FASTag को लेकर NHAI ने दी नई सुविधा, दूर हो जाएगी आपके पैसे से जुड़ी ये समस्या

फास्टैग

1 जनवरी 2020 से देशभर के टोल प्लाजा पर फास्टैग का इस्तेमाल अनिवार्य हो जाएगा. इससे ठीक पहले NHAI ने अब अपने मोबाइल ऐप My FASTag App में नया फीचर चेक बैलेंस स्टेटस को जोड़ा है. इससे फास्टैग बैलेंस संबंधित कई जानकारियां प्राप्त हो सकेंगी.

  • Share this:
नई दिल्ली. नये साल यानी 01 जनवरी 2021 से देश के सभी टोल प्लाजा पर फास्टैग (FASTag) अनिवार्य कर दिया जाएगा. फास्टैग को लेकर लोगों के सामने कई दिक्कतें आ रही थी. उनमें से एक यह है कि उन्हें मालूम नहीं हो पाता था कि उनके फास्टैग खाते में बैलेंस है या नहीं और अगर है तो कितना है. इसी समस्या को दूर करने के लिए NHAI ने अपने मोबाइल ऐप My FASTag App में नया फीचर चेक बैलेंस स्टेटस को जोड़ा है. ऐप का इस्तेमाल करने वाले अपने वाहन का नंबर जैसे ही डालेंगे बैलेंस का पता चल जाएगा. किसी कारण टोल प्लाजा सर्वर (Toll Plaza Server) पर टैग अपडेट नहीं होने पर भी फास्टैग इस्तेमाल करने वाले लोग अपने वाहन के फास्टैग का स्टेटस आसानी से पता लगा सकेंगे.

यह नया फीचर फास्टैग इस्तेमाल कर्ता और टोल ऑपरेटर दोनों के लिए मददगार साबित होगा. दोनों पक्ष रियल टाइम बेसिस पर फास्टैग का बैलेंस चेक आसानी से कर सकेंगे. यहीं नहीं, फास्टैग बैलेंस से संबंधित विवादों की समस्याओं का निराकरण किया जा सकेगा. इसके अलावा एनएचएआई ने ब्लैकलिस्टेड टैग के रिफ्रेश टाइम को भी 10 मिनट से घटाकर 3 मिनट का करने का फैसला किया है. ताकि ईटीसी सिस्टम में स्टेटस के अपडेट हो सके और टोल में आसानी से पास करने के लिए एप में करंट स्टेटस दिख सके.

यह भी पढ़ें: अलीबाबा पर कार्रवाई के बाद खौफ में चीन की टेक कंपनियां, 2 दिन में ही डूब गए 15 लाख करोड़ रुपये

आरोग्य सेतु ऐप की तरह My FASTag ऐप में होगा फीचर
कोविड-19 से सुरक्षा और फैलाव को नियंत्रित करने के लिए बनाया गया आरोग्य सेतु एप के You are Safe की तरह ही एक फीचर इस ऐप में डेवलप किया गया है. कलर कोड के रूप में फास्टैग बैलेंस स्टेटस का पता लगाया जा सकेगा. ग्रीन यानी हरा रंग के कलर कोड का मतलब होगा कि फास्टैग एक्टिव है और इसमें पर्याप्त राशि मौजूद है. ऑरेंज यानी नारंगी कलर कोड का मतलब होगा कि फास्टैग में कम राशि जमा है. वहीं, रेड यानी लाल रंग के कलर कोड का मतलब होगा कि फास्टैग ब्लैकलिस्टेड है.

40 हजार PoS के जरिए रिचार्ज कर सकेंगे FASTag
अगर किसी वाहन का फास्टैग ऑरेंज कलर कोड में है यानी कम राशि उपलब्ध है तो उपयोगकर्ता टोल प्लाजा के पॉइंट ऑफ सेल यानी पीओएस पर तुरंत रिचार्ज कर सकता है. देशभर में 26 बैंकों के साथ साझेदारी कर टोल प्लाजा पर 40 हज़ार से अधिक पीओएस की व्यवस्था की गई है. एनएचएआई का दावा है कि इस नए फीचर से वाहन चालकों का ना सिर्फ समय बचेगा बल्कि वे ईंधन और पैसे भी बचा पाएंगे.

इसके रिचार्ज को आसान बनाने के लिए कई विकल्पों, जैसे भारत बिल भुगतान प्रणाली (BBPS), UPI, ऑनलाइन भुगतान, माई फास्टैग मोबाइल ऐप, पेटीएम, गूगल पे आदि को भी शामिल किया है. इसके साथ ही टोल प्लाजा पर मौजूद प्वाइंट ऑफ सेल्स (PoS) पर नकद रिचार्ज की सुविधा 24 घंटे उपलब्ध रहेगी.

यह भी पढ़ें: 1 जनवरी से पहले ही 80 करोड़ रुपये पर पहुंच गया फास्टैग का लेन-देन

80 करोड़ रुपये पर पहुंच गया फास्टैग का लेन-देन
नेशनल हाइवे ऑथरिटी ऑफ इंडिया (NHAI) के मुताबिक 24 दिसम्बर को टोल प्लाजा पर फास्टैग से रिकॉर्ड 50 लाख लेन-देन हुए. जिससे टोल टैक्स की रकम 80 करोड़ रुपये जमा हुई है. एनएचएआई के मुताबिक यह किसी भी एक दिन की सबसे बड़ी रकम है. वहीं दूसरी ओर अभी तक 2.20 करोड़ फास्टैग की बिक्री हो चुकी है.