लाइव टीवी

हाईवे किनारे बांस के पेड़ लगाकर पैदा किए जा सकते हैं 2 लाख से ज्यादा रोजगार- नितिन गडकरी

भाषा
Updated: September 26, 2019, 12:42 PM IST
हाईवे किनारे बांस के पेड़ लगाकर पैदा किए जा सकते हैं 2 लाख से ज्यादा रोजगार- नितिन गडकरी
अब प्रतिदिन 29 किलोमीटर सड़कों का हो रहा निर्माण

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री (Union Minister of Road Transport and Highways) नितिन गडकरी ने कहा भारत चीन से 4,000 करोड़ रुपये की धूपबती की लकड़ी (Sticks of Incense) का आयात (Import) कर रहा है.

  • भाषा
  • Last Updated: September 26, 2019, 12:42 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री (Union Minister of Road Transport and Highways) नितिन गडकरी ने कहा कि देश के इंफ्रास्ट्रक्चर सेक्टर (Infrastructure Sector) में रोजगार (Job) देने की व्यापक क्षमता है. उन्होंने कहा कि पूर्वोत्तर राज्यों (Northeastern States) में राजमार्गों (Highways) के साथ बांस के पेड़ (Bamboo Plantation) लगाकर रोजगार के 2 लाख अवसरों का सृजन किया जा सकता है.

रोजाना 29 किमी बनी रही सड़कें
गडकरी ने बुधवार को यहां आईडीएफसी इंस्टिट्यूट (IDFC Institute) द्वारा देश में रोजगार सृजन के लिए ढांचागत प्राथमिकताएं विषय पर एक रिपोर्ट जारी किए जाने के मौके पर कहा, सरकार का मुख्य मिशन रोजगार क्षमता का सृजन है. राजमार्गों सहित बुनियादी ढांचा क्षेत्र में रोजगार पैदा करने की व्यापक क्षमता है. मंत्री ने कहा कि सड़क निर्माण के साथ राजमार्ग परियोजनाओं में रोजगार सृजन की व्यापक क्षमता है. उन्होंने बताया कि अब प्रतिदिन 29 किलोमीटर सड़कों का निर्माण हो रहा है.

चीन से 4 हजार की धूपबती की लकड़ी इंपोर्ट कर रहा भार

उन्होंने बताया कि भारत चीन से 4,000 करोड़ रुपये की धूपबती की लकड़ी (Sticks of Incense) का आयात (Import) कर रहा है. सरकार ने हाल में इस पर आयात शुल्क बढ़ाकर 30 फीसदी किया है.



बांस लगाकर पैदा हो सकते हैं 2 लाख रोजगारगडकरी ने कहा कि इस तरह का बांस अरुणाचल प्रदेश और अन्य क्षेत्रों में उपलब्ध है. मैंने आयातकों से कहा है कि वे इसकी खेती करें. राष्ट्रीय राजमार्गों के पास भी बांस की खेती हो सकती है. सिर्फ बांस से ही 2 लाख रोजगार के अवसरों का सृजन किया जा सकता है.

22 नए ग्रीव हाइवे बना रही सरकार
इसके अलावा उन्होंने यह भी कहा कि सरकार दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे समेत 22 नए ग्रीन हाइवे बना रही है. जिससे पिछड़े इलाकों का भी विकास होगा. उन्होंने कहा कि लॉजिस्टिक पार्क 280 जगहों पर प्रस्तावित है और पेट्रोलियम कंपनियों को हाइवे पर जमीन देने की योजना है.

850 बस पोर्ट बनाने की योजना
केंद्रीय मंत्री ने कहा कि 5 वर्षों में नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (NHAI) की किटी में लगभग 1,400 करोड़ रुपये आ सकते हैं. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि 850 स्थानों पर बस पोर्ट (Bus Port) की योजना भी है. इसके अलावा उन्होंने ये भी कहा कि 480 हाइवे प्रोजेक्ट्स की जांच की गई है, जिसमें 280 प्रोजेक्ट्स को बैंक फंड देने को तैयार हो गए हैं.

ये भी पढ़ें: 

HDFC बैंक ने लॉन्च किया नया कार्ड, हर साल फ्री मिलेगा 50 लीटर पेट्रोल-डीजल!

पैसों को रखना है सुरक्षित तो SBI की मान लें ये सलाह, वरना पछताएंगे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 26, 2019, 12:42 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर