Corona Impact: नाइट फ्रैंक की रिपोर्ट में दावा- दिल्ली-मुंबई में सस्ते हुए लग्जरी होम

प्रतीकात्मक तस्वीर

प्रतीकात्मक तस्वीर

नाइट फ्रैंक की प्राइम ग्लोबल सिटीज इंडेक्स रिपोर्ट के मुताबिक, लक्जरी संपत्तियों के दाम में होने वाली सालाना मूल्य वृद्धि के मामले में नई दिल्ली वैश्विक स्तर पर 32वें स्थान पर पहुंच गया है.

  • Share this:

नई दिल्ली. देश इस वक्त कोरोना वायरस (Coronavirus) की दूसरी लहर से जूझ रहा है. मृतकों को संख्या लगातार बढ़ती जा रही है. रियल एस्टेट सेक्टर पर भी कोरोना की दूसरी लहर का असर पड़ रहा है. प्रॉपर्टी कंसल्टेंसी कंपनी नाइट फ्रैंक (Knight Frank) की एक रिपोर्ट के मुताबिक वैश्विक स्तर पर लग्जरी रेजिडेंशियल प्रॉपर्टीज के भाव में सालाना बढ़ोतरी के मामले में बेंगलुरु चार स्थान नीचे खिसक गया है जबकि दिल्ली और मुंबई भी एक-एक स्थान नीचे खिसक गए हैं.

बेंगलुरु चार स्थान फिसलकर 40वें स्थान पर पहुंचा

नाइट फ्रैंक की प्राइम ग्लोबल सिटीज इंडेक्स रिपोर्ट के मुताबिक, लक्जरी संपत्तियों के दाम में होने वाली सालाना मूल्य वृद्धि के मामले में बेंगलुरु वैश्विक स्तर पर 40वें स्थान पर पहुंच गया. वहीं नई दिल्ली और मुंबई भी एक-एक स्थान खिसकने के बाद क्रमश: 32वें और 36वें स्थान पर पहुंच गए हैं. नाइट फ्रेंक की पिछली रिपोर्ट में दिल्ली 31वें और मुंबई 35वें तथा बेंगलुरु 36वें स्थान पर था. बेंगलुरु की प्रमुख आवास कीमतों में जनवरी-मार्च के दौरान 2.7 फीसदी की कमी दर्ज की गई जिसकी वजह से वैश्विक सूची में उसका स्थान गिर गया है.

इस साल की पहली तिमाही में दिल्ली का औसत मूल्य 33,572 रुपये प्रति वर्ग फुट रहा
वही इस साल की पहली तिमाही के दौरान दिल्ली का औसत मूल्य 0.2 फीसदी से घटकर 33,572 रुपये प्रति वर्ग फुट रहा. मुंबई की प्रमख आवासीय संपत्ति बाजार में जनवरी-मार्च के दौरान दाम 1.5 फीसदी गिरकर 63,758 रुपये प्रति वर्ग फुट रह गया.

अनुकूल स्थानों पर स्थित प्रमुख आवासीय संपत्ति किसी भी विशेष क्षेत्र में सबसे शानदार और सबसे महंगी संपत्ति मानी जाती है. प्राइम ग्लोबल सिटीज़ इंडेक्स की सूची में चीन का शेन्ज़ेन शहर इस वर्ष की पहली तिमाही के दौरान 18.9 फीसदी वार्षिक उछाल के साथ पहले स्थान पर है. न्यूयॉर्क सबसे कमजोर प्रदर्शन करने वाला शहर रहा और 5.8 फीसदी की गिरावट के साथ 46वें स्थान पर पर पहुंच गया.

ये भी पढ़ें- कोरोना वैक्सीन के पेटेंट में छूट को लेकर भारत की पहल पर अमेरिका ने दिया WTO में समर्थन



नाइट फ्रैंक भारत के अध्यक्ष और एमडी शिशिर बैजल ने कहा, ''भारत में पहली तिमाही के दौरान प्रमुख आवासीय संपत्तियों के मूल्य में कमी का कारण कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर, पूंजी बाजार में अधिक नकदी समेत कई अन्य कारण हैं.''

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज