लाइव टीवी

मोदी सरकार की इस स्कीम का उठाएं फायदा, हर महीने घर बैठे आएंगे पैसे! ये है अप्लाई करने का तरीका

News18Hindi
Updated: December 6, 2019, 8:32 AM IST
मोदी सरकार की इस स्कीम का उठाएं फायदा, हर महीने घर बैठे आएंगे पैसे! ये है अप्लाई करने का तरीका
असंगठित क्षेत्र के लोग एनपीएस ट्रेडर्स स्कीम में योगदान कर 60 साल की उम्र के बाद हर माह 3 हजार रुपये का पेंशन प्राप्त कर सकते हैं.

असंगठित क्षेत्र में काम करने वाला कोई भी व्यक्ति एनपीएस ट्रेडर्स स्कीम (NPS Traders Scheme) के तहत 60 साल की उम्र के बाद हर माह 3,000 रुपये पेंशन के तौर पर प्राप्त कर सकता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 6, 2019, 8:32 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्र सरकार (Central Government) ने उन लोगों के लिए एक खास पेंशन स्कीम (Pension Scheme) पेश की है, जिनके पास नौकरी नहीं होती. असंगठित क्षेत्र (Unorganized Sector) के लोगों के लिए मोदी सरकार (Modi Government) के इस खास स्कीम का लक्ष्य है कि उन लोगों को भी पेंशन मिल सके जो संगठित क्षेत्र (Organized Sector) में नौकरी नहीं करते हैं. मोदी सरकार की इस खास पेंशन स्कीम में जीवन भर हर माह 3,000 रुपये की फिक्स्ड इनकम सुनिश्चित हो सकेगी.

NPS ट्रेडर्स स्कीम का लाभ कौन ले सकता है
इस स्कीम को रिटेल ट्रेडर्स, दुकानदार और सेल्फ एम्प्लॉइड (Self Employeed) लोग स​ब्सक्राइब कर सकते हैं. सेल्फ एम्प्लॉइड लोगों में दुकान के मालिक, रिटेल ट्रेडर्स, चावल और तेल मिल के मालिक, कमीशन एजेंट, रियल एस्टेट ब्रोकर्स, छोटे होटलों के मालिक, रेस्टोरेंट के ​मालिक और छोटे व्यापारी भी सब्सक्राइब कर सकते है.

ये भी पढ़ें: बढ़ने जा रहा किचन का बजट, प्याज के बाद इस चीज की कीमतों में तेजी

कौन एनपीएस ट्रेडर्स स्कीम का लाभ नहीं ले सकता है
जो लोग एनपीएस स्कीम या एम्प्लॉई प्रोविडेंट फंड यानी EPF, ESIC, और इनकम टैक्स (Income Tax) के दायरे में आने वाला व्यक्ति इस मोदी सरकार की एनपीएस ट्रेडर्स स्कीम का लाभ नहीं ले सकता है. सरकार की यह स्कीम उन लोगों की बुढ़ापे को वित्तीय रूप से सु​रक्षित करने को लेकर है, जो रिटेल ट्रेडर्स, दुकानदार या सेल्फ एम्प्लॉइड हैं.

कैसे काम करता है ये एनपीएस ट्रेडर्स स्कीम
यह एक तरह का स्वैच्छिक पेंशन स्कीम है, जिसका मतलब है कि अगर कोई व्यक्ति 60 साल की उम्र के बाद पेंशन का लाभ लेना चाहता है तो वो इस स्कीम को सब्सक्राइब कर इसमें योगदान दे सकता है. हर माह इस स्कीम में कितना योगदान करना है, ये इस बात पर निर्भर करेगा कि आवेदनकर्ता की उम्र कितनी है. सरकार भी इस स्कीम के तहत सब्सक्राइबर्स के खाते में योगदान देगी. 60 साल की उम्र के बाद सब्सक्राइबर को हर माह कम से कम 3,000 रुपये पेंशन का हकदार होगा. अगर सब्सक्राइबर की मौत हो जाती है तो उनके पति या पत्नी को इसका 50 फीसदी यानी 1,500 रुपये प्रति माह आजीवन मिलेगा.

ये भी पढ़ें: आज ही जान लें PAN और आधार कार्ड से जुड़ा ये नियम, नहीं तो खड़ी हो सकती है मुश्किल

मान लीजिए इस स्कीम को दो लोगों ने सब्सक्राइब किया है. इनमें से एक शख्स की उम्र 25 साल और दूसरे शख्स की उम्र 35 साल है. एनपीएस ट्रेडर्स चार्ट के अनुसार, 25 साल की उम्र वाले शख्स को हर माह 80 रुपये का योगदान देना होगा. वहीं, 35 साल के उम्र वाले लोगों को हर माह 150 रुपये का योगदान देना होगा. सरकार भी सामान रकम को सब्सक्राइबर के नाम पर जमा करेगी. यह योगदान 60 साल की उम्र तक होगा. 60 साल की उम्र के बाद दोनों लोगों को हर माह 3,000 रुपये की पेंशन मिल सकेगी.

कैसे ज्वाइन कर सकते हैं इस स्कीम को
इस स्कीम के लिए आवेदन करना बेहद ही आसान है. आवेदनकर्ता के पास बस केवल एक बैंक अकाउंट और आधार कार्ड होना चाहिए. देशभर में इसके लिए करीब 3.5 कॉमन सर्विस सेंटर्स हैं. एनपीएस ट्रेडर्स स्कीम में आवेदन करने वाला व्यक्ति इनमें से किसी भी सेंटर पर जाकर आवेदन कर सकता है.

ये भी पढ़ें: सरकार के इस फैसले से टीवी, टायर और काजू समेत ये चीजें हो सकती हैं महंगी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 6, 2019, 7:21 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर