• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • भारत को अब चीन पर निर्भर नहीं रहना चाहिए, रिसर्च और इनोवेशन पर फोकस करने की जरूरत: नितिन गडकरी

भारत को अब चीन पर निर्भर नहीं रहना चाहिए, रिसर्च और इनोवेशन पर फोकस करने की जरूरत: नितिन गडकरी

आरोपी अभिषेक दिवेदी ने दो आरटीओ अधिकारियों के ट्रांसफर के लिए नितिन गडकरी से बोला.

आरोपी अभिषेक दिवेदी ने दो आरटीओ अधिकारियों के ट्रांसफर के लिए नितिन गडकरी से बोला.

वेबीनार को संबोधित करते हुए गुरुवार को एक केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने कहा कि भारत को अब आत्मनिर्भर बनने की जरूरत है. हमें चीन पर निर्भरता को खत्म करना चाहिए.

  • Share this:
    नई दिल्ली. केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने गुरुवार को कहा कि भारत को अब चीन पर निर्भर नहीं रहना चाहिए. इसकी जगह भारत को घरेलू मैन्युफैक्चरिंग को बढ़ाने के लिए ​खुद के रिसर्च और इनोवेशन पर फोकस करना चाहिए. गडकरी ने यह भी कहा कि केंद्र सरकार आयात के विकल्प के लिए नई नीति तैयार कर रही है. नितिन गडकरी की तरफ से यह बयान ऐसे समय पर आया है, जब चीन और भारत की सीमा पर तनाव है.

    वेबीनार में कही ये बात
    गुरुवार को कोविड-19 के बाद भारतीय इलेक्ट्रिक व्हीकल रोडमैप पर एक वेबीनार में बोलते हुए सड़क, परिवहन एवं राष्ट्रीय राजमार्ग मंत्रालय ने कहा, 'मुझे लगता है यही समय है, जिसे मैं सीधे शब्दों में नहीं कह रहा था, हमें चीन पर अब निर्भर नहीं रहना चाहिए.'

    यह भी पढ़ें:  ध्यान दें! 21 जून को बंद रह सकती हैं SBI की ये सर्विसेज, पहले ही रहें तैयार

    पार्ट्स आयात कर घरेलू कंपनियों को हो रहा मुनाफा
    उन्होंने कहा कि भले ही वर्तमान में चीनी उत्पादों की कीमतें आकर्षक हैं और भारतीय इलेक्ट्रॉनिक कंपनियां पार्ट्स आयात कर अच्छा मुनाफा कमा रही हैं. लंबी अवधि में देश में हर चीन घरेलू स्तर पर उत्पाद करना चाहिए.

    आत्मनिर्भर ही सफलता की चाभी
    गडकरी ने कहा कि इसके बिना हमारा भविष्य बेहतर नहीं होगा. ऐसा नहीं होने पर चीनी कंपनियां भले ही शुरुआती दौर में कीमतों में छूट दें, लेकिन जब आपकी इंडस्ट्री अपना प्रोडक्शन बढ़ाएगी तो वो अधिक चार्ज करने लगेंगी. बाद में यह समस्या बन जाएगी. ऐसे में इंडस्ट्री के लिए हर मामलों में आत्मनिर्भर बनना ही सफलता की चाभी है.

    यह भी पढ़ें: PPF या सेविंग्स अकाउंट के ब्याज से होती है कमाई तो जान लें ये बात, देना पड़ सकता है GST!

    बता दें कि गत 15 जून को गलवान घाटी में भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच हिंसक झड़प का मामला सामने आया. करीब 42 साल बाद इसमें 20 भारतीय सैनिकों की मृत्यु हो गई. करीब 4 दशकों में दोनों देशों के बीच यह सबसे बड़ी झड़प है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज