अपना शहर चुनें

States

NPS Return: 30 साल की उम्र में अपनाएं ये रणनीति, 100 रुपये बचाकर दूर होगी पेंशन और रिटायरमेंट की चिंता

रिटायरमेंट के लिए NPS में निवेश की राशि के अलावा सही स्ट्रैटेजी भी जरूरी है.
रिटायरमेंट के लिए NPS में निवेश की राशि के अलावा सही स्ट्रैटेजी भी जरूरी है.

NPS Calculator: रिटर्न के मामले में NPS फिलहाल PPF पर भारी पड़ते दिख रहा है. ऐसे में निवेशक अगर थोड़ा जोख़िम उठाने की क्षमता रखता है तो उनके लिए NPS एक बेहतर विकल्प बन सकता है. NPS में जोखिम और रिटर्न में सही तालमेल से रिटायरमेंट फंड तैयार किया जा सकता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 27, 2021, 7:00 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. नेशनल पेंशन सिस्टम (NPS) स्कीम पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF) को रिटर्न के मामले में कड़ी टक्कर दे रहा है. निवेशक अब अपने रिटायरमेंट फंड पर भी विशेष ध्यान दे रहे हैं और इसके लिए वो जोखि़म उठाने के लिए भी तैयार हैं. जो निवेशक थोड़ा जोखिम उठाने के लिए तैयार हैं, उनके लिए पीपीएफ अकाउंट की तुलना में एनपीएस अकाउंट एक बेहतर विकल्प साबित हो रहा है. जानकारों का भी कहना है कि पीपीएफ में निवेश करने में किसी जोखिम की चिंता नहीं है, लेकिन एनपीएस स्कीम एक तरह की मार्केट लिंक्ड स्कीम है और इसका योगदान डेब्ट और इक्विटी मोड - दोनों में जाता है.

इन जानकारों का कहना है कि एनपीएस के तहत निवेशकों को इक्विटी और डेब्ट निवेश (Debt Investment) का अनुपात चुनने का विकल्प मिलता है. निवेशक चाहें तो वे 75 फीसदी इक्विटी मोड में भी निवेश कर सकते हैं. हालांकि, आमतौर पर अधिकतर निवेशक जोखि़म फैक्टर को कम करने और बेहतर रिटर्न की संभावनाओं को देखते हुए 60ः40 के अनुपात में निवेश की सलाह देते हैं.

यह भी पढ़ेंः PM Awas Yojana: मोदी सरकार प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत लाखों लोगों को आज देगी पैसा, चेक करें अपना नाम



कैसे करें 10 फीसदी सालाना रिटर्न की उम्मीद
अगर 60ः40 के अनुपात के आधार पर ही देखें तो लंबी अवधि में इसपर 12 फीसदी के रिटर्न की उम्मीद की जा सकती है. जबकि, डेब्ट में फ्लैट 8 फीसदी का रिटर्न मिल सकेगा. इस आधार पर देखें तो इक्विटी मोड में 60 फीसदी के निवेश से 30 साल में 7 फीसदी रिटर्न मिलेगा. जबकि डेब्ट मोड में यह करीब 3 फीसदी होगा. इस प्रकार कुल एनपीएस रिटर्न 10 फीसदी तक होगा.

40 फीसदी बैलेंस से खरीदें एन्युटी
इसके बाद जब निवेशक अपने रिटायरमेंट की उम्र में पहुंचेगा तो अपने कुल एनपीएस बैलेंस का 60 फीसदी हिस्सा निकाल सकता है. बाकी बचे हुए 40 फीसदी बैलेंस से एन्युटी (Annuity) खरीदी जा सकती है. एन्युटी की रकम पेंशन के रूप में प्राप्त की जा सकेगी. इसपर मिलने वाले रिटर्न से तय होगा कि पेंशन की रकम कितनी होगी. इस एन्युटी पर करीब 6-7 फीसदी तक की रिटर्न की उम्मीद की जा सकती है.

सोर्स: नेशनल पेंशन सिस्टम ट्रस्ट वेबसाइट


यह भी पढ़ेंः LIC NPS Fund ने 3 साल में दिया जबरदस्त रिटर्न, जानें आप कैसे कर सकते हैं मोटी कमाई


क्या है कैलकुलेशन?
अगर इस रणनीति के हिसाब से कैलकुलेशन करें तो 30 साल तक के लिए 3 हजार रुपये प्रति महीने के निवेश से 41,02,786 रुपये लम्पसम जुटाए जा सकते हैं. इसके साथ ही 13,676 रुपये का पेंशन भी मिलेगा. सरल भाषा में समझें तो अगर कोई व्यक्ति हर रोज़ 100 रुपये भी निवेश करता है तो वो रिटायरमेंट के बाद के जीवन को वित्तीय रूप से काफी हद तक सुरक्षित कर सकता है. उपरोक्त कैलकुलेटर में एन्युटी 40 फीसदी और इसपर मिलने वाला नेट रिटर्न सालाना 6 फीसदी पर लिया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज