Home /News /business /

NARCL: बैड बैंक के बोर्ड में और डायरेक्टर होंगे शामिल, निजी बैंकों की होगी 49 फीसदी हिस्सेदारी

NARCL: बैड बैंक के बोर्ड में और डायरेक्टर होंगे शामिल, निजी बैंकों की होगी 49 फीसदी हिस्सेदारी

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया

आरबीआई (RBI) ने इस महीने की शुरुआत में 6,000 करोड़ रुपये की एनएआरसीएल या बैड बैंक को लाइसेंस दिया था, जिसमें सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों की 51 फीसदी हिस्सेदारी है.

    नई दिल्ली. नेशनल एसेट रिकंस्ट्रक्शन कंपनी यानी एनएआरसीएल (National Asset Reconstruction Company) या बैड बैंक जल्द ही शेयरधारकों के उचित प्रतिनिधित्व और बेहतर कॉरपोरेट प्रशासन के लिए बोर्ड में और डायरेक्टर्स को शामिल करेगा. सूत्रों ने बताया कि निजी क्षेत्र के बैंकों की तरफ से शेयरधारकों का 49 फीसदी प्रतिनिधित्व होगा.

    भारतीय रिजर्व बैंक यानी आरबीआई (Reserve Bank of India) ने इस महीने की शुरुआत में 6,000 करोड़ रुपये की एनएआरसीएल को लाइसेंस दिया था, जिसमें सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों की 51 फीसदी हिस्सेदारी है. सूत्रों ने कहा कि निजी क्षेत्र के बैंकों की ओर से शेयरधारकों का 49 प्रतिशत प्रतिनिधित्व होगा. रिजर्व बैंक ने एनएआरसीएल (NARCL) से जल्द ही पूर्ण बोर्ड का ब्योरा देने को कहा है.

    ये भी पढ़ें- Air India को चलाने के लिए सरकार हर दिन देती है 20 करोड़, Tata को सौंपने पर टैक्‍सपेयर्स के हर माह बचेंगे 600 करोड़ : DIPAM

    पी एम नायर बने मैनेजिंग डायरेक्टर
    बैड बैंक की स्थापना का काम संभालने वाले भारतीय बैंक संघ (Indian Banks Association- IBA) ने एनएआरसीएल के लिए एक प्रारंभिक बोर्ड को चुना है. कंपनी ने भारतीय स्टेट बैंक यानी एसबीआई (SBI) के दबाव वाली संपत्ति के विशेषज्ञ पी एम नायर को मैनेजिंग डायरेक्टर के रूप में नियुक्त किया है.

    ये भी पढ़ें- Flipkart Big Diwali सेल आज से सबके लिए शुरू, मोबाइल और लैपटॉप पर मिल रहा है 80 फीसदी तक डिस्काउंट

    बोर्ड के अन्य डायरेक्टर्स में आईबीए के सीईओ मेहता, एसबीआई के उप प्रबंध निदेशक एस एस नायर और केनरा बैंक के मुख्य महाप्रबंधक अजीत कृष्णन नायर हैं.

    Tags: RBI, Reserve bank of india

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर