अब सेक्टर नंबर में बदल जाएंगे नोएडा के इन 5 गांवों के नाम...

नोएडा अथॉरिटी

नोएडा अथॉरिटी

5 गांवों को नोएडा (Noida) में मिलाकर नोएडा अथॉरिटी अपना विस्तार कर रही है. जल्द ही नोएडा के यह पांच गांव अब सेक्टर नंबर से जाने जाएंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 21, 2021, 1:57 PM IST
  • Share this:
नोएडा. 5 गांवों को नोएडा (Noida) में मिलाकर नोएडा अथॉरिटी अपना विस्तार कर रही है. जल्द ही नोएडा के यह पांच गांव अब सेक्टर नंबर से जाने जाएंगे. बाकी रह गई थोड़ी सी प्रक्रिया के बाद आम लोग यहां जमीन खरीद सकेंगे. वहीं अपनी जमीन (Land) बेचने वाले कुछ किसानों को भी यहां जमीन दी जाएगी. जानकारों की मानें तो 5 गांवों को कागजी कार्रवाई के बाद 6 सेक्टर में बांट दिया जाएगा. गौरतलब रहे बुलंदशहर (Bulandshahar) और दादरी (Dadri) के 80 गांवों को मिलाकर नोएडा अथॉरिटी जल्द ही नया नोएडा भी बसाने जा रही है.

यह हैं 5 गांव जो बनेंगे सेक्टर

नोएडा अथॉरिटी के अफसरों की मानें तो मोहियापुर, झट्टा, दोस्तपुर मंगरौली, नलगढ़ा और शहदरा गांव की जमीन का अधिग्रहण किया जा रहा है. मोहियापुर गांव में 71.45 हेक्टयर, झट्टा गांव में 0.247 हेक्टेयर, दोस्तपुर मंगरौली में 6.6520 हेक्टेयर, नलगढ़ा में 44.1422 हेक्टेयर, शहदरा के 0.6773 हेक्टेयर जमीन का अधिग्रहण किया जा रहा है. किसानों से नगद या नगद के साथ जमीन का कुछ हिस्सा देकर उनसे जमीन खरीदी जा रही है.

5 गांवों की कुल 218 हेक्टेयर जमीन का अधिग्रहण किया जा रहा है. 947 किसानों को 534 करोड़ रुपये का भुगतान किया जा चुका है. वहीं 276 किसानों को 41 हजार वर्ग मीटर जमीन दी गई है. जमीन अधिग्रहण की कार्रवाई पूरी होने के बाद सभी 5 गांव की जमीन को शहर में मिला लिया जाएगा. वहीं गांवों को सेक्टर-161, 162, 163, 164, 165 और 166 के नाम से विकसित किया जाएगा.
Corona News: यूपी के इन शहरों में शुरू हो गया ऑक्सीजन का एक्सट्रा प्रोडक्शन, यहां देखें पूरी लिस्ट

यह होगी नए नोएडा की खासियत

नोएडा अथॉरिटी की सीईओ रितु माहेश्वरी के मुताबिक नए नोएडा में दिल्ली-मुंबई इंडस्ट्रियल रेलवे कॉरिडोर का निवेश जोन विकसित किया जाएगा. यह कॉरिडोर सात स्टेट दिल्ली, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, दक्षिणी हरियाणा, पूर्वी राजस्थान, पूर्वी गुजरात, पश्चिमी महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश के इन्दौर से होकर गुजरेगा.





नोएडा अथॉरिटी के ओएसडी डॉ. संतोष उपाध्याय के मुताबिक नए नोएडा में एसईजेड भी विकसित किया जाएगा. एसईजेड के अंतर्गत इंडस्ट्रियल यूनिट, इंडस्ट्रियल एस्टेट्स, एग्रो एंड फूड प्रोसेसिंग जोन, आईटी, आईटीएस और बायोटेक जोन, स्किल डेवलपमेंट सेंटर, नॉलेज हब, लॉजिस्टिक हब और इंटिग्रेटेड टाउनशिप को इस योजना में मौका दिया जाएगा. उनका कहना है कि नोएडा के अनुभव और सीईओ रितु माहेश्वरी की प्लानिंग को देखते हुए नोएडा अथॉरिटी को इस बड़े और महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट के लिए चुना गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज