Home /News /business /

सरकार ने दी बड़ी रियायत, अब ESIC कार्ड वाले भी करा सकेंगे महंगा इलाज

सरकार ने दी बड़ी रियायत, अब ESIC कार्ड वाले भी करा सकेंगे महंगा इलाज

ESIC ने स्वास्थ्य बीमा योजना में सुपर स्पेशियल्टी इलाज के लिए मिनिमम 2 साल के योगदान के नियम में ढील देकर इसे 6 महीने कर दिया है.

ESIC ने स्वास्थ्य बीमा योजना में सुपर स्पेशियल्टी इलाज के लिए मिनिमम 2 साल के योगदान के नियम में ढील देकर इसे 6 महीने कर दिया है.

ESIC ने स्वास्थ्य बीमा योजना में सुपर स्पेशियल्टी इलाज के लिए मिनिमम 2 साल के योगदान के नियम में ढील देकर इसे 6 महीने कर दिया है.

    कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ESIC) ने स्वास्थ्य बीमा योजना में सुपर स्पेशियल्टी इलाज के लिए मिनिमम 2 साल के योगदान के नियम में ढील देकर इसे 6 महीने कर दिया है. इससे उन लोगों को बड़ी राहत मिलेगी जो काफी अरसे से किसी बीमारी से पीड़ित हैं. ESIC बोर्ड ने इसे हाल में मंजूरी दी है. बैठक में कर्मचारी राज्य बीमा (ESI) योजना के तहत आश्रितों की न्यूनतम व्यक्तिगत आय को भी 5,000 रुपये मासिक से बढ़ाकर 9,000 रुपये मासिक करने का फैसला किया गया. (ये भी पढ़ें: Aadhaar में अब सिर्फ एक ही बार कर सकेंगे ये अपडेट, जानें क्या है नियम और शर्तें)

    ESIC के बोर्ड ने ESI योजना के तहत सुपर स्पेशियल्टी इलाज के लिए न्यूनतम योगदान की अवधि को दो साल से घटाकर छह महीने करने का फैसला किया है. साथ ही ESI के तहत बीमित व्यक्ति के आश्रितों मसलन पुत्र, पुत्री, माता और पिता के लिए न्यूनतम मासिक आय को भी मौजूदा के 5,000 रुपये से बढ़ाकर 9,000 रुपये करने का फैसला किया गया है.
    PPF पर पूरा ब्‍याज पाने का फॉर्मूला, याद रखें ये तारीख नहीं तो हो सकता है भारी नुकसान

    ESIC करेगा पूरे खर्च का भुगतान
    बोर्ड ने कहा कि ESIC राज्यों द्वारा संचालित अस्पतालों के पूरे खर्च का भुगतान करेगा. ये ऐसे अस्पताल हैं जिनके साथ उसका बीमित व्यक्ति के इलाज के लिए करार होगा. अभी ESIC 87.5 फीसदी खर्च का भुगतान करता है. शेष 12.5 प्रतिशत फीसदी सआईसी द्वारा पूरा खर्च दिए जाने के बाद भी भविष्य में इन अस्पतालों की सेवाओं में सुधार नहीं होता है तो उसे इन अस्पतालों को अपने हाथों में ले लेना चाहिए.

    बैठक के दौरान बोर्ड को यह भी बताया गया कि ESI योजना के तहत नियोक्ता और कर्मचारियों की ओर से योगदान को भी घटाकर वेतन के क्रमश: 4% और 1% कर दिया गया है. पहले यह वेतन का 4.5% और 1.5% था.

    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

    Tags: Business news in hindi, Free Treatment, Health News

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर