• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • नेपाल ने बैन किए भारत के 200, 500 और 2000 के नोट, बताई ये वजह

नेपाल ने बैन किए भारत के 200, 500 और 2000 के नोट, बताई ये वजह

राहत 2)
>> छोटे कारोबारियों को मुफ्त में दुर्घटना बीमा की सुविधा देने का प्रस्ताव है.
>> दुर्घटना बीमा की रकम 5 से 10 लाख रु तक हो सकती है.
>> कारोबारियों के टर्नओवर के हिसाब से बीमा की रकम तय होगी.
>> जीएसटी के तहत रजिस्टर्ड कारोबारियों को ही बीमा होगा.

राहत 2) >> छोटे कारोबारियों को मुफ्त में दुर्घटना बीमा की सुविधा देने का प्रस्ताव है. >> दुर्घटना बीमा की रकम 5 से 10 लाख रु तक हो सकती है. >> कारोबारियों के टर्नओवर के हिसाब से बीमा की रकम तय होगी. >> जीएसटी के तहत रजिस्टर्ड कारोबारियों को ही बीमा होगा.

8 नवंबर 2016 को भारत सरकार ने देश में 500-1000 रुपए के नोटों के चलन पर रोक लगा दी थी. लेकिन अब नेपाल ने भारतीय नोटों के चलन पर रोक लगा दी है.

  • Share this:
    8 नवंबर 2016 को भारत सरकार ने देश में 500-1000 रुपए के नोटों के चलन पर रोक लगा दी थी. लेकिन अब नेपाल ने भारतीय नोटों के चलन पर रोक लगा दी है. नेपाल सरकार ने 100 रुपये से अधिक के भारतीय नोटों के प्रचलन पर रोक लगा दी है. नेपाल के प्रमुख अखबार काठमांडू पोस्ट की रिपोर्ट के मुताबिक सरकार ने तत्काल प्रभाव से इस फैसले को लागू करने का आदेश दिया है.

    नेपाल के सूचना एवं प्रसारण मंत्री गोकुल प्रसाद बसकोटा के मुताबिक सरकार ने लोगों से कहा है कि वे 100 रुपये से ज्यादा के यानी 200, 500 और 2,000 रुपये के नोटों को न रखें. इन्हें अमान्य करार दिया जा चुका है. सिर्फ 100 रुपये के भारतीय नोट को ही नेपाल में कारोबार एवं अन्य चीजों के लिए स्वीकार किया जा सकेगा.

    ये भी पढ़ें: फ्री नहीं होता है डेबिट कार्ड, वसूला जाता है मोटा पैसा

    बता दें कि नेपाल में 200 और 500 रुपये के नोटों का नेपाल में बड़े पैमाने पर इस्तेमाल होता है. नवंबर 2016 में भारत सरकार की ओर से 500 और 1000 रुपये के पुराने नोटों के प्रचलन को बंद करने से नेपाल में अब भी पुरानी भारतीय करंसी के अरबों रुपये फंसे हुए हैं.

    ये भी पढ़ें: नौकरी वालों के लिए बड़ी खबर! अगर नहीं दिए ये डॉक्युमेंट तो कट जाएगी आपकी सैलरी

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन