BSE500 index के 28 स्टॉक्स में दिखी 10-30% की बढ़त, मेटल में गिरावट तो पीएसयू बढ़त में रहे

share market

share market

मुंबई. कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते अलग-अलग राज्यों में लॉकडाउन और अमेरिका में कमोडिटी कीमतों में बढ़ोतरी से दलाल स्ट्रीट की लगाम बीयर्स के हाथ में आती हुई दिखी। बढ़ती महंगाई के बीच ब्याज दरों की बढ़ती संभावनाओं के चलते भी बाजार में कमजोरी का रूख रहा.

  • Share this:

मुंबई. कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते अलग-अलग राज्यों में लॉकडाउन और अमेरिका में कमोडिटी कीमतों में बढ़ोतरी से दलाल स्ट्रीट की लगाम बीयर्स के हाथ में आती हुई दिखी। बढ़ती महंगाई के बीच ब्याज दरों की बढ़ती संभावनाओं के चलते भी बाजार में कमजोरी का रूख रहा. इस कारण सेंसेक्स और निफ्टी कल अपने अहम सपोर्ट लेवल के नीचे बंद हुए हैं।

इस हफ्ते सेंसेक्स और निफ्टी करीब 1 फीसदी नीचे बंद हुए

14 मई को खत्म हुए हफ्ते में सेंसेक्स और निफ्टी करीब 1 फीसदी नीचे बंद हुए हैं। जबकि BSE का मिड कैप इंडेक्स 0.49 फीसदी और BSE का स्माल कैप इंडेक्स 0.48 फीसदी नीचे बंद हुए हैं। अभी तक सेंसेक्स और निफ्टी की तुलना में स्माल और मिड कैप इंडेक्स ने बेहतर प्रदर्शन किया है। जानकारों का कहना है कि आने वाले हफ्ते में भी छोटे मझोले शेयरों का तुलनात्मक रूप से बेहतर प्रदर्शन जारी रहेगा।

प्रमुख स्टॉक
S&P BSE 500 इंडेक्स में ऐसे करीब 28 स्टॉक्स हैं जिनमें 14 मई को समाप्त हफ्ते में 10-30 फीसदी की बढ़त देखने को मिली। इनमें BEML, Wockhardt, Suzlon Energy, Indian Bank, SpiceJet, Birla Corp, PTC India, Omaxe, और Venkys India Ltd के नाम शामिल हैं। अलग-अलग सेक्टर्स पर नजर डालें तो 14 मई को खत्म हुए हफ्ते में Capital Goods, power, infra के साथ-साथ Utilities में 2 फीसदी से ज्यादा की बढ़ोतरी देखने को मिली। वहीं IT, banks, realty में मुनाफा वसूली देखने को मिली।

मेटल सेक्टर में गिरावट रही

Kotak Securities के रश्मिक ओझा का कहना है कि इस साल के शुरुआत से ही अब तक जबरजस्त बढ़त दिखाने वाले मेटल इंडेक्स में इस हफ्ते 4 फीसदी की गिरावट देखने को मिली। वहीं BSE कैपिटल गुड्स में 4 फीसदी की बढ़त देखने को मिली। जबकि BSE Utilities में 2.7 फीसदी की बढ़त देखने को मिली।



यह भी पढ़ें- तिमाही रिजल्ट के बाद राकेश झुनझुनावाला के पोर्टफोलियों में शामिल इस शेयर पर क्या है दिग्गजों की राय

PSU स्टॉक इस हफ्ते के बड़े गेनर

उन्होंने आगे कहा कि PSU स्टॉक इस हफ्ते के बड़े गेनरों में रहे। उन्होंने आगे कहा कि कोरोना के कारण अलग-अलग राज्यों में लागू लॉकडाउन इस बार उतना प्रभाव नहीं डाल रहा है, जितना पिछली बार के नेशन वाइड लॉकडाउन में डाला था। रस्मिक ओझा का यह भी कहना है कि 10 साल बॉन्ड यील्ड में स्थिरता और भारतीय मुद्रा की मजबूती से भी भारतीय बाजार को सहारा मिल रहा है।

टेक्निकल व्यू

टेक्निकल एक्सपर्ट्स का मानना है कि डाउन साइड पर 14,400 और अपसाइड पर 14,900-15000 के लेवल के बीच में निफ्टी कंसोलिडेट हो रहा है। अगर निफ्टी 14,400 के आसपास फिसलता है तो यह ट्रेडर्स के लिए खरीदारी का मौका होगा।

क्या रहेगा बाजार का रूख

ICICIdirect के धर्मेश शाह का कहना है किआने वाले हफ्ते में निफ्टी 14400-14900 की रेंज में कंसोलीडेट हो सकता है। इस दौरान बाजार में स्टॉक स्पेसिफिक एक्शन देखने को मिल सकता है। जबकि निफ्टी के मीडियम टर्म में 5,400 का स्तर छूने को लेकर संभावना कायम है।

धर्मेश शाह की BSI इन्फ्रा और खपत वाले शेयरों में निवेश की सलाह है। उनका ये भी कहना है कि मेटल शेयरों में हाल में आई मुनाफा वसूली अब इन शेयरों में फिर से खरीदारी का अच्छा मौका दे रही है।

धर्मेश शाह के पंसदीदा लार्ज कैप शेयरों में HDFC Ltd, Reliance Industries, Titan Company, Berger Paints, Tata Motors, SAIL शामिल हैं। जबकि मिडकैप शेयरों में Bata India, Ipca Laboratories, Astral Poly, SKF Bearing, KNR Constructions, Dhanuka, GPPL, Philips Carbon उनके पसंदीदा स्टॉक हैं।

यह भी पढ़ें- कोरोना की सीख: फाइनेंशियल प्लानिंग क्यों जरूरी, टॉप 5 निवेश के विकल्प, ये सबसे बेहतर और सुरक्षित क्यों

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज