Home /News /business /

nirmala sithraman meets imf chief kristalina georgieva discusses impact of geopolitical situation on global growth arnod

आईएमएफ प्रमुख ने भारत की आर्थिक नीतियों को सराहा, पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों पर कही बड़ी बात!

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की आईएमएम प्रमुख से हुई मुलाकात. (साभार PIB)

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की आईएमएम प्रमुख से हुई मुलाकात. (साभार PIB)

आईएमएम प्रमुख ने कहा कि भारत की लक्षित नीतियों ने अर्थव्यवस्था को सीमित वित्तीय साधनों के साथ  लचीला रखने में मदद की है. उन्होंने आर्थिक संकट से जूझ रहे श्रीलंका को भारत द्वारा दी गई मदद की भी सराहना की. साथ ही भरोसा दिलाया कि आईएमएफ श्रीलंका से सक्रिय रूप से जुड़कर काम करता रहेगा.

अधिक पढ़ें ...

वाशिंगटन. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) की प्रमुख क्रिस्टालिना जॉर्जीवा से मंगलवार को मुलाकात की. इस दौरान दोनों के बीच भू-राजनीतिक हालात के असर सहित कई मुद्दों पर चर्चा हुई. आईएमएफ और विश्व बैंक की सालाना बैठकों से इतर हुई इस मुलाकात में आईएमएफ की प्रबंध निदेशक ने भारत की आर्थिक नीतियों की सराहना की.

आईएमएम प्रमुख ने कहा कि भारत की लक्षित नीतियों ने अर्थव्यवस्था को सीमित वित्तीय साधनों के साथ लचीला रखने में मदद की है. उन्होंने आर्थिक संकट से जूझ रहे श्रीलंका को भारत द्वारा दी गई मदद की भी सराहना की. साथ ही भरोसा दिलाया कि आईएमएफ श्रीलंका से सक्रिय रूप से जुड़कर काम करता रहेगा.

ऊर्जा की बढ़ती कीमतें चिंताजनक

निर्मला सीतारमण की इस मुलाकात के बाद वित्त मंत्रालय ने एक ट्वीट कर कहा, ‘‘वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और क्रिस्टालिना जॉर्जीवा ने हाल के भू-राजनीतिक घटनाक्रमों पर चर्चा करते हुए ग्लोबल इकोनॉमी पर इसके प्रभाव और इसके कारण ऊर्जा की बढ़ती कीमतों से जुड़ी चुनौतियों के बारे में चिंता जताई.’’

ये भी पढ़ें- सरकार 5 फीसदी का जीएसटी स्लैब हटाने की बना रही है योजना? कितना सच है यह दावा

वित्त मंत्री ने आईएमएफ प्रमुख को आर्थिक सुधारों से संबंधित भारतीय नीति से भी अवगत कराया. उन्होंने बताया कि भारत सरकार पूंजीगत व्यय के जरिये आर्थिक विकास को बढ़ावा दे रही है. प्रमुख संरचनात्मक सुधारों, मजबूत मौद्रिक नीतियों और उदार राजकोषीय रुख ने कोरोना महामारी से उबरने में इंडियन इकोनॉमी की मदद की है.

8.5 फीसदी ग्रोथ रेट की उम्मीद

इसे देखते हुए उम्मीद जताई जा रही है कि इस साल भारत की ग्रोथ रेट दुनिया में सबसे अधिक रहेगी. आर्थिक सर्वे के मुताबिक, चालू वित्त वर्ष 2022-23 में भारत 8-8.5 फीसदी की विकास दर हासिल कर सकता है.

ये भी पढ़ें- कटे-फटे नोटों से हैं परेशान, मुफ्त में बदलने और पूरा पैसा वापस पाने के लिए यहां चेक करें डिटेल

सीतारमण ने श्रीलंका के वित्त मंत्री अली साबरी से भी मुलाकात की. श्रीलंका की मौजूदा आर्थिक स्थिति और चुनौतियों पर दोनों नेताओं ने चर्चा की. उन्होंने साबरी को भरोसा दिया कि एक घनिष्ठ मित्र और अच्छे पड़ोसी के रूप में श्रीलंका को हर संभव मदद देने की भारत कोशिश करेगा.

Tags: FM Nirmala Sitharaman, IMF, India economy, Indian economy

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर