• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • नीता अंबानी अमेरिका के सबसे बड़े आर्ट म्यूजियम के बोर्ड में शामिल, 150 साल के इतिहास में पहली भारतीय मेंबर

नीता अंबानी अमेरिका के सबसे बड़े आर्ट म्यूजियम के बोर्ड में शामिल, 150 साल के इतिहास में पहली भारतीय मेंबर

150 साल के इतिहास में पहली भारतीय मेंबर

150 साल के इतिहास में पहली भारतीय मेंबर

नीता अंबानी (Nita Ambani) पिछले कई साल से मेट्रोपॉलिटन म्यूजियम (Metropolitan Museum) की प्रदर्शनियों को सपोर्ट कर रही हैं.

  • Share this:
    नई दिल्ली. रिलायंस फाउंडेशन (Reliance Foundation) की फाउंडर और चेयरपर्सन नीता अंबानी (Nita Ambani) को न्यूयॉर्क के मेट्रोपॉलिटन म्यूजियम ऑफ आर्ट (Metropolitan Museum of Art) के बोर्ड में शामिल किया गया है. नीता अंबानी म्यूजियम की पहली भारतीय मानद (Honorary) ट्रस्टी बन गई हैं. वह संग्रहालय के 150 साल के इतिहास में ट्रस्टी की भूमिका निभाने वाली पहली भारतीय होंगी. म्यूजियम के चेयरमैन डेनियल ब्रॉडस्की ने ये जानकारी दी. नीता अंबानी पिछले कई साल से मेट्रोपॉलिटन म्यूजियम की प्रदर्शनियों को सपोर्ट कर रही हैं. ये अमेरिका का सबसे बड़ा आर्ट म्यूजियम है.

    डेनियल ब्रोडस्की ने नीता अंबानी के बोर्ड में शामिल होने की घोषणा करते हुए कहा, 'भारतीय कला एवं संस्कृति को संरक्षित करने और प्रोत्साहित करने की श्रीमती अंबानी की प्रतिबद्धता वास्तव में असाधारण है. उनके बोर्ड में शामिल होने से म्यूजियम की क्षमताओं में इजाफा होगा. नीता अंबानी का स्वागत करते हुए हमें बेहद खुशी हो रही है.'

    इस अवसर पर बोलते हुए नीता अंबानी ने कहा, 'पिछले कई वर्षो से यह देखना सुखद रहा है कि भारतीय कलाओं के प्रदर्शन में मेट्रोपॉलिटन म्यूज़ियम ऑफ आर्ट ने दिलचस्पी दिखाई है. म्यूजियम द्वारा वैश्विक मंचों पर भारतीय कला के समर्थन और रुचि ने मुझे प्रभावित किया है. यह हमारी प्रतिबद्धताओं से मेल खाता है. यह सम्मान मुझे भारत की प्राचीन विरासत के लिए मेरे प्रयासों को दोगुना करने में मदद करेगा.'

    नीता अंबानी

    नीता अंबानी दुनियाभर में कर रही हैं भारतीय कला-संस्कृति का प्रचार

    2017 में भी मेट्रोपॉलिटन म्यूजियम ऑफ आर्ट ने एक खास कार्यक्रम में श्रीमती अंबानी को सम्मानित किया था. यह कार्यक्रम उन हस्तियों के सम्मान में किया जाता है जो कला की दुनिया में विविधता और समावेश को बढ़ावा देते हैं. श्रीमती अंबानी ‘द मेट्स इंटरनेशनल काउंसिल’ की भी सदस्य हैं. नीता अंबानी ने तब कहा था कि मेट्रोपॉलिटन म्यूजियम के जरिए भारतीय कला को एक प्रतिष्ठित संस्थान में प्रदर्शन का मौका मिला और हम कला के क्षेत्र में काम जारी रखने के लिए प्रोत्साहित हुए. नीता अंबानी रिलायंस फाउंडेशन के जरिए भारतीय कला और संस्कृति का दुनियाभर में प्रचार कर रही हैं. वे देश में खेल और विकास की योजनाओं को भी बढ़ावा दे रही हैं.

    मेट्रोपॉलिटन म्यूजियम करीब 150 साल पुराना है. यहां दुनियाभर की 5000 साल पुरानी कलाकृतियां भी मौजूद हैं. हर साल लाखों लोग म्यूजियम देखने पहुंचते हैं. इनमें कई अरबपति और सेलेब्रिटी भी होते हैं. बता दें कि मेट्रोपोलिटन म्यूजियम दुनिया भर के अरबपतियों, सेलिब्रिटी औऱ हजारों आम लोगों को हर साल अपनी ओर खींचता है. इस म्यूजियम में दुनियाभर के 5000 सालों के आर्ट के विकास की रूपरेखा मौजूद है. नॉन-प्रॉफिट वाले इस संस्थान के वार्षिक रिपोर्ट के अनुसार इसका रेवेन्यू साल 2018 में 385.3 मिलियन डॉलर रहा था जो कि पिछले साल 2017 के 384.7 मिलियन डॉलर से नीचे था.

    नीता अंबानी को 2017 में रिलायंस फाउंडेशन के काम के लिए भारत के राष्ट्रपति से प्रतिष्ठित राष्ट्रीय खेल प्रोत्साहन पुरस्कार मिला था. 2016 में, फोर्ब्स ने श्रीमती अंबानी को एशिया के 50 सबसे शक्तिशाली कारोबारी महिलाओं की लिस्ट में शामिल किया था. वह अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति की सदस्य भी हैं और इस भूमिका को निभाने वाली वे पहली भारतीय महिला हैं.



    (डिस्क्लेमर: हिंदी न्यूज़ 18 डॉट कॉम रिलायंस इंडस्ट्रीज की कंपनी नेटवर्क18 मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट लिमिटेड का हिस्सा है. नेटवर्क18 मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट लिमिटेड का स्वामित्व रिलायंस इंडस्ट्रीज के पास ही है.)

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज