• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • राहत! नोएडा के 10 परिवारों को नहीं खाली करना पड़ेगा फ्लैट, नोटिस वापस लेगा बैंक

राहत! नोएडा के 10 परिवारों को नहीं खाली करना पड़ेगा फ्लैट, नोटिस वापस लेगा बैंक

नोएडा के 10 परिवारों को नहीं खाली करना पड़ेगा फ्लैट

नोएडा के 10 परिवारों को नहीं खाली करना पड़ेगा फ्लैट

यूनियन बैंक ऑफ इंडिया (Union Bank of India) गार्डेनिया गेटवे सोसायटी के 10 होम बायर्स को दिया गया फ्लैट खाली करने का नोटिस शाम तक वापस लेगा.

  • Share this:
    उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के नोएडा (Noida) सेक्टर-75 की हाउसिंग सोसायटी गार्डेनिया गेटवे (Gardenia Gateway) में रहने वाले लगभग 10 परिवारों को राहत मिली है. अब इन परिवारों को अपना फ्लैट खाली नहीं करना पड़ेगा. क्योंकि यूनियन बैंक ऑफ इंडिया (Union Bank of India) फ्लैट खाली करने के लिए दिया गया नोटिस शाम तक वापस ले लेगा. दरअसल, बिल्डर द्वारा 78.45 करोड़ रुपये नहीं चुकाने जाने की वजह से यूनियन बैंक ऑफ इंडिया ने गार्डेनिया गेटवे सोसायटी के 10 होमबायर्स को फ्लैट खाली करने का नोटिस दिया था.

    नहीं करने होंगे फ्लैट खाली
    यूनियन बैंक ऑफ इंडिया ने मनीकंट्रोल को बताया कि उसने नोएडा के सेक्टर-75 स्थित गार्डेनिया गेटवे प्रोजेक्ट के 10 होमबायर्स को लेटर जारी किया था. हालांकि बुधवार शाम तक वे नोटिस वापस ले रहे हैं. यूनियन बैंक ऑफ इंडिया के एमडी एंड सीईओ राजकिरण राय ने मनीकंट्रोल से कहा कि होमबायर्स के खिलाफ बैंक कोई कानूनी कार्रवाई नहीं करेगा. हम आज 10 होमबायर्स को फ्लैट खाली करने का नोटिस वापस लेने के लिए पत्र लिख कर भेज रहे हैं. हम बिल्डर से राशि वसूल रहे हैं और चर्चा जारी है. बिल्डर भी एक प्रस्ताव के साथ आगे आया है.

    ये भी पढ़ें: जल्द बढ़ेगी गाड़ियों की सेल, ये है मोदी सरकार का नया प्लान!

    बैंक ने जारी किया बयान
    यूनियन बैंक के फील्ड जनरल मैनेजर द्वारा शाम को जारी एक बयान में कहा गया है, यूनियन बैंक ऑफ इंडिया की एसेट रिकवरी ब्रांच द्वारा 05.08.2019 को नोएडा सेक्टर-75, GH09, इको सिटी, टावर D के कुछ फ्लैट मालिकों को नोटिस दिया गया था. जिसमें यह बताया गया था कि बैंक बिल्डर के खिलाफ वसूली की कार्रवाई पर विचार कर रहा है. हम स्पष्ट करना चाहेंगे कि हमारी कोई भी कार्रवाई केवल बिल्डर के खिलाफ है न कि फ्लैट मालिकों के खिलाफ. इसलिए, हमने तुरंत नोटिस वापस लेने के लिए कदम उठाए हैं.

    सोसायटी में रहते हैं 200 परिवार
    सोसायटी में 220 परिवार रहते हैं. बैंक ने गत 5 अगस्त को नोटिस देकर 20 अगस्त तक फ्लैट खाली करने के लिए कह दिया था.

    सोसायटी की 20 हजार स्क्वॉयर मीटर जमीन रखी थी गिरवी
    गार्डेनिया गेटवे सोसायटी बनाने वाले बिल्डर ने 31 दिसंबर 2015 को यूनियन बैंक ऑफ इंडिया से 78,45,22,970 रुपये का लोन लिया था. बिल्डर ने उक्त सोसायटी की 20,000 स्क्वॉयर मीटर जमीन को गिरवी रखकर के लोन लिया था.

    ये भी पढ़ें: भारत को मंदी से बचाने के लिए मोदी सरकार ने बनाया खास प्लान!

    (मनीकंट्रोल)

     

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज