समय है हाथ में सैनिटाइज़र रख खुद को सुरक्षित रखने का!

साल 2020 में लोगों ने इंटरनेट पर जमकर घर पर सैनिटाइजर बनाने की विधि सर्च की.

साल 2020 में लोगों ने इंटरनेट पर जमकर घर पर सैनिटाइजर बनाने की विधि सर्च की.

हम हर वक्त साबुन और पानी से हाथ नहीं धो सकते हैं तो ऐसे में एक अच्छा एलकोहॉल बेस्ड हैंड सैनिटाइज़र अपने साथ रखना बेहद ज़रूरी है, क्योंकि ये ही हमारी इन कीटाणुओं से रक्षा कर सकता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 4, 2021, 2:58 PM IST
  • Share this:

हम ऐसी दुनिया में रहते हैं जहाँ हर कोई भाग-दौड़ में लगा है और ऐसे में हम जहाँ भी आए-जाएं वहां हानिकारक कीटाणुओं का हमला कब हो जाए कुछ कहा नहीं जा सकता है. क्योंकि हम हर वक्त साबुन और पानी से हाथ नहीं धो सकते हैं तो ऐसे में एक अच्छा एलकोहॉल बेस्ड हैंड सैनिटाइज़र अपने साथ रखना बेहद ज़रूरी है, क्योंकि ये ही हमारी इन कीटाणुओं से रक्षा कर सकता है.

घर पर

कभी सोचा है कि आप घर आने वाले मेहमान या फिर रोज़ घर आने वाली काम वाली बाई भी आप के घर में कीटाणु और वायरस लेकर आ सकते हैं? तो ऐसे में आप उन कीटाणुओं को घर में चारों ओर फैलने से कैसे रोक सकते हो? कुछ नहीं, आपको बस दरवाजों पर हैंड सैनिटाइज़र अच्छी तरह लगाना है. आपको ध्यान रखना है कि घर में बाहर से आने वाला हर व्यक्ति अपने हाथों को हैंड सैनिटाइज़र से साफ करें जिससे आप अपने घर को कीटणुओं से मुक्त रख सको.


ऑफिस में

ऐसे जगहें जिन्हें आप दूसरे लोगों के साथ शेयर करते हो जैसे कांफ्रेंस रूम, बाथरूम, कैफेटेरिया और लिफ्ट के बटन भी आप तक कीटाणुओं को आसानी से पहुंचा सकते हैं. अब चाहे आप लोगों से दूरी बनाकर सभी सावधानियों का ध्यान रख रहे हों, लेकिन आप अंजाने में कई ऐसी जगहों को छू सकते हैं जो दूषित हैं. जैसे चेयर, टेबल या मार्कर आदि क्योंकि इन चीजों को हर कोई छूता है. वायरस इन पर हों सकते हैं और आपके छूने से आप तक भी आ सकते हैं. इसलिए बेहतर है कि आप एक अच्छा हैंड सैनिटाइज़र अपने साथ रखें, जिससे तुरंत इन वायरस को फैलने से रोका जा सके.




यात्रा के दौरान

कभी ध्यान दिया है कि कैब/टैक्सी का दरवाजा कितने लोग छूते हैं और हर दिन उनसे कितने कीटाणु आपके हाथों से होते हुए आपके मुँह आपकी आँखों तक पहुँचते हैं। अब कैब के दरवाजे को छूना तो आप टाल नहीं सकते लेकिन आप अपने साथ एक सैनिटाइज़र रख कर अपने हाथों से कीटाणुओं को ज़रूर भगा सकते हैं.


वहीं कैश/रुपए भी कीटाणुओं के एक व्यक्ति से दूसरे तक पहुँचने का एक बड़ा माध्यम हो सकता है. क्योंकि रुपयों को तो हर कोई छूता है. आप नहीं सोच सकते कि रुपए किन किन गंदी जगहों से हाथों से होकर आप तक आ रहे हैं. इसलिए ये हमेशा बेहतर होता है कि आप ऑनलाइन पेमेंट करें और अपने आप को और ड्राइवर को वायरस की चपेट में आने से बचाएं. ये उतना ही ज़रूरी है जितना हैंड सैनिटाइज़र का इस्तेमाल करना, जो कि तुरंत ही कीटाणुओं का खात्मा कर सकता है.

रेस्टोरेंट या कैफे में

अब धीरे-धीरे रेस्टोरेंट और अन्य जगहें खुल रही हैं. ऐसे में इन कीटाणुओं से लड़ने में आपको और ज्यादा सावधानी बरतनी होगी. दरवाजों के हैंडल, कुर्सी और ऐसी वो चीज़ें जिन्हें हजारों लोग दिनभर में छूते हैं उनसे सावधान रहें. एक बहुत अच्छी क्वालिटी का हैंड सैनिटाइज़र इस्तेमाल करना बहुत ज़रूरी है. ताकि उसका असर लंबे समय तक रहे और वो आपको भी सुरक्षित रखे.


ये कुछ ऐसी परिस्थितयां हैं जब हम किसी भी तरह का चांस नहीं ले सकते हैं. हमें बहुत अधिक सावधान रहना होगा और खुद को व अपने आस-पास वालों को भी हर वक़्त सुरक्षित रखना होगा. एक बढ़िया तरह से तैयार किया गया हैंड सैनिटाइज़र ही कीटाणुओं और बिमारियों से लड़ने में हमारी मदद कर सकता है. अब आपको कहीं और जाने की ज़रूरत नहीं है क्योंकि Nerolac Hand Sanitizer, एक WHO द्वारा सुझाया forrmulationहै जो 99.99% कीटाणुओं, जैसे कि वायरस, bacteria और फंगस को मारता है. इसमें 75% alcohol है. इसमें  ग्लिसरॉल होने की वजह से ये आपकी त्वचा को मुलायम रखता है. ये ट्रैवल फ्रेंडली हैंड सैनिटाइज़र इस्तेमाल करने में आसान है. इसकी बस 5ml मात्रा हाथों में लगाने से आपको सुरक्षा मिल सकती है.

पब्लिक ट्रांसपोर्ट में घंटों यात्रा करने, सबके साथ एक ही बाथरूम शेयर करते या किसी रिश्तेदार या अस्पताल में आने जाने में हमारे हाथ कीटाणुओं के सीधे सम्पर्क में आते हैं. इसलिए एक बेहतर और अच्छे टूल जैसे Nerolac Hand Sanitizer के इस्तेमाल की आदत डाल लेना अच्छा है, जिससे न तो कीटाणुओं से हमारा मिलना होगा न ही कोई बीमारी हमें छू पाएगी.

खरीदने के लिए यहां क्लिक करें: amazon.in/nerolac

यह पार्टनर्ड पोस्ट है. 

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज