ITR भरना होगा आसान, टैक्स डिपार्टमेंट ही भर देगा सैलरी और टीडीएस की जानकारी

ITR भरना होगा आसान, टैक्स डिपार्टमेंट ही भर देगा सैलरी और टीडीएस की जानकारी
अब आईटीआर फॉर्म 1 सैलरी, फिक्सिड डिपॉजिट (एफडी) से हुई आमदनी और टीडीएस डीटेल्स भरे हुए मिलेंगे. (सांकेतिक तस्वीर)

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट का सॉफ्टवेयर ये जानकारियां जुटाने के लिए पैन, एंप्लॉयर की ओर से फाइल किए गए टीडीएस रिटर्न और पिछले साल के आईटीआर का इस्तेमाल करेगा.

  • Share this:
इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने टैक्स पेयर्स के लिए इनकम टैक्स रिटर्न (आईटीआर) फाइल करना ज्यादा-से-ज्यादा आसान बनाने की दिशा में नई पहल की है. अब आईटीआर फॉर्म 1 सैलरी, फिक्सिड डिपॉजिट (एफडी) से हुई आमदनी और टीडीएस डीटेल्स भरे हुए मिलेंगे. पहले आईटीआर भरने वालों को ये जानकारियां फॉर्म में खुद भरनी होती थी.

डीटेल्स में बदलाव की छूट

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट का सॉफ्टवेयर ये जानकारियां जुटाने के लिए पैन, एंप्लॉयर की ओर से फाइल किए गए टीडीएस रिटर्न और पिछले साल के आईटीआर का इस्तेमाल करेगा. फॉर्म में ये जानकारियां भले ही पहले से दी गई होंगी, लेकिन आप इसमें बदलाव कर सकते हैं. यानी पहले से दिए आंकड़ों में कुछ गलतियां हैं तो आप उन्हें सही कर सकेंगे.



सिर्फ ITR-1 फॉर्म में मिलेगी ये सुविधा
यह सुविधा सिर्फ आईटाई फॉर्म 1 भरने योग्य टैक्सपेयर्स को ही मिलने वाली है जो इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की इ-फाइलिंग वेबसाइट www.incometaxindiaefiling.gov.in पर जाकर आईटीआर भरते हैं. अगर आप एक्सेल या जावा के जरिए आईटीआर 1 फॉर्म भरेंगे तो आपको ये आंकड़े खुद भरने होंगे.

आईटीआर फॉर्म में भरी मिलेंगी या जानकारी

1- पैन, नाम, जन्म तिथि

2- पता, आधार नंबर, मोबाइल नंबर, ई-मेल आईडी

3- टैक्स पेमेंट, टीडीएस और टीसीएस डीटेल्स

4- मकान का प्रकार

5- हाउस प्रॉपर्टी से इनकम

6- डिपॉजिट पर ब्याज से हुई आमदनी

7- ब्याज से हुई आमदनी की जानकारी

8- सेक्शन 89 के तहत मिली टेक्स छूट

9- बैंक अकाउंट डिटेल

ये भी पढ़ें: 31 जुलाई से पहले PAN-आधार लिंक करना है जरूरी, जानें क्यों?
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज