख उनका दिल गर्व से भर जाता है. प्रिया अग्रवाल हेब्बार वर्तमान में वेदांता रिसोर्सेज की निदेशक हैं.

हाइलाइट्स

अनिल अग्रवाल ने कहा कि बेटी को जुनून से काम करते देख उन्हें गर्व होता है.
उनकी बेटी रेखा अग्रवाल वेदांता रिसोर्सेज की निदेशक हैं.
अनिल अग्रवाल ने बेटी के जन्मदिन के मौके पर लिंक्डिन पोस्ट में यह बात लिखी.

नई दिल्ली. उद्योगपति अनिल अग्रवाल ने बुधवार को अपनी बेटी प्रिया अग्रवाल हेब्बार के जन्मदिन पर उनके लिए एक इमोशनल नोट लिखा. वेदांता के संस्थापक और प्रेसिडेंट अग्रवाल ने लिखा कि उन्हें अपनी बेटी प्रिया को समर्पण और जुनून के साथ कंपनी का नेतृत्व करते हुए देखकर गर्व हो रहा है. अनिल अग्रवाल ने यह बात एक लिंक्डिन पोस्ट में लिखी.

उन्होंने लिखा, “प्रिया, मुझे याद है कि बचपन में तुम हमारे पड़ोस में कुत्तों और बिल्लियों को इतनी देखभाल के साथ खिलाती थीं (और अब भी खिलाती हो). जब मैं आपको समर्पण और जुनून के साथ वेदांता का नेतृत्व करते देखता हूं तो मेरा दिल गर्व से भर जाता है. जानवरों और हमारी धरती माता के लिए आपका प्यार आपको ईएसजी (पर्यावरण, सामाजिक और शासन) क्षेत्र में सर्वश्रेष्ठ लीडर बनाती है.” गौरतलब है कि प्रिया अग्रवाल हेब्बार वर्तमान में वेदांत रिसोर्सेज की निदेशक हैं, और पशु कल्याण संगठनों योडा और टैको की संस्थापक हैं.

ये भी पढ़ें- इस बैंक का कैंसिल हुआ लाइसेंस, ग्राहक नहीं निकाल पाएंगे पैसा, कहीं आपका तो नहीं इसमें अकाउंट?

जो करती हो उसमें पूरी ताकत लगाती हो
अनिल अग्रवाल ने कहा “एक बेटी, पत्नी, मां और सबसे महत्वपूर्ण एक इंसान के रूप में तुम जो कुछ भी करती हो, उसमें तुम्हें अपना सब कुछ देते हुए देखना बहुत खुशी की बात है. तुम हमारे जीवन में जो खुशी लाई उसके लिए धन्यवाद.” उन्होंने लिखा “जन्मदिन मुबारक हो, बेटी. आशा है कि तुम वह सब कुछ और भी बहुत कुछ हासिल करोगी जिसका तुम सपना देखती हो.”

परिवार के योगदान को हमेशा करते हैं याद
वेदांत प्रमुख अपने व्यवसाय और उनकी उपलब्धियों में अपने परिवार के योगदान को साझा करने से कभी नहीं कतराते हैं. पिछले महीने, उन्होंने खुलासा किया था कि लंदन स्टॉक एक्सचेंज में वेदांता को सूचीबद्ध कराने के लिए संघर्ष करने के दौरान उनके परिवार ने कैसे उनका समर्थन किया. उन्होंने कहा कि उनकी पत्नी को लगा कि वह पागल है जब उन्होंने बताया कि वे 24 घंटे में लंदन के लिए निकल रहे हैं. उन्होंने कहा, “वह हमारी बेटी प्रिया के स्कूल गई और उनसे छह महीने की छुट्टी मांगी क्योंकि उसे यकीन था कि हम तब तक वापस आ जाएंगे. उसने अभी भी बिना किसी संदेह के सब कुछ व्यवस्थित किया – हमेशा मेरा सबसे बड़ा सपोर्ट सिस्टम.”

माता-पिता की भूमिका
अपने माता-पिता की भूमिका पर जोर देते हुए अग्रवाल ने कहा, “मेरे बाबूजी ने मुझे हमेशा यात्रा पर ध्यान केंद्रित करना सिखाया, न कि अंत पर. जब तक आप उस सवारी का आनंद ले रहे हैं जिस पर आप चल रहे हैं, तो आप अपना रास्ता खोज लेंगे.” उन्होंने कहा, “लंदन आने पर मेरे पास बहुत कुछ नहीं था, लेकिन मेरे पास एक चीज थी – मेरे माता-पिता का विश्वास और आशीर्वाद.”

Tags: Business news, Business news in hindi, Daughter, Father, LinkedIn

अगली ख़बर