चीन, जापान में IT एक्पोर्ट बढ़ाने पर सरकार का जोर, बनाया ये प्लान

चीन और जापान जैसे देशों में कारोबारी पैठ बढ़ाने के IT प्रोफेनल्स को मेंडारिन, जापानी और कोरियन जैसी भाषा सिखाने पर सरकार का जोर है.

News18Hindi
Updated: August 3, 2019, 1:33 PM IST
चीन, जापान में IT एक्पोर्ट बढ़ाने पर सरकार का जोर, बनाया ये प्लान
चीन, जापान में IT एक्पोर्ट बढ़ाने पर जोर, ये है प्लान!
News18Hindi
Updated: August 3, 2019, 1:33 PM IST
चीन और जापान जैसे देशों में कारोबारी पैठ बढ़ाने के IT प्रोफेनल्स को मेंडारिन, जापानी और कोरियन जैसी भाषा सिखाने पर सरकार का जोर है. वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल ने देश की टॉप 5 IT कंपनियों को इसके लिए एक कोष बनाने को कहा है ताकि इन देशों में एक्सपोर्ट बढ़ाया जा सके. वाणिज्य मंत्री ने IT कंपनियों को ये सुझाव दिया है और कहा है कि आईटी कंपनियों को भाषा और ट्रेनिंग पर खर्च करना चाहिए.

उन्होंने इसके लिए 5 दिग्गज IT कंपनियों को कोष बनाने को कहा है. इन भाषाओं के देशी जानकारों की कमी के कारण आईटी कंपनियों को चीन, जापान में करोबार करने में दिक्कत होती है. TCS, Wipro, Infosys, Tech Mah, HCL Tech का चीन में कारोबार है.

चीन में आईटी कंपनियों का कारोबार
वाणिज्य मंत्री ने कॉरपस बनाने के लिए नैस्कॉम को कंपनियों से कोआर्डिनेट करने को कहा है. टैरिफ और नॉन टैरिफ दोनों मुद्दों पर आईटी कंपनियों ने दिक्कतों पर रिपोर्ट सौंपी है. चीन और जापान जैसे देशों में इस वजह से कंपनियों को करोबार करने में दिक्कत हो रही है. बैठक में इन कंपनियों के अलावा इनवेन्टो रोबोटिक्स, एनआईआईटी भी मौजूद थे. इसके अलावा सर्विसेज एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल और सीनीयर अधिकारी मौजूद थे. गौरतलब है कि भारत और चीन के वाणिज्य मंत्रियों की अहम बैठक होने वाली है. इसमें रीजनल कॉम्प्रेहैंसिव इकॉनॉमिक पार्टनरशिप एग्रीमेंट को अंतिम रूप दिया जाएगा.

ये भी पढ़ें: घर खरीदने वालों को मिलेगा सस्ता लोन, सरकार ने उठाया ये कदम

प्वाइंटर्स

>> आईटी एक्पोर्ट और कारोबार को चीन और जापान जैसे देशों में बढ़ाने पर ज़ोर
Loading...

>> सरकार ने दिया आईटी कंपनियों को भाषा और ट्रेनिंग पर खर्च करने का सुझाव
>> देश की टॉप पांच आईटी कंपनियों को इसके लिए एक कॉरपस फंड बनाने को कहा
>> आईटी कंपनियों के साथ हुई बैठक में वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल ने प्रस्ताव दिया
>> कॉरपस बनाने के लिए नैस्कॉम को कंपनियों से कोआर्डिनेट करने के कहा गया है
>> टैरिफ और नॉन टैरिफ दोनों मुद्दों पर आईटी कंपनियों ने दिक्कतों पर सौंपी रिपोर्ट
>> चीन और जापान जैसे देशों में इस वजह से कंपनियों को करोबार करने में दिक्कत
>>टीसीएस, विप्रो, इनफोसिस, टेक महिन्द्रा और एचसीएल का चीन में कारोबार है
>>बैठक में इन कंपनियों के अलावा इनवेन्टो रोबोटिक्स, एनआईआईटी भी मौजूद
>> इसके अलावा सर्विसेज एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल और सीनीयर अधिकारी मौजूद थे

(आलोक प्रियदर्शी, संवाददाता- CNBC आवाज़)

ये भी पढ़ें: RBI का ऐतिहासिक फैसला! अब समय से पहले लोन चुकाने पर पेनल्टी नहीं, आपके बचेंगे पैसे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 3, 2019, 1:33 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...