• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • सरकार के एक फैसले से इंश्योरेंस कंपनियों की हुई चांदी, 1 महीने में हुई ₹2500 करोड़ की कमाई

सरकार के एक फैसले से इंश्योरेंस कंपनियों की हुई चांदी, 1 महीने में हुई ₹2500 करोड़ की कमाई

ऑटो सेक्टर में स्लोडाउंड के बावजूद मोटर इंश्योरेंस कंपनियों का बिजनेस बढ़ा

ऑटो सेक्टर में स्लोडाउंड के बावजूद मोटर इंश्योरेंस कंपनियों का बिजनेस बढ़ा

नए मोटर व्हीकल एक्ट (New Motor Vehicle Act) लागू होने से सितंबर में नॉन-लाइफ इंश्योरेंस कंपनियों का मोटर इंश्योरेंस प्रीमियम सितंबर में बढ़कर 32,400 करोड़ रुपये हो गया. पिछले महीने मोटर इंश्योरेंस प्रीमियम 269,871 करोड़ रुपये था.

  • Share this:
    नई दिल्ली. ऑटो सेक्टर में स्लोडाउंड के बावजूद नए मोटर व्हीकल एक्ट (New Motor Vehicle Act) में जुर्माने में इजाफे से सितंबर में थर्ड पार्टी मोटर इंश्योरेंस (Third Party Motor Insurance) की खरीदारी बढ़ी है. गाड़ियों की बिक्री में 24 फीसदी गिरावट के बावजूद थर्ड पार्टी मोटर इंश्योरेंस पॉलिसी (Third Party Motor Insurance Policy) की बिक्री में 38 फीसदी का इजाफा हुआ है. सितंबर में ओवरऑल इंश्योरेंस बिजनेस में 18 फीसदी की तेजी आई है.

    सितंबर में मोटर इंश्योरेंस प्रीमियम बढ़ा
    टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, नए मोटर व्हीकल एक्ट लागू होने से सितंबर में नॉन-लाइफ इंश्योरेंस कंपनियों का मोटर इंश्योरेंस प्रीमियम सितंबर में बढ़कर 32,400 करोड़ रुपये हो गया. पिछले महीने मोटर इंश्योरेंस प्रीमियम 29,871 करोड़ रुपये था. मोटर प्रीमियम (थर्ड-पार्टी और ओन डैमेज) में कुल ग्रोथ 21 फीसदी रही. इससे पता चलता है कि मौजूदा गाड़ी के मालिक मोटर इंश्योरेंस खरीद रहे हैं.

    ये भी पढ़ें: नौकरी करने वालों के लिए बड़ी खबर! बदल सकता है PF के साथ कटने वाली पेंशन निकालने का नियम

    कोटक सिक्युरिटीज की रिपोर्ट के मुताबिक, सरकारी कंपनियों में सालाना आधार पर 22 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज हुई, जबकि चालू वित्त वर्ष के पहले 5 महीने में 3 फीसदी की गिरावट रही थी. बड़ी कंपनियों जैसे SBI जेनरल और HDFC Ergo में क्रमश: 79 फीसदी और 93 फीसदी की ग्रोथ रही. बजाज में 53 फीसदी की बढ़ोतरी हुई.

    नए मोटर व्हीकल एक्ट में कितना है जुर्माना
    नए मोटर व्हीकल एक्ट में थर्ड-पार्टी लायबिलिटी कवर अनिवार्य है. पहली बार बिना इंश्योरेंस के पकड़े जाने पर 2,000 रुपये का जुर्माना लगता है. यही गलती दोहराने पर 4,000 रुपये चुकाने पड़ते हैं. इंश्योरेंस कंपनियों का कहना है कि नए मोटर व्हीकल एक्ट में जुर्माने में बढ़ोतरी से थर्ड-पार्टी मोटर इंश्योरेंस की बिक्री बढ़ी है.

    IRDAI की वार्षिक रिपोर्ट के मुताबिक, भारत में इंश्योरेंस प्रीमियम GDP का करीब 3.6 फीसदी है, जबकि जनरल इंश्योरेंस कंपनी की हिस्सेदारी 0.93 फीसदी है. देश में अभी भी बड़ी संख्या में फोर-व्हीलर्स औऱ टू-व्हीलर्स का इंश्योरेंस नहीं है. लेकिन नए नियम की वजह से इसमें तेजी की पूरी संभावना है.

    ये भी पढ़ें: दिवाली से पहले 700 रुपये तक सस्ता सोना खरीदने का मौका, साथ में मिलेंगे तीन बड़े फायदें

     

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज