लाइव टीवी

अब इस रूट पर भी दौड़ेगी पीएम मोदी की ड्रीम ट्रेन, हवाई जहाज जैसी सुविधाओं से लैस है ये Train

News18Hindi
Updated: October 3, 2019, 12:42 PM IST

वैष्णो देवी के दर्शनों को जाने वाले श्रद्धालुओं को भारतीय रेलवे ने दिया बड़ा तोहफा. आज देश के गृह मंत्री अमित शाह ने वंदे भारत एक्सप्रेस (Vande Bharat Express) को हरी झंडी दिखा दी है. बता दें कि वंदे भारत ट्रेन (Vande Bharat Express) में प्लेन जैसी खूबियां हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 3, 2019, 12:42 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. वैष्णो देवी के दर्शनों को जाने वाले श्रद्धालुओं को भारतीय रेलवे ने दिया बड़ा तोहफा. आज देश के गृह मंत्री अमित शाह ने वंदे भारत एक्सप्रेस (Vande Bharat Express) को हरी झंडी दिखा दी है. दिल्ली से कटरा के बीच चलने वाली ये हाईस्पीड ट्रेन आम आदमी के लिए 5 अक्टूबर से चलेगी.

इस ट्रेन को सेमी हाई स्पीड (Train-18) और सेमी बुलेट माना जा रहा है. दिल्ली से कटरा के बीच अभी ट्रेन से सफर करने में 12 घंटे लगते हैं जो वंदे भारत शुरू होने के बाद कम हो कर 8 घंटे हो जाएंगे. आपको बता दें कि 22439/22440 नई दिल्ली-श्री माता वैष्णों देवी कटड़ा-नई दिल्ली वंदे भारत एक्सप्रेस (T-18) (मंगलवार को छोड़कर सप्ताह में 6 दिन चलेगी.)

वंदे भारत में यात्रियों को मिलेंगी ये सुविधाएं
वंदे भारत ट्रेन में प्लेन जैसी खूबियां हैं. एसी, टीवी, ऑटेमैटिक दरवाजे, हाइक्लास पैंट्री और वॉशरूम इस ट्रेन में सबकुछ है.वंदे भारत एक्सप्रेस में 16 कार (कोच) लगे हैं और इसमें बैठने के लिए 1128 सीट हैं. इसमें सामान्य चेयर कार के 14 डब्बे लगे हैं जिनमें 936 सीट हैं जबकि 2 एक्ज़िक्यूटिव चेयर कार में 104 सीट हैं.

ये भी पढ़ें- PPF, सुकन्या, NSC पर सरकार ने लिया ये बड़ा फैसला

>> पहली वंदे भारत ट्रेन जब ट्रैक पर उतरी थी तो पत्थरबाजों ने कई बार इसे निशाना बनाया. शकूरबस्ती रेल शेड से निकलते ही इस ट्रेन को निशाना बना लिया जाता था.


Loading...

>> कई बार चलती ट्रेन पर भी पत्थर फेंका गया, जिससे विंडो का शीशा क्षतिग्रस्त हो जाता था. इसे ध्यान में रखकर इस बार विंडो के शीशे को मजबूती दी गई है.

>> अब पत्थर फेंके जाने का असर इस पर नहीं पड़ेगा और यात्री भी बिना डर के यात्रा कर सकेंगे. पहली वंदे भारत में पेंट्री की सुविधा नहीं होने से खाना परोसने में परेशानी हो रही थी.

>> दिल्ली-कटरा के बीच चलने वाली दूसरी वंदे भारत ट्रेन में अलग से पेंट्री के लिए जगह की व्यवस्था की गई है. विमान की तर्ज पर खाने को गर्म करने की व्यवस्था होगी. आइसक्रीम रखने की भी अलग से व्यवस्था है.

>> आपको बता दें, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस साल 15 फरवरी को स्वदेशी ट्रेन 18 को हरी झंडी दिखाई थी, जिसका नाम बदल कर वंदे भारत एक्सप्रेस कर दिया गया था.इसका संचालन नई दिल्ली से प्रधानमंत्री के लोकसभा क्षेत्र वाराणसी तक किया जा रहा है.



 वंदे भारत एक्सप्रेस का ये है रुट 
गाड़ी संख्या 22439 नई दिल्ली-माता वैष्णों देवी कटरा वंदे भारत एक्सप्रेस (टी-18) की नियमित सेवा दिनांक 05.10.2019 से नई दिल्ली से प्रारम्भ होगी. यह रेलगाड़ी नई दिल्ली से सुबह 06.00 बजे प्रस्थान करके उसी दिन दोपहर 02.00 बजे श्री माता वैष्णों देवी कटरा पहुंचेगी.

>> वापसी दिशा में 22440 श्री माता वैष्णों देवी कटड़ा-नई दिल्ली वंदे भारत एक्सप्रेस (टी-18) श्री माता वैष्णों देवी कटड़ा से दोपहर 03.00 बजे प्रस्थान कर उसी दिन रात्रि 11.00 बजे नई दिल्ली पहुंचेगी.

>> दोनों ओर से इस रेलगाड़ी की नियमित सेवा दिनांक 05.10.2019 से प्रारम्‍भ होगी तथा यह रेलगाड़ी मंगलवार को छोड़कर सप्ताह में 6 दिन चलेगी.

ये भी पढ़ें-ग्राहकों की शिकायत के लिए सरकार ने लॉन्च किया Consumer App



>> दो वातानुकूलित एग्जीक्यूटिव कुर्सीयान और बारह कुर्सीयान के डिब्बों वाली यह रेलगाड़ी मार्ग में अम्बाला छावनी, लुधियाना और जम्मूतवी स्टेशनों पर आते और जाते वक्त रुकेगी.

वंदे भारत का इतना होगा किराया
वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन में नई दिल्ली से कटरा जाने के लिए आपको चेयरकार क्लास में लगभग 1630 रुपये किराया देना होगा.

>> इसमें 1120 रुपये बेस फेयर है. वहीं 40 रुपये रिवर्जेशन चार्ज है. 45 रुपये सुपरफास्ट चार्ज और 61 रुपये GST है. कैटरिंग चार्ज के तौर पर 364 रुपये देने होंगे.

>> Vande Bharat Express में एक्जीक्यूटिव चेयरकार के लिए आपको लगभग 3015 रुपये किराया देना होगा. बेस फेयर के तौर पर आपको 2337 रुपये देने होंगे.

>> वहीं 60 रुपये रिजर्वेशन चार्ज लगेगा. 75 रुपये सुपरफास्ट चार्ज और 124 रुपये GST है. कैटरिंग चार्ज के तौर पर 419 रुपये देने होंगे.

(दिपाली नंदा, संवाददाता, CNBC आवाज़)

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 3, 2019, 10:40 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...