PNB स्कैम: नीरव मोदी से पहले ये कारोबारी भी छोड़ चुके हैं देश

इसके पहले किंगफिशर ग्रुप के विजय माल्या, पूर्व आईपीएल कमिश्नर ललित मोदी, कॉरपोरेट लॉबिस्ट दीपक तलवार और आर्म्स डीलर संजय भंडारी का नाम भी मनी लॉन्ड्रिंग और घोटालों में सामने आ चुका है.

News18Hindi
Updated: February 15, 2018, 3:26 PM IST
PNB स्कैम: नीरव मोदी से पहले ये कारोबारी भी छोड़ चुके हैं देश
900 करोड़ रुपये का लोन नहीं चुकाने पर भगोड़ा घोषित किए जा चुके शराब कारोबारी विजय माल्या भी भारत छोड़ चुके हैं.
News18Hindi
Updated: February 15, 2018, 3:26 PM IST
पंजाब नेशनल बैंक (PNB) में करीब 11,300 करोड़ रुपये का फ्रॉड सामने आने के बाद हीरा कारोबारी नीरव मोदी के देश छोड़ने की खबर है. इस बीच प्रवर्तन निदेशालय ( ED) ने नीरव मोदी के ठिकानों पर छापेमारी शुरू कर दी है. इस घोटाले की खबर ने अब राजनीतिक रंग लेना भी शुरू कर दिया है.

हालांकि, नीरव मोदी पहले ऐसे कारोबारी नहीं हैं, जिनका नाम घोटाले में जुड़ा हो. इसके पहले किंगफिशर ग्रुप के विजय माल्या, पूर्व आईपीएल कमिश्नर ललित मोदी, कॉरपोरेट लॉबिस्ट दीपक तलवार और आर्म्स डीलर संजय भंडारी का नाम भी मनी लॉन्ड्रिंग और घोटालों में सामने आ चुका है. ये सभी कार्रवाई से बचने के लिए फिलहाल देश छोड़ चुके हैं.

ये है लिस्ट

विजय माल्या:- 900 करोड़ रुपये का लोन नहीं चुकाने पर भगोड़ा घोषित किए जा चुके शराब कारोबारी विजय माल्या भी भारत छोड़ चुके हैं. उनके खिलाफ देश में कई मामले चल रहे हैं. मार्च 2016 में माल्या को देश छोड़ने से रोकने के लिए कई बैंक सुप्रीम कोर्ट पहुंचे थे. लेकिन, कोर्ट जब तक कोई आदेश देता, माल्या देश छोड़ चुके थे. अभी वो लंदन में हैं.

यूके की अदालत ने उनका साप्ताहिक भत्ता भी तीन गुणा तक बढ़ा दिया है. माल्या को साल 2016 में गिरफ्तार किया गया था. लेकिन, उन्हें जमानत मिल गई थी.

ललित मोदी:- 2010 तत्कालीन इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) कमिश्नर ललित मोदी पर मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज हुआ था. इसके बाद उन्होंने कोच्चि आईपीएल टीम का स्वामित्व छोड़ दिया था. ललित मोदी को कारण बताओ नोटिस भी जारी किया गया था, जिसका जवाब नहीं देने पर उन्हें आईपीएल के कमिश्नर पद से हटा दिया गया. इसके बाद ललित मोदी अपने परिवार की सुरक्षा का हवाला देते हुए इंग्लैंड फरार हो गए.

2011 में भारत सरकार ने उनका पासपोर्ट रद्द कर दिया. विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम (फेमा) का उल्लंघन करने पर ईडी ने ललित मोदी के खिलाफ ब्लू कॉर्नर इंटरपोल नोटिस फाइल की. तब से ललित मोदी इंग्लैंड में हैं. उन्होंने लंदन कोर्ट में ईडी के नोटिस को चुनौती दी है.

दीपक तलवार:- कॉरपोरेट लॉबीस्ट दीपक तलवार पर कथित तौर पर करीब 1000 करोड़ रुपये रिश्वत लेने के मामले में आयकर विभाग ने 5 मामले दर्ज किए थे. जांच में सामने आया है कि विमानन क्षेत्र में सक्रिय और दूरसंचार और विमानन सौदों की दलाली करने वाले दीपक तलवार ने यूपीए शासन के दौरान अपने ग्राहकों के फायदे के लिए अधिकारियों को रिश्वत दी थी. सूत्रों के अनुसार, तलवार ने विदेशी एयरलाइंस के लिए भी मंजूरी हासिल करने में सहायक थे.

लॉबीस्ट तलवार के यूपीए पदाधिकारियों से करीबी संबंध थे. पिछले साल जून में आईटी अधिकारियों ने तलवार के घर पर छापा मारा था. केस आगे बढ़ने से पहले ही तलवार भारत छोड़ कर फरार हो गए. फिलहाल वो संयुक्त अरब अमीरात (UAE)में हैं. वहां उनके देश छोड़ने पर रोक लगा दिया गया है.

संजय भंडारी:- टैक्स चोरी के मामले में हथियार डीलर संजय भंडारी के खिलाफ आयकर विभाग कार्रवाई कर रही है. टैक्स चोरी और धनशोधन के एक मामले में संलिप्तता को लेकर आयकर विभाग ने संजय भंडारी की दिल्ली में 21 करोड़ रुपये की संपत्ति भी कुर्क की है. धनशोधन रोकथाम अधिनियम (पीएमएलए) के तहत जांच एजेंसी द्वारा संपत्ति की यह पहली कुर्की है.

दिल्ली कोर्ट ने संजय भंडारी को ऑफिशियल सिक्रेट एक्ट के तहत अपराधी माना है. फिलहाल भंडारी भी देश छोड़ चुके हैं और नेपाल में रह रहे हैं.

ये भी पढ़ें:  PNB घोटाला: नीरव मोदी के 12 ठिकानों पर ईडी के छापे, मुंबई स्थित घर की तलाशी

PNB घोटाला: वित्त मंत्री ने ईडी से मांगी रिपोर्ट, FIR से पहले नीरव मोदी ने छोड़ा देश
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर