Home /News /business /

क्रिप्टो की महामाया : 3 महीनों में 30,000 बिटकॉइन करोड़पतियों का बाजार से सफाया

क्रिप्टो की महामाया : 3 महीनों में 30,000 बिटकॉइन करोड़पतियों का बाजार से सफाया

बिटकॉइन तीन महीनों के बाद तेजी देखी जा रही है.

बिटकॉइन तीन महीनों के बाद तेजी देखी जा रही है.

क्रिप्टो की महामाया : बिटकॉइन तीन महीनों में 69,000 डॉलर से गिरकर 36,000 डॉलर तक आ गया है. ऐसे में बाजार से लगभग 30,000 बिटकॉइन करोड़पतियों का सफाया (Bitcoin Millionaires Wiped Off) हो चुका है.

नई दिल्ली. पिछले कुछ दिनों से लगातार गिर रहे क्रिप्टो बाजार के चलते कई धुरंधर खिलाड़ी बाजार से साफ हो गए हैं. पिछले 3 महीनों में लगभग 30,000 बिटकॉइन मिलेनियर्स का सफाया (Bitcoin Millionaires Wiped Off) हो चुका है. बिटकॉइन 69,000 डॉलर से गिरकर 36,000 डॉलर तक आ गया है. बिटकॉइन (Bitcoin Price) या कहें कि पूरी क्रिप्टो मार्केट में आई इस तगड़ी गिरावट के लिए अलग-अलग देशों में रेगुलेटरी को लेकर उठे सवाल और जियो-पोलिटिकल अशांति जिम्मेदार है.

आर्थिक जगत की खबरों से संबंधित एक न्यूज़ पोर्टल फिनबोल्ड (Finbold) के डेटा के अनुसार, अक्टूबर 2021 से लेकर जनवरी 2022 तक उन लोगों की संख्या में 24.26% की कमी हुई है, जिनके पास एक मिलियन डॉलर से ज्यादा की बिटकॉइन होल्डिंग थी. यदि इन्हें नंबरों में देखा जाए तो यह 28,186 होता है. मतलब यह कि इन 3 महीनों में 28,186 लोग ऐसे हैं, जिनके पास अब एक मिलियन डॉलर से ज्यादा की बिटकॉइन होल्डिंग नहीं है, जबकि पहले थी. एक पंक्ति में कहें तो बिटकॉइन-रिच लिस्ट अब पहले के मुकाबले एक-तिहाई रह गई है.

ये भी पढ़ें – Multibagger stocks: इस कैमिकल स्टॉक ने दिया 1 लाख के बना दिए 69 लाख रुपये!

क्या कहते हैं आंकड़े

रिपोर्ट में कहा गया है कि एक लाख डॉलर ($100,000) से ज्यादा होल्डिंग्स वाले वॉलेट्स की संख्या में 30.04 प्रतिशत की गिरावट आई है. पहले ऐसे वॉलेट्स 505,711 थे, और अब ये 353,763 रह गए हैं. इसके अलावा, 10 लाख डॉलर तक की होल्डिंग्स तक वाले एड्रेस 23.5 प्रतिशत गिरकर 80,945 रह गए हैं, जोकि पहले 105,820 थे. अगर बात करें 10 लाख डॉलर से ज्यादा वाले होल्डिंग वॉलेट्स की तो इसमें 32.08 प्रतिशत की कमी आई है. ये पहले 10,319 थे, परंतु अब 7,008 ही रह गए हैं.

ये भई पढ़ें – राकेश झुनझुनवाला के पोर्टफोलियो में शामिल यह स्‍टॉक देगा बंपर रिटर्न! नाम है..

नियामक संबंधी जांच (Regulatory Scrutiny), अशांत बाजार, भू-राजनीतिक अशांति और कोविड जैसे कई कारणों के चलते इस एसेट के प्रदर्शन पर नकारात्मक असर हुआ है. हालांकि, इस साल की अस्थिर शुरुआत के बावजूद, कई विश्लेषकों ने इस एसेट की सराहना करना जारी रखा है और वे इसे बढ़ती मुद्रास्फीति के खिलाफ बचाव का उपाय मानते हैं.

Tags: Bitcoin, Cryptocurrency

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर