Home /News /business /

Income Tax की नई व्‍यवस्‍था में हो सकता है बदलाव, महज 5 फीसदी ने ही अपनाई

Income Tax की नई व्‍यवस्‍था में हो सकता है बदलाव, महज 5 फीसदी ने ही अपनाई

1 फरवरी को वित्‍तमंत्री Nirmala Sitharaman इस साल का Budget पेश करने वाली हैं.

1 फरवरी को वित्‍तमंत्री Nirmala Sitharaman इस साल का Budget पेश करने वाली हैं.

सरकार ने बजट 2020 में आयकर की दो अलग व्‍यवस्‍थाएं पेश की थीं. नई व्‍यवस्‍था (New Tax Regime) के तहत टैक्‍स रेट में तो कटौती कर दी गई थी, लेकिन सभी तरह की छूट को खत्‍म कर दिया था. यही कारण है कि 2021-22 में रिटर्न भरने वाले महज 29 लाख लोगों ने नई इनकम टैक्‍स व्‍यवस्‍था को अपनाया है.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्‍ली. केंद्र सरकार ने दो साल पहले पेश किए गए बजट में आयकर (Income Tax) के इतिहास में पहली बार दो अलग व्‍यवस्‍थाएं बनाई थीं. सरकार को उम्‍मीद थी कि यह Taxpayers को लुभाने में कामयाब रहेगी, लेकिन नई व्‍यवस्‍‍‍‍‍था (New Tax Regime) से महज 5 फीसदी करदाता ही जुड़े. इसे देखते हुए सरकार 1 फरवरी 2022 को पेश होने वाले बजट में नई टैक्‍स व्‍यवस्‍था को और आकर्षक बना सकती है.

टैक्‍स पोर्टल Clear के फाउंडर और सीईओ अर्चित गुप्‍ता का कहना है कि वित्‍त मंत्रालय ने नए New Tax Regime को लेकर काफी मंथन किया और इसकी असफलता के कारणों को जाना. समीक्षा में पता चला है कि दो Tax Regimes को लेकर लोगों में कंफ्यूजन पैदा हो गया है. एसेसमेंट ईयर 2021-22 में 5.89 करोड़ करदाताओं ने रिटर्न भरा है, जिसमें से महज 5 फीसदी यानी 29.4 लाख लोगों ने नई व्‍यवस्‍था अपनाई है.

ये भी पढ़ें – जब शेयर बाजार गिरता है तो कहां चला जाता है आपका पैसा, जानें इसका फंडा

क्‍यों फेल हो रहा नया टैक्‍स सिस्‍टम
नई Income Tax व्‍यवस्‍था से कॉरपोरेट करदाता तो काफी खुश नजर आए, लेकिन व्‍यक्तिगत करदाताओं ने इससे दूरी बना ली. वित्‍त मंत्रालय (Ministry of Finance) ने पाया कि नई व्‍यवस्‍था में टैक्‍स छूट के विकल्‍पों को खत्‍म किए जाने के बाद यह ज्‍यादा आकर्षक नहीं रहा. साथ ही इससे लोगों की सेविंग पर भी असर पड़ा, क्‍योंकि अधिकतर लोग टैक्‍स बचाने के लिए ही सेविंग करने पर जोर देते हैं. नई Income Tax व्‍यवस्‍था में सेविंग पर टैक्‍स छूट पूरी तरह खत्‍म हो गई थी.

ये भी पढ़ें – एलआईसी से खरीदी है पॉलिसी, अब घर बैठे चेक कर सकते हैं अपना स्‍टेटस

मिल सकती हैं कई तरह की छूट
वित्‍तमंत्री निर्मला सीतारमण (FM Nirmala Sitharaman) इस बार के बजट में Income Tax की नई व्‍यवस्‍था के तहत भी कई तरह की छूट का ऐलान कर सकती हैं. अर्चित गुप्‍ता का कहना है कि कुछ शर्तों के साथ होम लोन पर टैक्‍स छूट और स्‍टैंडर्ड डिडक्‍शन (Standard Deduction) पर मिल रही छूट को Income Tax की नई व्‍यवस्‍था में भी शामिल किया जा सकता है. इसके अलावा highest tax slab की लिमिट को भी मौजूदा 15 लाख से बढ़ाकर 20 लाख रुपये किया जा सकता है.

ये भी पढ़ें – यहां मिलेगा बैंकों से ज्‍यादा ब्‍याज, बचत खाते से एफडी तक जानें पूरी डिटेल

क्‍या हैं नए Income Tax Slab के रेट
Income Tax के नए स्‍लैब में 2.5 लाख की सालाना आय पर कोई टैक्‍स नहीं लगता. वहीं, 2.5 लाख से 5 लाख तक आय पर 5 फीसदी टैक्‍स लगता है. फिर 5 से 7.5 लाख तक 10 फीसदी और 7.5 लाख से 10 लाख तक 15 फीसदी Income Tax देना पड़ता है. इसके अलावा 10 लाख से 12.5 लाख तक की आय पर 20 फीसदी, 12.5 से 15 लाख रुपये तक की आय पर 25 फीसदी और 15 लाख से ऊपर की आय पर 30 फीसदी की दर से Income Tax चुकाना पड़ता है.

Tags: Budget, Income tax

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर