• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • Share Market: मेदांता अस्पताल लाएगा आईपीओ, 5 इनवेस्टमेंट बैंकर्स से बातचीत शुरू

Share Market: मेदांता अस्पताल लाएगा आईपीओ, 5 इनवेस्टमेंट बैंकर्स से बातचीत शुरू

मेदांता अस्पताल

मेदांता अस्पताल

ग्लोबल हेल्थ प्राइवेट लिमिटेड (Global Health Private Ltd) अपनी झोली आईपीओ (IPO) से भरने का प्लान बना रही है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. मेदांता ब्रांड से अस्पताल चलाने वाली कंपनी ग्लोबल हेल्थ प्राइवेट लिमिटेड (Global Health Private Ltd) अपनी झोली इनिशियल पब्लिक ऑफरिंग यानी आईपीओ (IPO) से भरने का प्लान बना रही है. आईपीओ के जरिए कंपनी निवेशकों को भी कमाई करने का मौका देने वाली है. सूत्रों के मुताबिक, कंपनी फिलहाल लॉ फर्म्स और इनवेस्टमेंट बैकर्स से बातचीत कर रही है.

    कंपनी आईपीओ लाने के लिए जिन इनवेस्टमेंट बैंकर्स से बातचीत कर रही है उनमें जेएम फाइनेंशियल और कोटक सिक्योरिटीज भी शामिल है. इस ममले में ग्लोबल हेल्थ प्राइवेट लिमिटेड के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर डॉक्टर नरेश त्रेहान को भेजी गई ईमेल का कोई जवाब नहीं आया है. डॉक्टर त्रेहान देश के जानेमाने कार्डिक सर्जन हैं.

    ये भी पढ़ें- Post Office: पोस्ट ऑफिस की ये 5 बेस्ट सेविंग स्कीम है बेहद खास, निवेश करने पर मिलेगा डबल मुनाफा

    2004 में हुई थी मेंदांता की शुरुआत
    मेदांता की शुरुआत 2004 में हुई थी. मेदांता का फ्लैगशिप हॉस्पिटल मेडिसिटी गुरुग्राम में है. यहां 1300 बेड हैं जिसमें 246 क्रिटिकल केयर बेड्स हैं. प्राइवेट सेक्टर के अस्पतालों की बात करें तो यह देश का सबसे बड़ा हॉस्पिटल है जहां एक लोकेशन पर इतनी बड़ी संख्या में बेड हैं. इस हॉस्पिटल चेन की ऑपरेशनल कैपेसिटी फिलहाल 2000 बेड्स की है. गुरुग्राम, लखनऊ, इंदौर और रांची में मेदांता मल्टी-सुपर स्पेशियालिटी हॉस्पिटल है. पटना में 2020 में आउटपेंशेट सर्विस शुरू की गई है. इसके अलावा दिल्ली एयरपोर्ट, साउथ दिल्ली और डीएलएफ साइबरसिटी में भी मेदांता अस्पताल के तीन क्लीनिक हैं.

    फिस्कल ईयर 2020 में अस्पताल चेन की कुल आमदनी 1478 करोड़ रुपए रही जबकि टैक्स चुकाने बाद नेट प्रॉफिट 61 करोड़ रुपये रहा.

    कार्लाइल ग्रुप की कंपनी में है 27 फीसदी हिस्सेदारी
    प्राइवेट इक्विटी इनवेस्टर्स कार्लाइल ग्रुप और टेमटेस की कंपनी में मेजॉरिटी स्टेक है. कार्लाइल ग्रुप के पास जहां 27 फीसदी स्टेक है वहीं टेमसेक के पास 18 फीसदी स्टेक है. 2013 में कार्लाइल कंपनी के बोर्ड में शामिल हुई थी जबकि टेमसेक ने 2015 में पैसा लगाना शुरू किया था. इस कंपनी पर डॉक्टर नरेश त्रेहान, उनके परिवार और मेदांता के को-फाउंडर सुनील सचदेवा का अधिकार है.

    ये भी पढ़ें- भारत का निर्यात जून में बढ़कर पहुंचा 32.5 अरब डॉलर, जानें कितना रहा व्यापार घाटा

    पीई इनवेस्टर्स लंबे समय से कंपनी से निकलने की कोशिश कर रहे हैं. 2019 में पीई इनवेस्टर्स ने मेदांता में अपनी हिस्सेदारी मणिपाल अस्पताल (Manipal Hospitals) को बेचने की कोशिश की थी लेकिन तब बात नहीं बन पाई थी. तब मेदांता की मर्चेंडाइज वैल्यू 5800-6000 करोड़ रुपये थी. मणिपाल अस्पताल ने बाद में कोलंबिया एशिया अस्पताल (Columbia Asia Hospitals) में हिस्सेदारी ली थी.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज